966 results found for ''रांची''
रांची : संयुक्त बैठक चार को
रांची : झारखंड वन अधिकार मंच के बैनर तले चार नवंबर को नागरिक संगठनों की संयुक्त बैठक होगी. बैठक में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जल, जंगल, जमीन को मुद्दा बनाने पर विचार होगा. बैठक प्रेस क्लब में 10.30 बजे से होगी. यह जानकारी मंच के सुधीर कुमार पाल ने दी.
रांची :पांच चरण पर जतायी आपत्ति
रांची : वामदलों ने चुनाव आयोग द्वारा राज्य में पांच चरणों में चुनाव कराने की घोषणा पर आपत्ति जतायी है. भाकपा के कार्यालय सचिव अजय सिंह ने कहा कि वामदलों ने विधानसभा चुनाव दो चरणों मेें कराने की मांग निर्वाचन आयोग से की थी. नक्सलियों के खात्मे के दावों पर भी सवाल खड़े होते हैं. आयोग ने नक्सलियों के प्रभाव का हवाला देकर पांच अलग-अलग चरणों में झारखंड चुनाव कराने की घोषणा की है.
रांची : राजद कमर कस चुका है
रांची : राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के प्रदेश अध्यक्ष अभय सिंह ने कहा कि चुनाव के लिए राजद कमर कस चुका है. नीचे से लेकर ऊपर तक के तमाम कार्यकर्ता तैयार हैं. गठबंधन भी अंदर-अंदर हो चुका है. केवल सार्वजनिक करना बाकी है. राजद को गठबंधन में जितनी सीटें मिलेंगी, उतनी सीटों पर राजद जीत दर्ज करेगा. तैयारी हो चुकी है.
रांची : गुमला एसडीओ समेत आठ अफसरों का हुआ तबादला
रांची : सरकार ने गुमला एसडीओ सहित राज्य प्रशासनिक सेवा के आठ अफसरों का तबादला किया है. कार्मिक प्रशासनिक विभाग ने 31 अक्तूबर की तिथि से इसकी अधिसूचना जारी की है.
रांची : राजधानी में निषेधाज्ञा लागू हथियार लेकर चलना मना
रांची : झारखण्ड विधानसभा-2019 की घोषणा के साथ ही अनुमंडल दंडाधिकारी लोकेश मिश्रा ने राजधानी में धारा 144 लागू करते हुए निषेधाज्ञा आदेश जारी कर दिया है़ यह आदेश एक नवंबर से प्रभावी हो गया़
अनगड़ा : स्कूल बस पोल से टकरायी, चालक गंभीर
अनगड़ा : रांची-मुरी मार्ग पर जिंतुपिढ़ी रेलवे ओवरब्रिज के पास शुक्रवार को आरटीसी स्कूल अनगड़ा की बस (जेएच01सीए-5847) रेलवे हाइट लेबल खंभे से जा टकरायी. घटना में बस चालक बिलास गोप (44) को गंभीर चोट आयी है. वहीं खलासी संतोष महतो भी चोटिल है.
रांची : अफीम की खेती करनेवाले 32 लोग चिह्नित
रांची : हजारीबाग के चौपारण और बरही में बड़े पैमाने पर अफीम की खेती के साथ ही अफीम व डोडा की तस्करी की योजना तैयार की गयी है. इसकी सूचना मिलने के बाद स्पेशल ब्रांच के अधिकारी लगातार नजर रखे हुए हैं.
सीएनजी : कहीं इंतजार, तो कहीं मीलों दूर करना पड़ रहा है सफर
शहर में सिर्फ दो सीएनजी स्टेशन होने के कारण चालकों की बढ़ी परेशानी रांची : शहर में सीएनजी सेवा शुरू होने के बाद खास कर ऑटो चालक काफी खुश थे. कई चालकों ने ऑटो एक्सचेंज कर सीएनजी किट वाला ऑटो भी ले लिया था. लेकिन अब वे परेशान नजर आ रहे हैं. कारण है सीएनजी के लिए घंटाें इंतजार करना. कभी-कभी तो मीलों दूर जाने के बाद भी सीएनजी नहीं मिलने से उनकी परेशान दोगुनी हो गयी है. एेसे में सीएनजी लेनेवाले चालक अब परेशान हैं.
रांची : पीएनजी के कारण सिलिंडर की समस्या से मिली मुक्ति
रांची : शहर में पाइप नेचुरल गैस (पीएनजी) शुरू होने से लोग काफी खुश हैं. पहले यह सुविधा बड़े शहरों तक सीमित थी, लेकिन अब रांची के रसोई घरों में गैस पाइप लाइन के जरिये पहुंच गयी हैं. मेकन कॉलोनी के कई घरों में लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. जबकि कई लोग सिलिंडर खत्म की समस्या के बाद धीरे-धीरे सिलिंडर छोड़ कर पीएनजी की सेवा शुरू कर रहे हैं. इसे देखते हुए पीएनजी के उपयोग के दौरान किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर कंट्रोल रूम बनाया गया है. ग्राहक 0651-2411055 पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं.
रांची : गैस सिलिंडर लेते समय लीक की जांच जरूर करायें
रांची : इंडेन कंपनी ने रसोई गैस के सुरक्षित इस्तेमाल के लिए रांची समेत पूरे राज्य में प्री डिलिवरी चेकअप कैंपेन की शुरुआत की है. अभियान के दौरान कंपनी के अधिकारी व गैस एजेंसी के डिलिवरी ब्वॉय उपभोक्ताओं उपभोक्ताओं को बतायेंगे कि जब भी वेंडर से गैस लें, वजन करके ही लें. साथ ही सिलिंडर की सील की जांच अवश्य करें. सील टूटी होने पर नहीं लें. लीक होने पर दूसरा सिलिंडर लें. यह आपके हित में है. गांवों में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से भी ग्राहकों को जागरूक किया जायेगा.
रांची : छठ घाटों पर हो सफाई की व्यवस्था : कांग्रेस
रांची : राजधानी रांची के छठ घाटों की समुचित सफाई एवं छठव्रतियों की सुविधाओं को लेकर कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने रांची नगर निगम के आयुक्त मनोज कुमार से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपा. प्रतिनिधिमंडल ने आयुक्त से मांग की कि राजधानी के सभी छठ घाटों की सफाई की मुकम्मल व्यवस्था की जाये. जतराटांड़, कोकर, बड़ा तालाब, छप्पन सेट, डोरंडा, घाघरा, नामकुम, स्वर्णरेखा नदी, बटन तालाब डोरंडा, विधानगर, हरमू, कडरू, हटिया, हिनू, कैलाश नगर, किशोरगंज, मधुकम, रातू रोड में जलाशयों की स्थिति अभी भी छठव्रतियों के अनुकूल नहीं है. इसे ठीक करने की आवश्यकता है.
रांची : पर्यावरण स्वीकृति नहीं मिली तो करेंगे चुनाव का बहिष्कार
रांची : रांची जिला ईंट निर्माता संघ की वार्षिक सभा शुक्रवार को अभय नारायण तिवारी की अध्यक्षता में अरसंडे स्थित बैंक्वेट हॉल में हुई. सचिव रामदास साहू ने बताया कि चार वर्षों में संघ का प्रतिनिधिमंडल कई बार सरकार के विभिन्न पदाधिकारियों और मुख्यमंत्री से पर्यावरण स्वीकृति के लिए मिला, लेकिन सफलता नहीं मिली. इससे संघ के पदाधिकारी परेशान हैं.
रांची : जानकारी के अभाव में कैश डिपॉजिट मशीन से लोग नहीं कर रहे हैं निकासी
रांची : राजधानी में एटीएम ई-लॉबी का उद्देश्य पूरा नहीं हो पा रहा है. एटीएम में लगी कैश डिपॉजिट मशीन (सीडीएम) से लोगों को पैसे निकालने की भी सुविधा दी गयी है. इसके बावजूद लोग महज डिपॉजिट के लिए ही इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. तकनीकी कर्मचारियों की मानें, तो ज्यादा डिपॉजिट होने से कैश ट्रे भर जा रही है.
रांची : डेंगू व चिकनगुनिया की चपेट में हिंदपीढ़ी
रांची : राजधानी के हिंदपीढ़ी इलाके के ग्वाला टोली से मंटू चौक तक डेंगू और चिकनगुनिया चुपके से पैर पसार रहा है. हिंदपीढ़ी इलाके में बड़ी संख्या में लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं. स्थानीय लोगों की शिकायत के बाद ग्वाला टोली चौक से मंटू चौक तक सामाजिक संस्था लहू बोलेगा की टीम ने नदीम खान के नेतृत्व घर-घर जाकर निरीक्षण किया.
रांची : 11 चौराहों पर पार्किंग हुई, तो डीएसपी जिम्मेवार
रांची : राजधानी में 11 चौक-चौराहों (कांटाटोली, लालपुर, कोकर, पुराना जेल, सर्जना, एकरा मसजिद के समीप रतन पुलिस पोस्ट, बिरसा चौक, अरगोड़ा चौक, न्यू मार्केट चौक व रणधीर वर्मा चौके) पर डीजल ऑटो, इ- रिक्शा व अन्य वाहनों की अवैध तरीके से पार्किंग करने की शिकायत को ट्रैफिक एसपी ने गंभीरता से लिया है़
रांची : निर्मल हृदय व उर्सुलाइन काॅन्वेंट की संचालिका पर प्राथमिकी दर्ज
रांची : नवजात को बेचने के मामले में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट(एएचटीयू) में ईस्ट जेल रोड स्थित निर्मल हृदय (रांची) की संचालिका के साथ उर्सुलाइन कॉन्वेंट (रांची व खूंटी) की संचालिका सिस्टर जेम्मा व सिस्टर आशा किरण के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है़
लागू हो गयी आदर्श चुनाव आचार संहिता : जानिए क्या करें, क्या नहीं करें
रांची : चुनाव की घोषणा के साथ ही झारखंड में तत्काल प्रभाव से आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी है. ऐसे में दलों, प्रत्याशियों के साथ-साथ एक-एक मतदाता के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि आखिर चुनाव आचार संहिता है क्या. यह भी कि इसके लागू होने के बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं. कोई प्रत्याशी या दल इसका उल्लंघन करता है, तो इसे भी सामने लाने की जरूरत है, जिससे निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित हो और जनता की अपनी सरकार बने. मतदाता, प्रत्याशी और राजनीतिक दल जानें कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं.
लागू हो गयी आदर्श चुनाव आचार संहिता : जानिए क्या करें, क्या नहीं करें
रांची : चुनाव की घोषणा के साथ ही झारखंड में तत्काल प्रभाव से आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गयी है. ऐसे में दलों, प्रत्याशियों के साथ-साथ एक-एक मतदाता के लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि आखिर चुनाव आचार संहिता है क्या. यह भी कि इसके लागू होने के बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं. कोई प्रत्याशी या दल इसका उल्लंघन करता है, तो इसे भी सामने लाने की जरूरत है, जिससे निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित हो और जनता की अपनी सरकार बने. मतदाता, प्रत्याशी और राजनीतिक दल जानें कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं.
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : पांच साल में बदल गयी 27% सीटों की राजनीतिक तस्वीर
रांची : पिछले पांच साल में राज्य की कई विधानसभा सीटों की राजनीतिक तसवीर बदल गयी है. कई विधायक जिस दल के टिकट से जीते थे, उसे छोड़ कर दूसरी पार्टी में शामिल हो गये. कई विधायकों को बीच में जेल जाना पड़ा या सजा हो गयी. इस कारण सीट खाली करनी पड़ी. कुछ सीटों पर विधायक के आकस्मिक निधन के बाद सीट खाली हो गयी. करीब 17 फीसदी सीटों में जीतने वाले विधायक दलों को छोड़ दूसरे दल में चले गये. वहीं कुल 27 प्रतिशत सीटों की राजनीतिक परिस्थिति बदल गयी.
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : पांच साल में बदल गयी 27% सीटों की राजनीतिक तस्वीर
रांची : पिछले पांच साल में राज्य की कई विधानसभा सीटों की राजनीतिक तसवीर बदल गयी है. कई विधायक जिस दल के टिकट से जीते थे, उसे छोड़ कर दूसरी पार्टी में शामिल हो गये. कई विधायकों को बीच में जेल जाना पड़ा या सजा हो गयी. इस कारण सीट खाली करनी पड़ी. कुछ सीटों पर विधायक के आकस्मिक निधन के बाद सीट खाली हो गयी. करीब 17 फीसदी सीटों में जीतने वाले विधायक दलों को छोड़ दूसरे दल में चले गये. वहीं कुल 27 प्रतिशत सीटों की राजनीतिक परिस्थिति बदल गयी.