7 results found for ''platina 110''
सीटीइटी आठ दिसंबर को, 19 अगस्त से ऑनलाइन आवेदन
पटना : सीबीएसइ ने केंद्रीय अध्यापक पात्रता टेस्ट (सीटीइटी) के 13वें संस्करण का शेड्यूल जारी किया है. यह टेस्ट इसी साल आठ दिसंबर को लिया जायेगा. इसके लिए आवेदन प्रक्रिया 19 अगस्त से शुरू होगी. ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 18 सितंबर है. सीटीइटी देश के 110 शहरों में 20 भाषाओं में आयोजित किया जायेगा. इसके लिए ऑनलाइन आवेदन www.cbse.-ic.i- पर करना होगा. 23 सितंबर को शुल्क का भुगतान किया जा सकता है.
अगले वर्ष 15 अगस्त से पहले नये भवन में शिफ्ट होगा एनओयू
अमित कुमार, पटना : नालंदा खुला विश्वविद्यालय अगले वर्ष 15 अगस्त से पहले तक नालंदा स्थित अपने नये भवन में शिफ्ट हो जायेगा. भवन को लेकर टेंडर हो चुका है. 110 करोड़ रुपये की लागत से बिहार एजुकेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (बीइआइडीसी) उक्त भवन का निर्माण करेगा. इसके लिए विवि के पास पहले से 10 एकड़ की जमीन थी, लेकिन यूजीसी के अनुच्छेद 12बी से रजिस्ट्रेशन के लिए विवि को 40 एकड़ जमीन चाहिए थी.
10 जिलों में सड़क पर खर्च होंगे सवा दो अरब
पटना : पथ निर्माण विभाग ने राज्य की दस प्रमुख सड़कों के निर्माण के लिए सवा दो अरब रुपये की मंजूरी दी है. पटना की तीन सड़क योजनाओं पर 64.09 करोड़ खर्च होंगे. जिन योजनाओं की मंजूरी मिली है उन पर 110 किमी की लंबाई में सड़कों के चौड़ीकरण, मजबूतीकरण एवं विकास के अन्य कार्य होंगे.
सावन की अंतिम सोमवारी पर 500 मीटर ऊंचे पर्वत पर बुढ़वा महादेव मंदिर में उमड़ी भक्‍तों की भीड़
प्राकृतिक व धार्मिक स्‍थल 500 मीटर ऊंचे पर्वत पर स्थित बुढ़वा महादेव में सावन की अंतिम सोमवारी को अपार भीड़ उमड़ी. अंतिम सोमवारी के अवसर पर बड़कागांव, केरेडारी प्रखंड तथा आसपास के क्षेत्रों के लोगों ने रजरप्पा के भैरवी नदी से जल उठाकर 110 किलोमीटर पैदल यात्रा कर 500 मीटर ऊंचे पर्वत पर चढ़कर भगवान शंकर के शिवलिंग पर बेलपत्र के साथ जल चढ़ाया.
रांची वेंडर मार्केट : 75 दुकानों की ई-बिडिंग आज, सुप्रीम कोर्ट व हाइकोर्ट में याचिका दायर
रांची : कचहरी रोड स्थित अटल स्मृति वेंडर मार्केट के दूसरे तल्ले पर बनी 110 में 75 दुकानों को किराये पर देने के लिए नौ अगस्त को ई-बिडिंग होगी. इसमें शामिल होने के लिए रजिस्ट्रेशन की तिथि गुरुवार को समाप्त हो गयी.
रांची : सूची में दिखाये गये खाली कमरों पर निकला कब्जा
रांची : रिम्स प्रबंधन को उपलब्ध करायी गयी सूची के अनुसार हॉस्टल के 110 कमरे खाली हैं. इसी आधार पर स्टूडेंट वेलफेयर कमेटी ने हॉस्टल नंबर-4 में जब विद्यार्थियों को शिफ्ट करने की तैयारी की, तो पता चला कि इन कमरों पर जूनियर डॉक्टरों का कब्जा है.
पटना : 139 स्कूलों के पास नहीं है अपनी भूमि
पूजा स्थलों या सामुदायिक भवनों में चल रहे भूमिहीन स्कूल पटना : जिले में 139 स्कूल भूमिहीन हैं. ये वे स्कूल हैं, जो मंदिर, मस्जिद सामुदायिक भवन या पेड़ों के नीचे संचालित हैं. इनमें 118 स्कूल शहरी क्षेत्र से जुड़े हैं. अलबत्ता कुछ समय पहले तक ऐसे स्कूलों की संख्या 249 थी. करीब एक साल पहले 110 स्कूल बड़ी मशक्कत के बाद दूसरे स्कूलों में मर्ज कर दिये गये हैं.