128 results found for ''हड़ताल''
बिहार के थोक एवं खुदरा दवा दुकानदारों ने अपनी हड़ताल वापस ली
पटना : बिहार के थोक एवं खुदरा दवा दुकानदारों ने अपनी हड़ताल खत्म कर दी और ये लोग बुधवार को अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गये थे. बिहार केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स एसोसिएशन द्वारा गुरुवार को जारी एक बयान के अनुसार हड़ताल के वापस लेने का निर्णय एसोसिएशन के एक प्रतिनिधिमंडल की राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से मुलाकात के बाद बुधवार देर रात लिया गया.
पटना : 15 घंटे के बाद समाप्त हुई दवा दुकानदारों की हड़ताल
पटना : खुदरा व थोक दवा दुकानदारों की राज्यव्यापी तीन दिवसीय हड़ताल 15 घंटे बाद बुधवार की रात समाप्त हो गयी. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय व विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार से वार्ता के बाद बिहार केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन (बीसीडीए) ने रात 9:30 बजे हड़ताल खत्म करने की घोषणा की. इससे पहले राज्य के दवा दुकानदारों ने बुधवार की सुबह से ही सभी थोक व खुदरा दवा दुकानों में तालाबंदी कर दी थी.
दवा दुकानदारों की हड़ताल का दिखा असर, जेनरिक दुकानों पर रही भीड़
औरंगाबाद कार्यालय : विभागीय उत्पीड़न के साथ-साथ अन्य मांगों को लेकर औरंगाबाद डिस्ट्रिक्ट केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन का तीन दिवसीय बंद का पहले दिन जर्बजस्त असर रहा. जिलेभर के दवा दुकानदार हड़ताल पर रहे और दुकानें बंद रही. लेकिन, देर रात एसोसिएशन की हड़ताल समाप्त हो गयी. पूर्व की अपेक्षा अस्पतालों में भी रोगियों की संख्या कम ही दिखी,लेकिन बंद से सदर अस्पताल सहित जिले भर के प्रखंड मुख्यालयों के पीएचसी पर कोई खासा असर नहीं दिखा.
दिन भर बंद रहीं दवा दुकानें, मरीज हलकान
सासाराम सदर : बिहार केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स एसोसिएशन के आह्वान पर बुधवार से थोक व खुदरा दवा दुकानदारों ने विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल की. इस दौरान पूरे जिले में दवा की दुकानें बंद रहीं.
मांगों के समर्थन में दवा दुकानदार रहे हड़ताल पर, दर-दर भटकते रहे मरीज
अररिया : बुधवार से तीन दिनों तक के लिए सभी दवा दुकानें बंद कर दी गयी हैं. दवा दुकानदारों की हड़ताल से मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. बताया जाता है कि सात सूत्री मांगों को लेकर दवा व्यवसायी संघ ने बुधवार से लेकर शुक्रवार तक हड़ताल पर रहते हुए दवा की दुकानें बंद रखने का ऐलान किया है. इस बंदी में जिले की थोक विक्रेताओं से लेकर खुदरा दवा दुकानें बंद रखने की घोषणा की है.
फारबिसगंज शहरी ग्रामीण क्षेत्रों में बंद रहीं खुदरा-थोक दवा दुकानें
फारबिसगंज : बिहार केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर खुदरा व थोक दवा व्यवासायियों की तीन दिवसीय हड़ताल के प्रथम दिन बुधवार को फारबिसगंज अनुमंडल के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में दवा हड़ताल का व्यापक असर देखा गया. वहीं रेफरल अस्पताल रोड व हॉस्पिटल रोड में इलाज के लिए आने वाले रोगी व उनके परिजन दवाओं के लिए परेशान व भटकते दिखे.
जिले में दवा दुकानदारों की हड़ताल शुरू
जमुई : बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसियेशन के निर्देशानुसार बुधवार को सभी दवा दुकानदारों ने अपने-अपने दुकान को बंद रखा. इस दौरान आपातकालीन सेवा के तहत कुछ दुकान से लोगों को दवा दिया गया है.
दवा दुकानदारों ने बंद रखीं दुकानें, करोड़ों का नुकसान
कटिहार : डिस्ट्रिक्ट केमिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर जिले के चार दवा दुकानों को छोड़कर तमाम दवा दुकानदार मांगों को लेकर तीन दिवसीय हड़ताल पर बुधवार को चले गये. तीन दिनों तक चलने वाले इस हड़ताल में पहले ही दिन जिले के लगभग 2000 मेडिकल दुकान बंद रहने से इसका व्यापक असर पड़ा.
भड़के केमिस्ट,बंद रहीं दवा की दुकानें
मधेपुरा : राज्य भर के खुदरा व थोक दवा दुकानों की फार्मासिस्ट की उपलब्धता व तकनीकी गलती के नाम पर विभागीय उत्पीड़न व शोषण के विरोध में बुधवार से जिले की सभी दवा दुकानें बंद रही यह हड़ताल 24 जनवरी तक चलेगी. दुकानें बंद रहने से आमलोगों के साथ ही मरीजों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ा. हालांकि तीन दिनों की बंदी के दौरान जिले के लोगों को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए शहर की चार दवा दुकानें व प्रखंड में भी आकस्मिक सेवा के लिए कुछ दवा दुकान खुली रही.
दवा दुकानदारों की हड़ताल शुरू, जिले के 900 दवा दुकानों में लटके ताले, मरीज हुए परेशान
मुंगेर : बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर बुधवार से दवा के थौक व खुदरा दुकानदार तीन दिनों के लिए हड़ताल पर चले गये है. हड़ताल के कारण जिले के लगभग 900 दवा दुकानों में ताला लटक गया है. हालांकि एसोसिएशन ने इमरजेंसी में सदर अस्पताल के सामने वाली दवा दुकान एवं मेडिसिन हाउस बेकापुर को बंदी से मुक्त रखा.
मांगों के समर्थन में तीन दिनों की हड़ताल पर गये जिले के साढ़े तीन हजार दवा दुकानदार
पूर्णिया : बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के बैनर तले पूर्णिया जिले के साढ़े तीन हजार दवा दुकानदार अपनी मांगों के समर्थन में तीन दिनों की हड़ताल पर चले गये. इसमें सिर्फ शहर के 18 सौ दवा दुकानदार शामिल हैं. इस दौरान तमाम दवा दुकानें बंद रखी गयी और दुकानदार धरना पर बैठ गये. दुकानदारों ने सरकार की नीतियों पर सवाल खड़ा किया और कहा कि यदि उनकी मांगों की अनदेखी की गयी तो उनका आंदोलन व्यापक रुप ले सकता है.
इमरजेंसी के लिए शहर में तीन दवा दुकानें खुली रहेंगी
पूर्णिया : पूर्णिया जिला केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने मानवता के दृष्टिकोण से इस हड़ताल के दौरान शहर में तीन दवा दुकानों को खुला रखने की छूट दी है. एसोसिएशन के अध्यक्ष संतोष सिंह एवं सचिव लालमोहन सिंह ने कहा कि यह व्यवस्था इसलिए की गयी है ताकि दवा के अभाव में किसी की मौत न हो.
परेशानी: बहुत ढूंढ़ा पर नहीं मिली दवा, तो निराश हो बैरंग घर लौट गये रोगियों के परिजन
पूर्णिया : बुधवार से शुरू हुई दवा विक्रेताओं की हड़ताल का खामियाजा कई रोगियों को भुगतना पड़ा. डाक्टर का पुर्जा लेकर मरीजों के परिजन घंटों भटकते रहे पर उन्हें दवा उपलब्ध नहीं हो सकी. हालांकि इमरजेंसी दवा के लिए शहर में अलग-अलग तीन दुकानें खुली रहीं पर इसके बावजूद कई लोगों को डाक्टर के पुर्जे के हिसाब से दवा नहीं मिल सकी. जरुरत की दवा नहीं मिलने के कारण लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी.
दवा दुकानदारों की हड़ताल से मरीज परेशान
आरा : बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर तीन दिवसीय बंद के पहले दिन भोजपुर जिले में बंद का असर रहा. सभी दवा की दुकानें बंद रहीं, लेकिन संगठन के द्वारा मरीजों के हित को देखते हुए एक दुकान खोलने का निर्णय लिया गया. शहर के सदर अस्पताल के सामने स्थित न्यू जैन मेडिकल हॉल खुला था, जिससे लोगों को कम परेशानी हुई, लेकिन पूरे जिले में मरीज परेशान दिखे.
दवा दुकानदारों ने निकाला मोटरसाइकिल जुलूस
बिहार केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर दवा दुकानदारों ने की हड़ताल फार्मासिस्ट की समस्या का निदान किये बगैर कार्रवाई को लेकर किया विरोध सदर अस्पताल के स्वास्थ्य प्रबंधक का दावा, नहीं होगी मरीजों को परेशानी बेगूसराय : बिहार केमिस्टस एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर छह सूत्री मांगों के समर्थन में दवा दुकानदारों ने बुधवार से तीन दिवसीय हड़ताल की शुरुआत कर दी है.
दवा दुकानदार गये हड़ताल पर, मरीज परेशान
बिहारशरीफ : जिले के दवा दुकानदार बुधवार से तीन दिवसीय हड़ताल पर चले गये. सात सूत्री मांगों को लेकर नालंदा जिला औषधि विक्रेता संघ ने बिहार केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स एसोसिएशन के आह्वान पर हड़ताल शुरू कर दी है. जिले के थोक एवं खुदरा दवा विक्रेता इस हड़ताल में शामिल हैं.
दुकानों में ताला बंद कर दुकानदार सड़क पर उतरे, िकया उग्र प्रदर्शन
गोपालगंज : थोक एवं फुटकर दवा कारोबारियों की देशव्यापी हड़ताल से बुधवार को मरीज और उनके अभिभावक परेशान दिखे. हड़ताल के पहले दिन दवा के लिए लोग इधर-उधर भटकते रहे. केंद्र सरकार और दवा कारोबारियों के बीच विवाद का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ा. सदर अस्पताल व नर्सिंग होम में मरीजों की भीड़ रही.
आज खुली रहेंगी जिले की 22 दवा दुकानें
गोपालगंज : ड्रग एसोसिएशन की तीन दिवसीय हड़ताल के दौरान गुरुवार को जिले के 22 दवा दुकान खुला रहेगा. इसकी जानकारी सहायक औषधि नियंत्रक राजेश कुमार गुप्ता ने दी. उन्होंने बताया कि ड्रग एसोसिएशन की हड़ताल के दौरान आम लोगों को परेशानी न हो साथ ही उन्हें आसानी से जीवन रक्षक दवाएं मिल सके इसको लेकर 22 दवा दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठान खुले रखने का निर्णय लिया है.
हड़ताल के समर्थन में दवा दुकानदारों ने शहर में निकाला मार्च, जताया विरोध
हाजीपुर : खुदरा दुकानों पर फार्मासिस्टों की उपलब्धता एवं मामूली तकनीकी गड़बड़ियों पर दवा दुकानदारों के विरुद्ध बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर बुधवार को थोक व खुदरा दुकानदार तीन दिनों की हड़ताल पर चले गये. वैशाली केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के बैनर जिले के सभी दवा दुकानदारों ने सात सूत्री मांगों के समर्थन में दुकानें बंद रखी.
बंद रहीं दुकानें, भटकते रहे मरीज
जहानाबाद नगर : जिला केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट एसोसिएशन द्वारा थोक एवं खुदरा दवा दुकानों को फार्मासिस्ट की उपलब्धता एवं तकनीकी गलती के नाम पर विभागीय उत्पीड़न एवं शोषण के विरोध में बुधवार से तीन दिवसीय बंदी शुरू हो गयी. हड़ताल के पहले दिन जिले की सभी दवा दुकानें बंद रहीं. इसके कारण दवा के लिए मरीज भटकते दिखे. हालांकि सदर अस्पताल परिसर में संचालित जेनेरिक दवा दुकान खुली रही, जहां दवा खरीदने के लिए भीड़ लगी रही.