31 results found for ''वापसी''
रांची : समीर मोहंती की झामुमो में वापसी बहरागोड़ा से हो सकते हैं उम्मीदवार
रांची : समीर मोहंती ने भाजपा छोड़ कर झामुमो का दामन थाम लिया है. गुरुवार नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन व विधायक चंपई सोरेन ने राजधानी रांची में शिबू सोरेन के अावास पर पार्टी की सदस्यता दिलायी.
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : पहले चरण की 13 विधानसभा सीटों के लिए नामांकन की प्रक्रिया आरंभ
रांची : झारखंड विधानसभा की 13 सीटों के लिए बुधवार से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 13 नवंबर है. नामांकन पत्रों की जांच 14 नवंबर को होगी. नामांकन पत्र वापसी की तिथि 16 नवंबर रखी गयी है. वहीं 30 नवंबर मतदान होगा.
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : पहले चरण की 13 विधानसभा सीटों के लिए नामांकन की प्रक्रिया आरंभ
रांची : झारखंड विधानसभा की 13 सीटों के लिए बुधवार से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 13 नवंबर है. नामांकन पत्रों की जांच 14 नवंबर को होगी. नामांकन पत्र वापसी की तिथि 16 नवंबर रखी गयी है. वहीं 30 नवंबर मतदान होगा.
पैक्स चुनाव के िलए नामांकन 26 से
बखरी (नगर) : प्रारंभिक कृषि साख सहयोग समिति लिमिटेड के लिए होनेवाले चुनाव को लेकर सरगर्मी बढ़ गयी है. बखरी प्रखंड के कुल सात पंचायतों में पैक्स अध्यक्ष व 11 प्रबंधकारिणी समिति का चुनाव होना है. जानकारी देते हुए बीडीओ सह निर्वाची पदाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने बताया कि राटन, बागवन, चकहमीद, घाघरा, बखरी पूर्वी, सकरपूरा, सलौना पंचायतों में पैक्स चुनाव के लिए सूचना का प्रकाशन आगामी 11 नवंबर को किया जायेगा. वहीं 26 से 28 नवंबर तक नामजदगी का पर्चा भरा जायेगा. स्क्रूटनी 29 एवं 30 नवंबर को होगा. जबकि दो दिसंबर को नाम वापसी एवं चुनाव चिह्न आवंटित किये जाने की तिथि निर्धारित है. चुनाव एवं मतगणना नौ दिसंबर को होगा.
प्रेम की वापसी
कितने दिन हुए जब आपने कोई मधुर धुन वाला नया प्रेमगीत सुना हो. कोई प्रेम कविता, कोई कहानी, कोई ऐसा उपन्यास, जिसमें प्रेम की कोमलतम अनुभूतियां हों. हमारे समाज में जितनी हिंसा बढ़ी है या मामूली बातों पर जान ली-दी जा रही है. ऐसे में यदि किसी बात की सर्वाधिक जरूरत है, तो वह प्रेम ही है.
जहरीली हवा के बीच दिल्ली में आज से ऑड-ईवन नियम लागू, महिलाओं को मिलेगी छूट
राजधानी दिल्ली में मौसम की मार लगातार जारी है. जहरीली हवा का कहर दिल्ली वालों पर बढ़ता जा रहा है. इस बीच आज एक बार फिर राजधानी में ऑड ईवन की वापसी हो रही है.
छठ बाद वापसी के लिए हवाई किराया 15 हजार के पार पहुंचा, जानें प्रमुख शहरों से पटना आने जाने का किराया
पटना : छठ में पटना आने जाने का किराया आसमान छूने लगा है. खरना का दिन होने के कारण शुक्रवार को दिल्ली और कोलकाता से पटना आने का किराया सामान्य से तीन गुना, चेन्नई और हैदराबाद का ढाई गुना और मुंबई व बेंगलुरु का दोगुना हो गया है. वापसी का किराया चार नवंबर को सर्वाधिक है. दिल्ली के लिए यह सामान्य से 3.5 गुना और बेंगलुरु के लिए चार गुना तक बढ़ गया है. गोइबिबो डॉट कॉम पर गुरुवार की शाम सात बजे दिल्ली का हवाई टिकट नौ हजार, मुंबई का 10 हजार और बेंगलुरु का 15 हजार से अधिक में मिल रहा था .
मुर्तजा की भविष्‍यवाणी, शाकिब करेगा 2023 में बांग्लादेश की अगुआई
एकदिवसीय कप्तान मशरफे मुर्तजा ने बुधवार को कहा कि उनके साथी शाकिब अल हसन पर आईसीसी का प्रतिबंध लगने के कारण उन्हें भी नींद नहीं आएगी, लेकिन विश्वास जताया कि यह स्टार ऑलराउंडर सफल वापसी करके विश्व कप 2023 में बांग्लादेश की अगुआई करेगा.
शाकिब की वापसी आसान नहीं : हबीबुल बशर
बांग्लादेश के पूर्व कप्तान और राष्ट्रीय चयनकर्ता हबीबुल बशर स्तब्ध हैं कि शाकिब अल हसन जैसे ‘परिपक्व'' व्यक्ति ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद को भ्रष्ट संपर्क की शिकायत नहीं की.
शोभन-बैशाखी के भाजपा छोड़ने से नहीं पड़ेगा कोई फर्क : दिलीप घोष
तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए कोलकाता के पूर्व मेयर व पूर्व मंत्री शोभन चटर्जी व उनकी महिला मित्र बैशाखी बनर्जी के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के घर जाकर भाई फोटा लेने से प्रदेश भाजपा हैरानी में है और पूरे मामले की लीपा-पोती में लग गया है, हालांकि विगत कुछ दिनों से शोभन चटर्जी के साथ भाजपा की बढ़ती दूरियां के बाद केवल समय का ही इंतजार था कि कब शोभन चटर्जी की तृणमूल कांग्रेस में वापसी होगी.
वैशाखी के साथ ममता बनर्जी के घर पहुंचे शोभन, लिया भाई फोटा
भाई फोटा लेने के लिए ममता बनर्जी के प्रिय कानन उर्फ शोभन चटर्जी अपने महिला मित्र वैशाखी बनर्जी को संग लेकर ममता बनर्जी के घर कालीघाट पहुंचे. इसके साथ ही उनकी घर वापसी की चर्चा तेज हो गयी है. लोगों की चर्चाओं को इसलिए बल मिल रहा है, क्योंकि शनिवार को ही वैशाखी बनर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के घर गयी थी.