10 results found for ''शुद्ध''
पौधरोपण से ही शुद्ध रहेगा पर्यावरण
खगड़िया : प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर पौधारोपण, स्वच्छता ही सेवा एवं राष्ट्रीय पोषण मिशन के अंतर्गत पोषण दक्ष (पोषण बागवानी)के रूप में विकसित करने से जुड़े कार्यक्रम की शुरुआत की गयी. कृषि विज्ञान केंद्र में आयोजित कार्यक्रम का उप विकास आयुक्त सहित अन्य अधिकारियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया. इस अवसर पर पदाधिकारियों ने केंद्र परिसर में पौधारोपण भी किया.
होटल के काउंटर पर शुद्ध जल के बोतल में था तेजाब, पी गया युवक, हालत गंभीर
कोतवाली थाना क्षेत्र के स्टेशन चौक मस्जिद गली स्थित होटल संस्कार प्रबंधन की लापरवाही से एक युवक ने शुद्ध पानी की बोतल में रखा तेजाब पी लिया. वह अपने पिता का इलाज कराने यहां आया था और होटल में कमरा लेकर ठहरा हुआ था. ईशीपुर थाना क्षेत्र के बाराहाट पीरपैंती निवासी राज कुमार बिहारी का 26 वर्षीय पुत्र रणधीर कुमार उर्फ पप्पू जब तक कुछ समझ पाता उसकी हालत बिगड़ गयी.
हिंदी के प्रचार में सुंदरी
हिंदी का सीजन हिंदी दिवस से शुरू हो गया है. फिर दो अक्तूबर से गांधी का सीजन शुरू हो जायेगा. होशियार हिंदी से भी कमाते हैं और गांधी से भी. गांधी बहुतों के काम आते हैं नेताओं के भी और सुंदरियों के भी. एक हिंदी सेवी ने हिंदी दिवस पर चिंता व्यक्त की- अब शुद्ध हिंदी खत्म हो रही हैं. मैंने कहा दीपिका पादुकोण या कैटरीना के लेवल की सुंदरी शुद्ध हिंदी की ब्रांड एंबेसडर बन जाए, तो शुद्ध हिंदी जम जायेगी.
किसी की बात पर ध्यान नहीं देना और धैर्य रखना सीखा है : वाणी कपूर
मुंबई : फिल्म उद्योग में अपने छह साल के कॅरियर में वाणी कपूर ने लोगों के साथ सही व्यवहार बनाये रखने के साथ काफी सबक सीखे हैं. अभिनेत्री ने 2013 की फिल्म ‘शुद्ध देसी रोमांस'' से अपने कॅरियर की शुरुआत की थी. इसके बाद वह तेलुगू फिल्म ‘आहा कल्याणम'' में नजर आई थीं जो हिंदी फिल्म ‘बैंड बाजा बारात'' का रीमेक थी. वह बाद में रणबीर सिंह के साथ ‘बेफिक्रे'' में भी दिखी थीं. अब उनकी अगली फिल्म ‘वॉर'' रिलीज होने वाली है.
भगवान के लिए 160 रुपये व खाने को "460 किलो घी खरीद रहे लोग
नवादा : शुद्ध घी के नाम पर इंसान ही नहीं भगवान को भी धोखा देने में माफिया पीछे नहीं हट रहे हैं. एक तरफ भगवान पर चढ़ाने के लिए शुद्ध घी 160 रुपये किलो बेचा जा रहा है, तो दूसरी तरफ खानेवाला शुद्ध घी 460 रुपये बेचा जा रहा है. यह घी किसी ब्रांड का नहीं होता है, बल्कि खुला निर्माण ताजा शुद्ध घी के नाम से बेचा जा रहा है.
मुख्यमंत्री रघुवर दास बोले : छह दशक तक देश पर राज करने वाली कांग्रेस ने किसानों को कर्जदार बना दिया
रांची/खिजरी : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास बुधवार को कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि छह दशक तक देश पर राज करने वाली कांग्रेस ने किसानों को कर्जदार बना दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और झारखंड नामधारी पार्टियां नहीं चाहतीं कि गरीबों के घर तक विकास पहुंचे. उन्हें डर है कि गरीबों के घर तक बिजली, शुद्ध पेयजल पहुंच गया, वे जागरूक हो गये, तो उन्हें दिशोम गुरु कौन कहेगा.
आयरन युक्त पानी पीने को विवश भातगांव पंचायत
विवेक, गलगलिया : मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत ठाकुरगंज प्रखंड क्षेत्र में हर घर नल जल योजना का लाभ अब तक धरातल पर नहीं उतर सका है. फलस्वरूप लोगों को शुद्ध पेय जल मिलना सपना जैसा लगने लगा है.
रांची : पानी के लिए लोगों को परेशानी नहीं हो इसके लिए सजग रहे विभाग : राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू
राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने की पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की समीक्षा रांची : राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की सचिव अराधना पटनायक से कहा है कि राज्य के सभी नागरिकों को शुद्ध पेयजल मिले, इसके लिए पूरा विभाग समर्पण की भावना से कार्य करे. जल के लिए लोगों को परेशानी न हो, इसके प्रति सजग रहने की आवश्यकता है. राज्यपाल बुधवार को राजभवन में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग की समीक्षा कर रही थीं.
तरक्की की दौड़ में मंद पड़ती जा रही ग्रामीण संस्कृति
अररिया : समय के साथ चतुर्दिक विकास की नयी इबारत लिखी जा रही है. बिजली की रोशनी से जगमग गांव, सड़कों का जाल, अधारभूत संरचनाओं का निर्माण, लोगो को शुद्ध पेयजल, पढ़ने की ललक पैदा करने की हर कोशिश की जा रही है. कल तक भूत बंगला बना था जो अस्पताल, आज वहां मरीजों का भरमार रहता है.
दो वर्ष बीत गये, अधूरी पड़ी हैं 29 योजनाएं
रामगढ़ : सूबे में ग्रामीणों को हर घर नल का शुद्ध जल पिलाने को लेकर राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही सात निश्चय योजना के अंतर्गत धरातल पर लगने वाली नल-जल योजना से संबंधित कामकाज कछुए की चाल से रेंग रहा है. प्रखंड क्षेत्र के आठ पंचायतों में 29 वार्डों में वित्तीय वर्ष 2017-18 में शुरू किये गये नल-जल योजना के कार्य धरातल पर आज भी अधूरे पड़े हुए है. छह माह में पूरे किये जाने वाली इस योजना को दो वर्ष बीतने के बाद भी काम पूरे नहीं होने पर जिलाधिकारी काफी गंभीर हैं.