21 results found for ''सत्ता''
सही-गलत खबरों को परखने का टूल होना जरूरी
सत्ता जब लोकतांत्रिक संस्थाओं को कमजोर कर देती है, तो उसका असर मीडिया पर भी पड़ता है. इस कमजोरी का शिकार हमारे पारंपरिक मीडिया संस्थान भी हुए, जिनके विकल्प का खड़ा होना जरूरी था. हालांकि, इस विकल्प के रूप में न्यू मीडिया आ चुका था, जिसने तमाम तरह के इंटरनेट माध्यम से जुड़ी व्यवस्थाओं के जरिये लोगों को सही सूचनाएं पहुंचाने की कोशिश की.
PM मोदी स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से लगातार छठी बार देंगे भाषण
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुरुवार को लगातार छठी बार स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देंगे और प्रचंड जनादेश के बाद सत्ता में वापसी के बाद उनका लाल किले से यह पहला भाषण होगा. उम्मीद की जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर पर किये गए ऐतिहासिक निर्णय से लेकर अर्थव्यवस्था की स्थिति तक वह विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे.
धारा-370 हटाये जाने से 'लाल-पीले' हुए ओवैसी, कहा- भाजपा को सत्ता से प्यार, चाहती है गैर मुस्लिम सीएम
नयी दिल्ली : जम्मू-कश्‍मीर से धारा-370 हटाने को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) प्रमुख तथा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भाजपा पर हमला किया है. उन्होंने बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संवैधानिक प्रक्रिया का पालन करना चाहिए.
राहुल का 20 महीने का सफर, नहीं मिला सत्ता का शिखर
नयी दिल्ली : परिवार की सफल और समृद्ध विरासत, बड़ा संगठन, सिपहसालारों की फौज और जी-तोड़ मेहनत भी बतौर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को राजनीति के उस मुकाम तक नहीं पहुंचा सकी, जहां उनसे पहले गांधी-नेहरू परिवार के कई लोग न सिर्फ पहुंचे, बल्कि लंबे समय तक बने रहे. कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर उनके करीब 20 महीने के सफर में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनावी जीत के तौर पर बड़ी सफलताएं मिली, लेकिन इस साल के लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार उनकी नाकामी की बड़ी इबारत लिख गया और इसी के साथ पार्टी के मुखिया के तौर पर उनकी पारी का पटाक्षेप भी हो गया.
राहुल का 20 महीने का सफर, नहीं मिला सत्ता का शिखर
नयी दिल्ली : परिवार की सफल और समृद्ध विरासत, बड़ा संगठन, सिपहसालारों की फौज और जी-तोड़ मेहनत भी बतौर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को राजनीति के उस मुकाम तक नहीं पहुंचा सकी, जहां उनसे पहले गांधी-नेहरू परिवार के कई लोग न सिर्फ पहुंचे, बल्कि लंबे समय तक बने रहे. कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर उनके करीब 20 महीने के सफर में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनावी जीत के तौर पर बड़ी सफलताएं मिली, लेकिन इस साल के लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार उनकी नाकामी की बड़ी इबारत लिख गया और इसी के साथ पार्टी के मुखिया के तौर पर उनकी पारी का पटाक्षेप भी हो गया.
किसी राजनीतिक दल के अस्तित्व में आने का मूल आधार विचारधारा : मोदी
पटना : डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि किसी भी राजनीतिक दल के अस्तित्व में आने का मूल आधार विचारधारा होती है. उसके लिए समर्पित कार्यकर्ता अपने परिश्रम से दल को आगे बढ़ाने में सहायक होते हैं और जब दल सत्ता में आकर अपनी कल्याणकारी, सर्व समावेशी और देशभक्ति की भावना से संचालित नीतियां लागू करते हैं, तब दल का जनाधार बढ़ता है.
सुशील मोदी का ट्वीट, लालू परिवार पर निशाना
पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि किसी भी राजनीतिक दल के अस्तित्व में आने का मूल आधार विचारधारा होती है. उसके लिए समर्पित कार्यकर्ता अपने परिश्रम से दल को आगे बढ़ाने में सहायक होते हैं और जब दल सत्ता में आ कर अपनी कल्याणकारी, सर्व समावेशी और देशभक्ति की भावना से संचालित नीतियां लागू करते हैं, तब दल का जनाधार बढ़ता है. भाजपा का पौधा विकास के इसी नियम से बढ़ कर विशाल वृक्ष बना है. उन्होंने कहा कि जिस दल की विचारधारा देश-समाज को तोड़ने वाली होगी और जो सत्ता मिलने पर भ्रष्टाचार, अपराध के राजनीतिकरण और बेनामी संपत्ति बनाने में लिप्त हो जायेंगे, उनके सदस्यता अभियान चलाने से कोई लाभ नहीं होगा.
मुखिया के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए माले का धरना
आरा : प्रखंड मुख्यालय पर भाकपा माले खेग्रामस ने मुखिया अरुण सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना दिया. क्यामुद्दीन अंसारी ने कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आयी है, हत्या, बलात्कार, मॉब लीचिंग और अपराधी ताकतों को खुली छूट मिली हुई है. कई जगह हमले हो रहे हैं और हत्याएं हो रही हैं.
जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास के लिए सभी दलों को काम करना चाहिए : सुशील मोदी
पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जेपी आंदोलन से लेकर बिहार में एनडीए की सरकार बनने तक सुषमा स्वराज का प्रदेश के सार्वजनिक जीवन से गहरा लगाव बना रहा. 2010 में जब एनडीए विधानसभा चुनाव में दो तिहाई से भी अधिक बहुमत के साथ सत्ता में लौटा था, तब उन्होंने गांधी मैदान में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में आकर हम सबका उत्साह बढ़ाया था. देश उन्हें ऐसे विदेश मंत्री के रूप में याद रखेगा, जिसने विदेश यात्रा को सरल बनाने में तो योगदान किया ही, उनके रहते भारत का पासपोर्ट विदेशी धरती पर हर भारतीय के लिए सुरक्छा का बीमा बन गया था. उनका निधन संसदीय राजनीति की ऐसी उज्जवल तारिका का अाकस्मिक अवसान है, जिसकी चमक हमेशा याद रहेगी.
पटना : 5 अगस्त को मनाया जायेगा कश्मीर मुक्ति दिवस : सुशील मोदी
पटना : डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के 100 दिन के अंदर ही तीन तलाक और कश्मीर के मुद्दे पर देश की जनता से किया गया वादा पूरा किया.
5 अगस्त कश्मीर मुक्ति दिवस के रूप मनाया जायेगा : सुशील मोदी
पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जम्मू-कश्मीर को भारतीय संविधान की धारा-370 के शिकंजे से आजादी दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित भाई शाह के साहसिक कदम का कोटि-कोटि अभिनंदन! प्रधानमंत्री ने सत्ता में आने के 100 दिन के भीतर तीन तलाक और कश्मीर के मुद्दे पर देश की जनता से किया गया वादा पूरा किया. हम भाग्यशाली हैं कि हमारे सामने डा.श्यामा प्रसाद मुखर्जी का सपना पूरा हो रहा है.
कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के लिए पाकिस्तानी संसद का संयुक्त सत्र स्थगित
जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किये जाने के बाद मंगलवार को भारत के खिलाफ एक प्रस्ताव की भाषा को लेकर सत्ता और विपक्ष के बीच मतभेद के बाद पाकिस्तान संसद की संयुक्त बैठक स्थगित कर दी गयी.
#Article370 : सत्ता के नशे में लिया गया फैसला : जीतन राम मांझी
पटना : हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने अनुच्छेद 370 व 35ए पर मोदी सरकार के फैसले पर प्रहार किया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला सत्ता के नशे में लिया गया है. मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनुरोध किया है कि अपनी अंतरात्मा को जगाते हुए वे इस तानाशाह सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करें. आज देश को आपकी जरूरत है. देश के आंतरिक सुरक्षा व संविधान को तोड़ने की कोशिश की जा रही है.
विरोधी गुट ने 17 पार्षदों को किया नजरबंद
नगर परिषद के अध्यक्ष पद के लिए मंगलवार को चुनाव होना है. इसके लिए सभी प्रशासनिक तैयारी पूरी कर ली गयी है. समाहरणालय के सभा कक्ष में नप के 29 पार्षद अध्यक्ष का चुनाव करेंगे. विरोधी गुट ने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है. अध्यक्ष पद के लिए विरोधी गुट की ओर से पार्षद विनोद कुमार गुप्ता और सत्ता पक्ष से पूर्व अध्यक्ष तारकेश्वर नाथ गुप्ता प्रबल दावेदार के रूप में सामने आने की चर्चा हैं.
उफनती धार में नाव से स्कूल जाने को विवश हैं सैकड़ों बच्चे
शासन बदला, सत्ता बदली और समय के साथ अधिकारी भी बदलते गये, लेकिन नहीं बदली तो चार दशक बाद भी भरथी गांव की तस्वीर. युवाओं के चेहरे पर बुढ़ापे की दस्तक व बच्चों ने युवावस्था में कदम रख दिया है.
जम्मू-कश्मीर : धारा 370 व 35ए पर मोदी सरकार के फैसले पर बोले मांझी, सत्ता के नशे में लिया गया निर्णय
पटना : हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 व 35ए पर मोदी सरकार के फैसले पर प्रहार किया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला सत्ता के नशे में लिया गया है. मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनुरोध किया है कि अपनी अंतरात्मा को जगाते हुए वे इस तानाशाह सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करें. आज देश को आपकी जरूरत है. देश के आंतरिक सुरक्षा व संविधान को तोड़ने की कोशिश की जा रही है.
रांची : महासभा चुनाव में सभी सीटों पर उम्मीदवार देगी
रांची : अखिल भारत हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राजश्री चौधरी ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में महासभा 81 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा करेगी. प्रत्याशियों की घोषणा एक माह बाद बासुकीनाथ धाम में रुद्राभिषेक कर की जायेगी. उन्हाेंने कहा कि भाजपा या धर्मनिरपेक्ष दल केवल सत्ता सुख के लिए सरकार बनाते हैं. सुश्री राजश्री रविवार को प्रेस क्लब में महासभा की कार्यसमिति की बैठक में बोल रही थीं. उन्होंने कहा कि अब भाजपा हिंदू की बात नहीं करती है, बल्कि हिंदुइज्म की बात करती है.
पटना : प्रदेश में खुलेंगे 11 नये मेडिकल कॉलेज, 3660 करोड़ होंगे खर्च
आइसीसी कॉन 2019 में जुटे 100 से अधिक हृदय रोग विशेषज्ञ, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा पटना : इंडियन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी के दो दिवसीय कॉन्फ्रेंस के उदघाटन सत्र को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि देश ने जितने इंजीनियर पैदा किये, उस तुलना में डॉक्टर नहीं बन पाये. यही कारण है कि देश में डॉक्टरों की कमी है. 2005 में जब उनकी सरकार पहली बार प्रदेश में सत्ता में आयी, यहां मात्र छह मेडिकल कॉलेज थे.
समरेश उतरेंगे चुनावी मैदान में या सौंपेंगे राजनीतिक विरासत
बोकारो : समरेश सिंह. बोकारो जिला का एक ऐसा नाम जो राजनीति की समानांतर रेखा खींचे जाने के लिए जाने जाते हैं. चाहे सत्ता में रहे या विपक्ष में, हर राजनीतिक कोण से वह अपने अंदाज के लिए जाने जाते हैं.
गढ़वा : देश में कानून नहीं, गुंडाराज का साम्राज्य : बाबूलाल
गढ़वा : भाजपा के शासनकाल में पूरे देश में कानून का नहीं, गुंडाराज का साम्राज्य स्थापित है. सत्ता में बैठी सरकार सरकारी संसाधनों को कमजोर कर रही है और लोग न्याय के लिए भटक रहे हैं.