5 results found for ''Chennai Super Kings''
Super 30: रितिक ने आनंद कुमार के पैर छूकर लिया आशीर्वाद, बोले - मैं खुशकिस्मत हूं कि...
पटना : अभिनेता रितिक रोशन मंगलवार को पटना में थे. होटल मौर्या में वह ''सुपर 30'' के संस्थापक आनंद कुमार को सम्मानित करने आए थे. उन्होंने आनंद के पैर छूकर आशीर्वाद भी लिया. उन्‍होंने कहा कि वह बहुत खुशकिस्मत हैं कि उन्हें गणितज्ञ आनंद कुमार से मिलने और उन्हें जानने का अवसर मिला. रितिक ने गणितज्ञ आनंद कुमार के जीवन पर आधारित "सुपर 30" फिल्म में उनके किरदार को निभाया है.
Super 30: ऋतिक रोशन की फिल्म देखकर रो पड़े शेखर कपूर, किया ऐसा ट्वीट...
बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रोशन की फिल्म ''सुपर 30'' बॉक्स ऑफिस पर बढ़िया कमाई कर रही है. इसे जनता के साथ-साथ क्रिटिक्स और सेलेब्स से भी अच्छा रिस्पॉन्स भी मिल रहा है. दिन पर दिन ''सुपर 30'' की कमाई में भी बढ़ोतरी हो रही है. जल्द ही यह फिल्म 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो जाएगी.
Film Review: फिल्‍म देखने से पहले जानें कैसी है रितिक रोशन की 'Super 30'
अब राजा का बेटा राजा नहीं बनेगा, राजा वो बनेगा जो हकदार होगा. ''सुपर 30'' फ़िल्म की टैगलाइन में ही इस फ़िल्म का पूरा सारांश है. शिक्षा पर सभी का समान अधिकार हो फिर चाहे वह बड़े बाप का बेटा हो या फिर गरीब का. फ़िल्म से जुड़ा यही संदेश इस फ़िल्म को खास बना देता है. यह कहानी है बिहार के चर्चित आनंद कुमार की जो आईआईटी का सपना देखने वाले गरीब तबके के होनहार बच्चों के सपनों को पूरा करने में उनकी मदद कर रहे हैं.फ़िल्म की कहानी की शुरुआत फ्लैशबैक में आनंद कुमार (रितिक रोशन) के संघर्ष से शुरू होती थी.
Super 30 के आनंद कुमार को ब्रेन ट्यूमर, बचे हैं बस इतने साल...
मैथ्स जीनियस आनंद कुमार ने यह बात हाल ही में एक इंटरव्यू में बतायी है. उन्होंने यह भी कहा कि इतनी कम उम्र में बायोपिक के लिए ''हां'' करने की भी यही वजह थी. इंटरव्यू में दिल की बात कहते हुए आनंद ने बताया कि वह चाहते थे कि फिल्म उनके जीते जी बने और वह इस सफर को खुद देख सकें. इंटरव्यू में भावुक होकर आनंद कुमार ने बताया कि कैसे वह जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं.
Super 30 के आनंद कुमार को ब्रेन ट्यूमर, बचे हैं बस इतने साल...
मैथ्स जीनियस आनंद कुमार ने यह बात हाल ही में एक इंटरव्यू में बतायी है. उन्होंने यह भी कहा कि इतनी कम उम्र में बायोपिक के लिए ''हां'' करने की भी यही वजह थी. इंटरव्यू में दिल की बात कहते हुए आनंद ने बताया कि वह चाहते थे कि फिल्म उनके जीते जी बने और वह इस सफर को खुद देख सकें. इंटरव्यू में भावुक होकर आनंद कुमार ने बताया कि कैसे वह जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं.