20 results found for ''election rally''
Jharkhand Election 2019 : सिसई के जिस बूथ पर हुई थी हिंसा, पुनर्मतदान में वहां हुई 77.41 फीसदी वोटिंग
रांची : झारखंड के घोर उग्रवाद प्रभावित गुमला जिला में स्थित सिसई विधानसभा सीट के जिस बूथ पर 7 दिसंबर को हिंसा हुई थी, उस बूथ पर पुनर्मतदान में 77.41 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इस बूथ पर 890 मतदाताओं में से 689 वोटर्स ने वोट डाले. मृतक जिलानी की पत्नी और उसकी मां ने भी वोट डाला.
Jharkhand Election 2019 : सिसई के जिस बूथ पर हुई थी हिंसा, पुनर्मतदान में वहां हुई 77.41 फीसदी वोटिंग
रांची : झारखंड के घोर उग्रवाद प्रभावित गुमला जिला में स्थित सिसई विधानसभा सीट के जिस बूथ पर 7 दिसंबर को हिंसा हुई थी, उस बूथ पर पुनर्मतदान में 77.41 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इस बूथ पर 890 मतदाताओं में से 689 वोटर्स ने वोट डाले. मृतक जिलानी की पत्नी और उसकी मां ने भी वोट डाला.
Jharkhand Election 2nd phase voting LIVE: तमाड़, तोरपा, खूंटी, मांडर, बहरागोड़ा में मतदान जारी
झारखंड विधानसभा चुनाव के तहत दूसरे चरण की 20 सीटों पर पर आज मतदान हो रहा है. भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ है. इन 20 सीटों में से तमाड़, तोरपा, खूंटी, मांडर और बहरागोड़ा में मतदान तीन बजे तक होगा.
Jharkhand Election : सिसई में हिंसा को छोड़ दूसरे चरण का मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्‍न, कुल 62.40% मतदान
झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में हिंसा की एक घटना को छोड़कर सभी 20 सीटों पर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्‍न हो गया. सभी सीटों पर कुल 62.40 प्रतिशत मतदान हुआ.
Jharkhand Election : सिसई में हिंसा को छोड़ दूसरे चरण का मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्‍न, कुल 62.40% मतदान
झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में हिंसा की एक घटना को छोड़कर सभी 20 सीटों पर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्‍न हो गया. सभी सीटों पर कुल 62.40 प्रतिशत मतदान हुआ.
Jharkhand Election 2019 : जामा के रामगढ़ में झारखंड की स्टेफी टेरेसा का ‘हेमा मालिनी’ अवतार
रांची : स्टेफी टेरेसा का झारखंड के लोगों ने ‘हेमा मालिनी’ अवतार देखा. पिछले दिनों उन्होंने खेत में धनकटनी करके लोगों को ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी की याद दिला दी. संथाल परगना के जामा विधानसभा क्षेत्र में एक महिला उम्मीदवार चुनाव लड़ रही हैं. नाम है डॉ स्टेफी टेरेसा मुर्मू. आजसू के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं स्टेफी टेरेसा ने क्षेत्र के रामगढ़ गांव में महिलाओं के साथ धनकटनी की.
Jharkhand Election 2019 : जामा के रामगढ़ में झारखंड की स्टेफी टेरेसा का ‘हेमा मालिनी’ अवतार
रांची : स्टेफी टेरेसा का झारखंड के लोगों ने ‘हेमा मालिनी’ अवतार देखा. पिछले दिनों उन्होंने खेत में धनकटनी करके लोगों को ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी की याद दिला दी. संथाल परगना के जामा विधानसभा क्षेत्र में एक महिला उम्मीदवार चुनाव लड़ रही हैं. नाम है डॉ स्टेफी टेरेसा मुर्मू. आजसू के टिकट पर चुनाव लड़ रहीं स्टेफी टेरेसा ने क्षेत्र के रामगढ़ गांव में महिलाओं के साथ धनकटनी की.
Jharkhand Election 2019 : कौन हैं राम दुर्लभ सिंह मुंडा, आजसू से लड़ रहे हैं चुनाव, क्या हैं उनके मुद्दे
रांची : राम दुर्लभ सिंह मुंडा आजसू के टिकट पर पहली बार तमाड़ विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. सुदेश महतो के कार्यक्रम की वजह से दुर्लभ सिंह मुंडा अपने चुनाव कार्यालय में नहीं थे. हमारी मुलाकात उनकी पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं से हुई. आजसू के ये नेता वर्तमान विधायक विकास सिंह मुंडा से बेहद नाराज हैं. कहते हैं कि विकास सिंह मुंडा ने 5 साल में कोई काम नहीं किया. इसलिए उन्हें पार्टी बदलनी पड़ी. इस बार झामुमो से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन विकास जीतेंगे नहीं.
Jharkhand Election 2019 : कौन हैं राम दुर्लभ सिंह मुंडा, आजसू से लड़ रहे हैं चुनाव, क्या हैं उनके मुद्दे
रांची : राम दुर्लभ सिंह मुंडा आजसू के टिकट पर पहली बार तमाड़ विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. सुदेश महतो के कार्यक्रम की वजह से दुर्लभ सिंह मुंडा अपने चुनाव कार्यालय में नहीं थे. हमारी मुलाकात उनकी पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं से हुई. आजसू के ये नेता वर्तमान विधायक विकास सिंह मुंडा से बेहद नाराज हैं. कहते हैं कि विकास सिंह मुंडा ने 5 साल में कोई काम नहीं किया. इसलिए उन्हें पार्टी बदलनी पड़ी. इस बार झामुमो से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन विकास जीतेंगे नहीं.
Jharkhand Election 2019 : क्या है तमाड़ का समीकरण? क्या हैं पार्टियों के दावे और क्या कहते हैं लोग
रांची : झारखंड विधानसभा चुनाव का शोर अब अपने चरम पर है. पहले चरण का मतदान संपन्न होने के बाद दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें चरण के लिए चुनाव प्रचार परवान चढ़ने लगा है. 7 दिसंबर को दूसरे चरण में 7 जिलों की 20 सीटों पर 48 लाख से ज्यादा वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. सभी पार्टियां वोटरों को लुभाने में जुटी हैं. 5 साल विधायक रहे विकास सिंह मुंडा अपनी उपलब्धियां बता रहे हैं, तो उनके विरोधी विधायक की नाकामियां और क्षेत्र की समस्याएं गिना रहे हैं.
Jharkhand Election 2019 : क्या है तमाड़ का समीकरण? क्या हैं पार्टियों के दावे और क्या कहते हैं लोग
रांची : झारखंड विधानसभा चुनाव का शोर अब अपने चरम पर है. पहले चरण का मतदान संपन्न होने के बाद दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें चरण के लिए चुनाव प्रचार परवान चढ़ने लगा है. 7 दिसंबर को दूसरे चरण में 7 जिलों की 20 सीटों पर 48 लाख से ज्यादा वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. सभी पार्टियां वोटरों को लुभाने में जुटी हैं. 5 साल विधायक रहे विकास सिंह मुंडा अपनी उपलब्धियां बता रहे हैं, तो उनके विरोधी विधायक की नाकामियां और क्षेत्र की समस्याएं गिना रहे हैं.
Jharkhand Election 2019 : हेमंत सोरेन ने बरहेट विधानसभा से दो सेट में नामांकन दाखिल किया
रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने सोमवार को बरहेट विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया. हेमंत ने दो सेट में नामांकन दाखिल किया. उनके साथ राजमहल के सांसद विजय हांसदा और अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे. महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और झामुमो नेता हेमंत सोरेन इस बार दो सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने 29 नवंबर को दुमका से अपना नामांकन दाखिल किया था.
Jharkhand Election 2019 : हेमंत सोरेन ने बरहेट विधानसभा से दो सेट में नामांकन दाखिल किया
रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने सोमवार को बरहेट विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया. हेमंत ने दो सेट में नामांकन दाखिल किया. उनके साथ राजमहल के सांसद विजय हांसदा और अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे. महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और झामुमो नेता हेमंत सोरेन इस बार दो सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने 29 नवंबर को दुमका से अपना नामांकन दाखिल किया था.
Jharkhand Election मनिका 57.61, छतरपुर 62.3, गढ़वा 66.04, हुसैनाबाद 60.9 और भवनाथपुर में 65.52% मतदान
झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए आज प्रथम चरण का मतदान चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हो गया. लोकतंत्र के इस महाप्र्व को लेकर सुबह से ही मतदाताओं में उत्साह
Jharkhand Election 2019 : बिश्रामपुर की जनता के क्या हैं मुद्दे?
झारखंड विधानसभा चुनाव में राजनेताओं और जनता के मुद्दे अलग-अलग हैं. प्रत्याशियों के लिए बिजली, पानी और सड़क अहम मुद्दा है, तो आम जनता के लिए इससे अलग भी कई मुद्दे हैं. बात बिश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता की करें, तो उन्हें अनुच्छेद 370, राम मंदिर या राफेल से बहुत ज्यादा लेना-देना नहीं है. लोग स्वीकार करते हैं कि सड़कें बनी हैं, बिजली के खंभे गाड़े गये हैं और उन पर तार भी डाल दी गयी है. कुछ गांवों में बिजली नहीं पहुंची है. उम्मीद है कि जल्दी ही बिजली पहुंच जायेगी.
Jharkhand Election 2019 : बिश्रामपुर की जनता के क्या हैं मुद्दे?
झारखंड विधानसभा चुनाव में राजनेताओं और जनता के मुद्दे अलग-अलग हैं. प्रत्याशियों के लिए बिजली, पानी और सड़क अहम मुद्दा है, तो आम जनता के लिए इससे अलग भी कई मुद्दे हैं. बात बिश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता की करें, तो उन्हें अनुच्छेद 370, राम मंदिर या राफेल से बहुत ज्यादा लेना-देना नहीं है. लोग स्वीकार करते हैं कि सड़कें बनी हैं, बिजली के खंभे गाड़े गये हैं और उन पर तार भी डाल दी गयी है. कुछ गांवों में बिजली नहीं पहुंची है. उम्मीद है कि जल्दी ही बिजली पहुंच जायेगी.
Jharkhand Election 2019 : भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने पलामू में पेश किया रिपोर्ट कार्ड
छतरपुर : झारखंड के पलामू जिला के छतरपुर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुदेश वर्मा और प्रदेश प्रवक्ता डॉ मनोज वर्मा ने संयुक्त रूप से राज्य सरकार के कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जारी किया. छतरपुर स्थित चुनावी कार्यालय में प्रेस वार्ता कर दोनों नेताओं ने विधानसभा क्षेत्र में सरकार द्वारा शुरू की गयी विकास योजनाओं के बारे में जानकारकी दी.
Jharkhand Election 2019 : भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने पलामू में पेश किया रिपोर्ट कार्ड
छतरपुर : झारखंड के पलामू जिला के छतरपुर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुदेश वर्मा और प्रदेश प्रवक्ता डॉ मनोज वर्मा ने संयुक्त रूप से राज्य सरकार के कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जारी किया. छतरपुर स्थित चुनावी कार्यालय में प्रेस वार्ता कर दोनों नेताओं ने विधानसभा क्षेत्र में सरकार द्वारा शुरू की गयी विकास योजनाओं के बारे में जानकारकी दी.
Jharkhand Election : अब तक ऐसा रहा है पार्टियों का प्रदर्शन, चुनाव में पार्टियां बढ़ीं, प्रत्याशी घटे, देखें Video
रांची : झारखंड में अब तक तीन विधानसभा चुनाव हुए हैं. हर चुनाव में भाग लेने वाली पार्टियों की संख्या बढ़ी है, लेकिन प्रत्याशियों की संख्या में निरंतर गिरावट दर्ज की गयी है. वर्ष 2005 में पहली बार झारखंड विधानसभा के लिए चुनाव हुआ था. उस चुनाव में 6 राष्ट्रीय दलों समेत 50 पार्टियां शामिल हुईं. निर्दलीयों की भी अच्छी-खासी संख्या थी. वर्ष 2009 में पार्टियों की संख्या बढ़कर 63 हो गयी और 2014 के चुनावों में यही संख्या 65 तक पहुंच गयी. 2005 में कुल 1390 उम्मीदवार मैदान में थे, जबकि 2009 में 1491 लोग चुनाव के मैदान में उतारे गये या उतरे. इस बार प्रत्याशियों की संख्या पिछले चुनाव की तुलना में कुछ ज्यादा थी. वहीं, वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों की संख्या घटकर 1217 रह गयी.
Jharkhand Election : अब तक ऐसा रहा है पार्टियों का प्रदर्शन, चुनाव में पार्टियां बढ़ीं, प्रत्याशी घटे, देखें Video
रांची : झारखंड में अब तक तीन विधानसभा चुनाव हुए हैं. हर चुनाव में भाग लेने वाली पार्टियों की संख्या बढ़ी है, लेकिन प्रत्याशियों की संख्या में निरंतर गिरावट दर्ज की गयी है. वर्ष 2005 में पहली बार झारखंड विधानसभा के लिए चुनाव हुआ था. उस चुनाव में 6 राष्ट्रीय दलों समेत 50 पार्टियां शामिल हुईं. निर्दलीयों की भी अच्छी-खासी संख्या थी. वर्ष 2009 में पार्टियों की संख्या बढ़कर 63 हो गयी और 2014 के चुनावों में यही संख्या 65 तक पहुंच गयी. 2005 में कुल 1390 उम्मीदवार मैदान में थे, जबकि 2009 में 1491 लोग चुनाव के मैदान में उतारे गये या उतरे. इस बार प्रत्याशियों की संख्या पिछले चुनाव की तुलना में कुछ ज्यादा थी. वहीं, वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों की संख्या घटकर 1217 रह गयी.