28 results found for ''Jharkhand''
Jharkhand Election 2019 : कौन हैं राम दुर्लभ सिंह मुंडा, आजसू से लड़ रहे हैं चुनाव, क्या हैं उनके मुद्दे
रांची : राम दुर्लभ सिंह मुंडा आजसू के टिकट पर पहली बार तमाड़ विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. सुदेश महतो के कार्यक्रम की वजह से दुर्लभ सिंह मुंडा अपने चुनाव कार्यालय में नहीं थे. हमारी मुलाकात उनकी पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं से हुई. आजसू के ये नेता वर्तमान विधायक विकास सिंह मुंडा से बेहद नाराज हैं. कहते हैं कि विकास सिंह मुंडा ने 5 साल में कोई काम नहीं किया. इसलिए उन्हें पार्टी बदलनी पड़ी. इस बार झामुमो से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन विकास जीतेंगे नहीं.
Jharkhand Election 2019 : कौन हैं राम दुर्लभ सिंह मुंडा, आजसू से लड़ रहे हैं चुनाव, क्या हैं उनके मुद्दे
रांची : राम दुर्लभ सिंह मुंडा आजसू के टिकट पर पहली बार तमाड़ विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. सुदेश महतो के कार्यक्रम की वजह से दुर्लभ सिंह मुंडा अपने चुनाव कार्यालय में नहीं थे. हमारी मुलाकात उनकी पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं से हुई. आजसू के ये नेता वर्तमान विधायक विकास सिंह मुंडा से बेहद नाराज हैं. कहते हैं कि विकास सिंह मुंडा ने 5 साल में कोई काम नहीं किया. इसलिए उन्हें पार्टी बदलनी पड़ी. इस बार झामुमो से चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन विकास जीतेंगे नहीं.
Jharkhand : विधानसभा चुनाव की ड्यूटी पर तैनात हजारीबाग के होमगार्ड की सिमडेगा में मौत
रांची : विधानसभा चुनाव की ड्यूटी में तैनात हजारीबाग के होमगार्ड जवान को दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया. जवान की पहचान कमल प्रसाद मेहता के रूप में हुई है. वह मूल रूप से हजारीबाग जिला के पदमा थाना क्षेत्र के ग्राम चौकी के रहने वाले थे.
Jharkhand : विधानसभा चुनाव की ड्यूटी पर तैनात हजारीबाग के होमगार्ड की सिमडेगा में मौत
रांची : विधानसभा चुनाव की ड्यूटी में तैनात हजारीबाग के होमगार्ड जवान को दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया. जवान की पहचान कमल प्रसाद मेहता के रूप में हुई है. वह मूल रूप से हजारीबाग जिला के पदमा थाना क्षेत्र के ग्राम चौकी के रहने वाले थे.
Jharkhand Election 2019 : क्या है तमाड़ का समीकरण? क्या हैं पार्टियों के दावे और क्या कहते हैं लोग
रांची : झारखंड विधानसभा चुनाव का शोर अब अपने चरम पर है. पहले चरण का मतदान संपन्न होने के बाद दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें चरण के लिए चुनाव प्रचार परवान चढ़ने लगा है. 7 दिसंबर को दूसरे चरण में 7 जिलों की 20 सीटों पर 48 लाख से ज्यादा वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. सभी पार्टियां वोटरों को लुभाने में जुटी हैं. 5 साल विधायक रहे विकास सिंह मुंडा अपनी उपलब्धियां बता रहे हैं, तो उनके विरोधी विधायक की नाकामियां और क्षेत्र की समस्याएं गिना रहे हैं.
Jharkhand Election 2019 : क्या है तमाड़ का समीकरण? क्या हैं पार्टियों के दावे और क्या कहते हैं लोग
रांची : झारखंड विधानसभा चुनाव का शोर अब अपने चरम पर है. पहले चरण का मतदान संपन्न होने के बाद दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें चरण के लिए चुनाव प्रचार परवान चढ़ने लगा है. 7 दिसंबर को दूसरे चरण में 7 जिलों की 20 सीटों पर 48 लाख से ज्यादा वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. सभी पार्टियां वोटरों को लुभाने में जुटी हैं. 5 साल विधायक रहे विकास सिंह मुंडा अपनी उपलब्धियां बता रहे हैं, तो उनके विरोधी विधायक की नाकामियां और क्षेत्र की समस्याएं गिना रहे हैं.
Jharkhand Election 2019 : हेमंत सोरेन ने बरहेट विधानसभा से दो सेट में नामांकन दाखिल किया
रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने सोमवार को बरहेट विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया. हेमंत ने दो सेट में नामांकन दाखिल किया. उनके साथ राजमहल के सांसद विजय हांसदा और अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे. महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और झामुमो नेता हेमंत सोरेन इस बार दो सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने 29 नवंबर को दुमका से अपना नामांकन दाखिल किया था.
Jharkhand Election 2019 : हेमंत सोरेन ने बरहेट विधानसभा से दो सेट में नामांकन दाखिल किया
रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने सोमवार को बरहेट विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया. हेमंत ने दो सेट में नामांकन दाखिल किया. उनके साथ राजमहल के सांसद विजय हांसदा और अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद थे. महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और झामुमो नेता हेमंत सोरेन इस बार दो सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने 29 नवंबर को दुमका से अपना नामांकन दाखिल किया था.
Jharkhand Election मनिका 57.61, छतरपुर 62.3, गढ़वा 66.04, हुसैनाबाद 60.9 और भवनाथपुर में 65.52% मतदान
झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए आज प्रथम चरण का मतदान चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हो गया. लोकतंत्र के इस महाप्र्व को लेकर सुबह से ही मतदाताओं में उत्साह
Jharkhand Election 2019 : बिश्रामपुर की जनता के क्या हैं मुद्दे?
झारखंड विधानसभा चुनाव में राजनेताओं और जनता के मुद्दे अलग-अलग हैं. प्रत्याशियों के लिए बिजली, पानी और सड़क अहम मुद्दा है, तो आम जनता के लिए इससे अलग भी कई मुद्दे हैं. बात बिश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता की करें, तो उन्हें अनुच्छेद 370, राम मंदिर या राफेल से बहुत ज्यादा लेना-देना नहीं है. लोग स्वीकार करते हैं कि सड़कें बनी हैं, बिजली के खंभे गाड़े गये हैं और उन पर तार भी डाल दी गयी है. कुछ गांवों में बिजली नहीं पहुंची है. उम्मीद है कि जल्दी ही बिजली पहुंच जायेगी.
Jharkhand Election 2019 : बिश्रामपुर की जनता के क्या हैं मुद्दे?
झारखंड विधानसभा चुनाव में राजनेताओं और जनता के मुद्दे अलग-अलग हैं. प्रत्याशियों के लिए बिजली, पानी और सड़क अहम मुद्दा है, तो आम जनता के लिए इससे अलग भी कई मुद्दे हैं. बात बिश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता की करें, तो उन्हें अनुच्छेद 370, राम मंदिर या राफेल से बहुत ज्यादा लेना-देना नहीं है. लोग स्वीकार करते हैं कि सड़कें बनी हैं, बिजली के खंभे गाड़े गये हैं और उन पर तार भी डाल दी गयी है. कुछ गांवों में बिजली नहीं पहुंची है. उम्मीद है कि जल्दी ही बिजली पहुंच जायेगी.
Jharkhand: पलामू का एक ऐसा गांव जहां कोई भी 50 साल से ज्यादा नहीं जी पाता, जानिए क्यों
झारखंड में राजनीतिक सरगर्मी तेज है. झारखंड विधानसभा चुनाव के अंतर्गत पहले चरण के लिए 30 नवंबर को मतदान होना है. तमाम राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने चुनावी दावों और वादों के साथ जनता को लुभाने की कोशिशों में लगी है. इसी बीच जमीन से जुड़ी ऐसी खबर सामने आयी है जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगी. आईए जानते हैं कि मामला क्या है?
Jharkhand: कांग्रेस से नाराजगी नहीं है, 'राष्ट्रवाद' की भावना से प्रभावित होकर भारतीय जनता पार्टी में आया: सुखदेव भगत
बॉक्साइट नगरी के नाम से मशहूर लोहरदगा विधानसभा सीट में पहले चरण के तहत 30 नवंबर को मतदान होना है. भारतीय जनता पार्टी ने मौजूदा विधायक और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष रहे सुखदेव भगत को इस सीट से अपना प्रत्याशी बनाया है. प्रभात खबर की टीम ने लोहरदगा की अपनी चुनावी यात्रा के दौरान बीजेपी प्रत्याशी सुखदेव भगत से बातचीत की. पेश है उनसे बातचीत के प्रमुख अंश...
#Jharkhand : शहीद की बेटी का सवाल- नक्सली बतायें, मेरे पिता का क्या था कसूर
लातेहार जिला के चंदवा में नक्सली हमले में शहीद हुए दारोगा सुकरा उरांव का पार्थिव शरीर शनिवार को उनके पैतृक गांव घाघरा प्रखंड के चुमनू गांव लाया गया. तिरंगे में लिपटा शहीद का पार्थिव शरीर घर के सामने जैसे ही रखा गया, उनके अंतिम दर्शन के लिए लोग उमड़ पड़े. पूरा गांव जय हिंद, भारत माता की जय, शहीद सुकरा उरांव जिंदाबाद के बोल से गूंज उठा. हर व्यक्ति की आंखें नम थी.
Jharkhand Polls 2019 : गढ़वा में चुनाव से पहले तापमान चरम पर, 24 नवंबर को नेताओं की 'बाढ़'
झारखंड विधानसभा के चुनाव से एक सप्ताह पहले ही गढ़वा का राजनीतिक तापमान चरम पर है. पहले चरण में गढ़वा जिले की दो सीटों पर 30 नवंबर को वोटिंग है और इसके लिए रविवार (24 नवंबर) को राज्य के तीन-तीन मुख्यमंत्री यहां आ रहे हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन भी गढ़वा जिला में अपने-अपने प्रत्याशियों के लिए जनसमर्थन जुटायेंगे.
Jharkhand Polls 2019 : गढ़वा में चुनाव से पहले तापमान चरम पर, 24 नवंबर को नेताओं की 'बाढ़'
झारखंड विधानसभा के चुनाव से एक सप्ताह पहले ही गढ़वा का राजनीतिक तापमान चरम पर है. पहले चरण में गढ़वा जिले की दो सीटों पर 30 नवंबर को वोटिंग है और इसके लिए रविवार (24 नवंबर) को राज्य के तीन-तीन मुख्यमंत्री यहां आ रहे हैं. मुख्यमंत्री रघुवर दास के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन भी गढ़वा जिला में अपने-अपने प्रत्याशियों के लिए जनसमर्थन जुटायेंगे.
Jharkhand Election 2019 : भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने पलामू में पेश किया रिपोर्ट कार्ड
छतरपुर : झारखंड के पलामू जिला के छतरपुर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुदेश वर्मा और प्रदेश प्रवक्ता डॉ मनोज वर्मा ने संयुक्त रूप से राज्य सरकार के कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जारी किया. छतरपुर स्थित चुनावी कार्यालय में प्रेस वार्ता कर दोनों नेताओं ने विधानसभा क्षेत्र में सरकार द्वारा शुरू की गयी विकास योजनाओं के बारे में जानकारकी दी.
Jharkhand Election 2019 : भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने पलामू में पेश किया रिपोर्ट कार्ड
छतरपुर : झारखंड के पलामू जिला के छतरपुर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुदेश वर्मा और प्रदेश प्रवक्ता डॉ मनोज वर्मा ने संयुक्त रूप से राज्य सरकार के कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जारी किया. छतरपुर स्थित चुनावी कार्यालय में प्रेस वार्ता कर दोनों नेताओं ने विधानसभा क्षेत्र में सरकार द्वारा शुरू की गयी विकास योजनाओं के बारे में जानकारकी दी.
Jharkhand : मिलावटी मिठाई खा रहे हैं कोयलांचल के लोग, बड़े होटलों के 39 में 35 नमूने जांच में फेल
धनबाद : कोयलांचल के बड़े नामचीन होटलों में मिठाई, खोआ एवं पनीर मानक के अनुरूप नहीं बिक रहे हैं. यहां 39 में से 35 नमूने जांच में फेल हो गया है. मधुलिका, कावेरी, गोविंद स्वीट्स की मिठाइयां गड़बड़इस वर्ष जुलाई से अक्तूबर के बीच धनबाद जिला के कई होटलों में छापामारी कर 39 नमूना जब्त किया गया. एसडीएम राज महेश्वरम एवं जिला खाद्य सुरक्षा पदाधिकारी अदिति सिंह के नेतृत्व में जब्त नमूनों की जांच नामकुम स्थित फूड स्टेट लैब से करायी गयी.
Jharkhand Election : अब तक ऐसा रहा है पार्टियों का प्रदर्शन, चुनाव में पार्टियां बढ़ीं, प्रत्याशी घटे, देखें Video
रांची : झारखंड में अब तक तीन विधानसभा चुनाव हुए हैं. हर चुनाव में भाग लेने वाली पार्टियों की संख्या बढ़ी है, लेकिन प्रत्याशियों की संख्या में निरंतर गिरावट दर्ज की गयी है. वर्ष 2005 में पहली बार झारखंड विधानसभा के लिए चुनाव हुआ था. उस चुनाव में 6 राष्ट्रीय दलों समेत 50 पार्टियां शामिल हुईं. निर्दलीयों की भी अच्छी-खासी संख्या थी. वर्ष 2009 में पार्टियों की संख्या बढ़कर 63 हो गयी और 2014 के चुनावों में यही संख्या 65 तक पहुंच गयी. 2005 में कुल 1390 उम्मीदवार मैदान में थे, जबकि 2009 में 1491 लोग चुनाव के मैदान में उतारे गये या उतरे. इस बार प्रत्याशियों की संख्या पिछले चुनाव की तुलना में कुछ ज्यादा थी. वहीं, वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों की संख्या घटकर 1217 रह गयी.