7 results found for ''Kolkata International Film Festival''
शोभन चटर्जी व बैशाखी बनर्जी लौटे कोलकाता, एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत
भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने के बाद राज्य के पूर्व मेयर व दमकलमंत्री शोभन चटर्जी रविवार को दिल्ली से कोलकाता लौटे. रविवार शाम 7.30 बजे कोलकाता एयरपोर्ट में भाजपा समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया. एयरपोर्ट के बाहर समर्थकों की भारी भीड़ दोपहर से ही उनका काShobhan Chatterjee and Baisakhi Banerjee return to Kolkata, grand reception at airportफी देर से इंतजार कर रही थी.
Mission Mangal Film Review: Independence Day पर रिलीज Akshay Kumar की फिल्म को मिले कितने स्टार्स?
असल जिंदगी की प्रेरणादायक कहानियों को रुपहले पर्दे पर दर्शाने का चलन पिछले कुछ समय से जोरों पर है. भारत के मंगल ग्रह की कक्षा में सैटेलाइट लांच करने की कहानी को मिशन मंगल में दिखाया गया है. वो भी पहली कोशिश में ही भारतीय वैज्ञानिकों ने ये सफलता हासिल की थी. यह इस बात को और खास बना देता है. इसी स्वर्णिम गाथा को एंटरटेनमेंट की चाशनी में डुबोकर इस फिल्म में परोसा गया है, जो मनोरंजन करने के साथ-साथ गर्व का अनुभव भी कराती है. फिल्म महिला सशक्तिकरण पर भी जोर देती है. कैसे होम साइंस का इस्तेमाल साइंटिफिक कार्यों में भी महिलाएं कर चीजों को आसान बना देती हैं.
Batla House Film Review: Independence Day पर रिलीज John Abraham की फिल्म को मिले कितने स्टार्स?
यह फिल्म 19 सितंबर 2008 को बाटला हाउस में इंडियन मुजाहिदीन के आतंकियों के खिलाफ हुई मुठभेड़ पर आधारित है, जिसमें दो संदिग्ध मारे गए थे, एक पकड़ा गया था और एक भाग निकला था. कई मीडिया हाउसेस, राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों ने इस मुठभेड़ को फर्जी करार दिया था लेकिन न्यायालय ने संदिग्धों को आतंकवादी करार देते हुए उन्हें सजा सुनायी थी. फिल्म इन दोनों ही दृष्टिकोण से कहानी को कहती है. दोनों पक्षों को निर्देशक निखिल परत दर परत सामने लेकर आये हैं.
National Film Awards 2019: 'हेलारो' सर्वश्रेष्ठ फिल्म, आयुष्मान-विकी कौशल बेस्ट एक्टर
बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना और विकी कौशल ने शुक्रवार को क्रमश: फिल्म ''अंधाधुन'' और ''उरी'' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार साझा किया, वहीं गुजराती फिल्म ''हेलारो'' को सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित किया गया. गुजरात के कच्छ क्षेत्र पर बनी ''हेलारो'' का निर्देशन अभिषेक शाह ने किया था और यह महिला सशक्तिकरण की पृष्ठभूमि पर बनी है.
Film Review: फिल्‍म देखने से पहले जानें कैसी है 'जबरिया जोड़ी'
बिहार के सामाजिक कुप्रथा पकड़वा विवाह को फ़िल्म जबरिया जोड़ी कॉमेडी, सामाजिक संदेश और मसाला एंटरटेनर के ज़रिए एक अलग ही अंदाज़ में बयां करने की कोशिश होती है लेकिन समझ ही नहीं आता कि फ़िल्म प्रेमकहानी है ,सोशल ड्रामा या फिर मसाला एंटरटेनर है या फिर कह सकते हैं कि इतने सारे मसालों का प्रयोग हुआ है कि कहानी पूरी तरह से बेस्वाद हो गयी है.
देशीय भाषाओं के अंतरराष्ट्रीय वर्ष में खास है इस बार का विश्व आदिवासी दिवस, जानें...
हर साल 9 अगस्त का दिन ''विश्व के देशीय लोगों के अंतरराष्ट्रीय दिवस'' (International Day of the World’s Indigenous People) के रूप में मनाया जाता है. आम बोलचाल की भाषा में इसे ''विश्व आदिवासी दिवस'' के रूप में जाना जाता है.
Film Review: फिल्‍म देखने से पहले जानें कैसी है 'खानदानी शफाखाना'
सेक्स या यौन संबंधी विषयों को भारतीय समाज में आज भी प्रतिबंधित माना जाता है. इस पर बातचीत भी बंद कमरे में ही हो. यही सभी को सही लगता है. खानदानी शफाखाना समाज के इसी सोच पर चोट करती है. फ़िल्म अपने विषय की वजह से हिम्मतवाला प्रयोग करार दी जा सकती है खासकर महिला किरदार का सेक्स क्लीनिक चलाने जाना लेकिन परदे पर जो भी कहानी और स्क्रीनप्ले के नाम पर सामने आया है उसे देखने के लिए भी हिम्मत की ही ज़रूरत है.