50 results found for ''हिंदू देवता''
लोहरदगा विस क्षेत्र : 16 प्रत्याशी मैदान में
लोहरदगा विधानसभा क्षेत्र में कुल 16 प्रत्याशियों ने नामांकन परचा भरा हैं. अंतिम दिन 11 प्रत्याशियों ने नामांकन परचा भरा. प्रत्याशियों में श्रवण कुमार पन्ना (बसपा), पिता-कामेश्वर लोहरा, ग्राम-ईटा, पोस्ट-सिठियो, थाना व जिला-लोहरदगा, सुखदेव भगत (भाजपा), पिता-स्व गंधर्व भगत, ग्राम-नदिया हिंदू प्लस टू उवि के निकट, थाना व जिला लोहरदगा, सधनु भगत (भारतीय ट्राइबल पार्टी), पिता-झरी भगत, ग्राम-हेसल, पोस्ट-कुर्से, थाना व जिला लोहरदगा, रमेश उरां
अयोध्या में पूरी ज़मीन हिंदू पक्ष को देने पर लिब्रहान आयोग के वकील ने उठाए सवाल
लिब्रहान आयोग के साथ काम करने वाले वकील अनुपम गुप्ता को लगता है कि कोर्ट के फ़ैसले में विरोधाभास हैं.
अयोध्या: विहिप की मांग, सोमनाथ पर आधारित हो राम मंदिर ट्रस्ट, योगी-शाह को भी करें शामिल
अयोध्या में रामजन्मभूमि स्थल पर मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट का गठन करने के उच्चतम न्यायालय के आदेश के पालन की दिशा में केंद्र सरकार ने कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. इसी बीच विश्व हिंदू परिषद ने कहा है कि गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस ट्रस्ट में शामिल किया जाना चाहिए.
ब्रिटेनः हिंदू वोटरों को क्यों मनाना पड़ रहा है लेबर पार्टी को?
दिसम्बर में होने वाले मध्यावधि चुनावों से पहले ब्रितानी हिंदू समुदाय में लेबर पार्टी को लेकर है आक्रोश.
सोन नदी में हजारों श्रद्धालुओं ने किया स्नान
डेहरी नगर : हिंदू धर्म में प्रत्येक वर्ष 12 पूर्णिमा होती है, जो प्रतिमाह आती है. कार्तिक मास में आने वाली पूर्णिमा कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरी पूर्णिमा अथवा गंगा स्नान की पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. कहते हैं इस दिन भगवान विष्णु ने अपना पहला अवतार लिया था और वह मत्स्य यानी मछली के रूप में प्रकट हुए थे. इस दिन स्नान और दान का बड़ा ही महत्व है. इस दिन गंगा या सोन नदी में स्नान करने से सभी जन्मों का पापों से मुक्ति मिलती है.
जिले में कार्तिक पूर्णिमा पर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने महानंदा व डोक में लगायी आस्था की डुबकी
बेलवा : कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर मंगलवार की सुबह जिला मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों के नदी घाटों पर स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी. ओद्राघाट, बस्ताकोला घाट समेत अन्य घाटों पर करीब लाखों श्रद्धालुओं ने महानंदा, डोक नदी में पवित्र स्नान कर भगवान सूर्य की पूजा करने के बाद विष्णु-भगवान समेत अन्य देवी-देवताओं की भी पूजा अर्चना कर सुखमय जीवन की कामना की तथा ब्राह्मणों तथा गरीब-दुखियों के बीच दान-पुण्य किया. यह कार्य अहले सुबह से देर शाम तक चलता रहा.
देव दीपावली: 21000 दीपों से जगमग हो उठा पूर्णिया का सौरा नदी तट
पूर्णिया : पूर्णिया सिटी में सौरा नदी तट दीपों की असंख्य श्रृंखला से जगमगा उठा. जगमग दीपों की लंबी कतार और उनसे निकल रही रोशनी से ने ऐसा विहंगम दृश्य दिखा मानो स्वर्ग में बैठे देवता सौरा तट के अनुपम सौंदर्य को देख नीचे उतर आये और इंसानों के साथ मिलकर देव दीपावली मनायी.
अयोध्या: केंद्र के बनाए ट्रस्ट में क्या होगी वीएचपी की भूमिका?- ग्राउंड रिपोर्ट
सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से राम मंदिर का रास्ता साफ़ हो गया है लेकिन क्या अयोध्या के हिंदू पुजारियों का खेमा संतुष्ट है?
अयोध्या: फ़ैसले के बाद वीएचपी की भूमिका पर सवाल- ग्राउंड रिपोर्ट
सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से राम मंदिर का रास्ता साफ़ हो गया है लेकिन क्या अयोध्या के हिंदू पुजारियों का खेमा संतुष्ट है?
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : शिबू संग पैतृक गांव नेमरा पहुंचे हेमंत ने कहा, भाजपा अबकी बार झारखंड पार
गोला : जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सोमवार को अपने पैतृक गांव नेमरा पहुंचे. इस दौरान सोहराय पर्व में शामिल होकर पारंपरिक रूप से कुल देवता की पूजा-अर्चना की.
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : शिबू संग पैतृक गांव नेमरा पहुंचे हेमंत ने कहा, भाजपा अबकी बार झारखंड पार
गोला : जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सोमवार को अपने पैतृक गांव नेमरा पहुंचे. इस दौरान सोहराय पर्व में शामिल होकर पारंपरिक रूप से कुल देवता की पूजा-अर्चना की.
हिमाचलः देवता के नाम पर 70 साल की महिला के मुंह पर कालिख पोती, पिटाई
पुलिस ने मामूली धाराओं में दर्ज की एफ़आईआर, 21 लोगों को किया गिरफ़्तार.
अयोध्‍या फैसला : NSA अजीत डोभाल ने की हिंदू-मुस्लिम धर्मगुरुओं के साथ बैठक
उच्चतम न्यायालय की ओर से अयोध्या में राम मंदिर बनाने का रास्ता साफ करने संबंधी फैसले के बाद देश में शांति बनाए रखने एवं किसी भी भड़काऊ एवं शरारती गतिविधि को रोकने के लिए सुरक्षा बलों को अलर्ट पर रखा गया है.
AYODHYAVERDICT: भारतीय मूल के अमेरिकियों ने कहा- ये हिंदू-मुस्लिम दोनों की जीत
वॉशिंगटन : भारतीय अमेरिकी समुदाय ने अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि विवादित भूमि के दशकों पुराने मामले पर आए फैसले में हिंदू-मुस्लिम दोनों की जीत है. गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या में विवादित स्थल राम जन्मभूमि पर मंदिर के निर्माण का मार्ग शनिवार को प्रशस्त करते हुए केन्द्र सरकार को निर्देश दिया कि ‘सुन्नी वक्फ बोर्ड'' को मस्जिद के निर्माण के लिये पांच एकड़ भूमि आबंटित की जाये.
चार साल में बन जायेगा भव्य राम मंदिर, जानें प्रस्तावित राम मंदिर का कैसा है आकार
नई दिल्‍ली : सुप्रीम कोर्ट के फैसले के साथ ही राम मंदिर के निर्माण की तैयारियों पर चर्चा शुरू हो गयी है. विहिप का दावा है कि वह छह महीने में राम मंदिर का ढांचा खड़ा कर देगा. वहीं, विश्व हिंदू परिषद के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार की मानें तो अभी यह कहना मुश्किल होगा कि मंदिर का निर्माण कितने दिन में पूरा हो जायेगा.
#AyodhyaVerdict: मुस्लिम लेखकों ने भी माना था कि वहां था मंदिर
नई दिल्‍ली : अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना कर 400 साल से चले आ रहे विवाद को खत्म कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने एएसआइ की रिपोर्ट को आधार मानते हुए विवादित भूमि पर राम मंदिर के निर्माण की इजाजत दे दी. 40 दिनों तक चली सुनवाई के दौरान कोर्ट में उन तमाम पुस्तकों का उल्लेख किया गया, जिसमें राम मंदिर होने का जिक्र है. इन लेखकों में हिंदू, मुस्लिम और अंग्रेज, तीनों शामिल हैं.
अयोध्या मामले के 12 मुख्य पात्र
दिगंबर अखाड़े के महंत और श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष रहे. विश्व हिंदू परिषद के आंदोलन में बड़ी भूमिका निभायी. विवादित स्थल का ताला नहीं खुलने पर आत्मदाह की धमकी दी. 31 जुलाई 2003 को निधन.
अयोध्या फैसले के बाद में मुसलमानों और हिंदुओं ने एक-दूसरे को मिठाई खिलायी
अयोध्‍या विवाद में उच्चतम न्यायालय के निर्णय को प्रमुख पक्षकारों के साथ-साथ पूरे उत्तर प्रदेश ने बेहद सहज भाव से स्वीकार किया और फैसले के बाद हालात बिल्कुल सामान्य रहे.
अयोध्या मामले में हिंदू पक्ष को जीत दिलाने वाले के. परासरन
सुप्रीम कोर्ट ने रामलला विराजमान को 2.77 एकड़ ज़मीन देने का फ़ैसला किया है जिनकी ओर से के. परासरन ने पैरवी की थी.
IN PICS : अयोध्या पर फैसले के बाद झारखंड में सभी धर्मावलंबियों ने दिखायी एकजुटता, पुलिस ने किया फ्लैग मार्च
रांची : करीब 135 साल पुराने अयोध्या विवाद पर फैसले का झारखंड की राजधानी रांची समेत सभी जगहों पर लोगों ने दिल खोलकर स्वागत किया. हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल पेश करते हुए लोगों ने तस्वीरें खिंचवायी. दूसरी तरफ, पुलिस और प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद रहा. रांची समेत राज्य के कोने-कोने में फ्लैग मार्च कर लोगों को संदेश दिया कि सब कुछ ठीक-ठाक है. किसी को डरने की जरूरत नहीं है.