962 results found for ''रांची''
नामकुम : जमीन कारोबारी की हत्या
रांची/नामकुम : सोमवार की शाम जमीन कारोबारी राजेश नायक की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. अपराधियों ने राजेश को तीन गोली मारी है. पुलिस ने नामकुम थाना क्षेत्र के करकट्टा गांव स्थित रिंग रोड के समीप से शव बरामद किया है.
रांची : तबादला आदेश के बाद भी नहीं हटे थाना प्रभारी
रांची : चुनाव आयोग के आदेश पर लातेहार जिला के चंदवा थाना प्रभारी मोहन पांडेय का तबादला किया गया था, इसके बाद भी वह नहीं हटे. जबकि 18 अक्तूबर को पुलिस स्थापना परिषद की बैठक के बाद एक ही स्थान पर तीन साल या गृह जिला में पदस्थापित किये गये राज्य के 48 पुलिस निरीक्षकों का तबादला करने का फैसला लिया गया था. इसी क्रम में अक्तूबर 2016 से चंदवा थाना में ही पदस्थापित रहने की वजह से मोहन पांडेय का तबादला करने का आदेश दिया गया था. लेकिन, वे अब तक उसी पद पर बने हुए हैं.
रांची : न्यायिक कार्य से दूर रहे वकील
दिल्ली में पुलिस-वकील की हुई झड़प का किया विरोध रांची : दिल्ली में वकील व पुलिस के बीच हुई झड़प के विरोध में सोमवार को रांची के वकीलों ने भी काम नहीं किया. हाइकोर्ट और सिविल कोर्ट में बार संघों की बैठक हुई. इसमें न्यायिक कार्य से खुद को अलग रखने की घोषणा की गयी. इसके बाद वकील न्यायालय कक्ष में नहीं गये और न ही कार्य किया. वकीलों के इस आंदोलन के कारण कई मुवक्किलों को लौटना पड़ा.
रांची :सिविल कोर्ट में भी नहीं हुआ कामकाज
रांची : दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में अधिवक्ता व पुलिस के बीच हुई झड़प का असर रांची सिविल कोर्ट में भी देखने को मिला़ एक महीने की छुट्टी के बाद सोमवार को सिविल कोर्ट खुला था, लेकिन दिल्ली की घटना के बाद अधिवक्ताओं में आक्रोश देखा गया. इस कारण सभी वकील न्यायिक कार्य से अलग रहे़ सिविल कोर्ट की विभिन्न अदालतों में सोमवार को सुनवाई के लिए करीब दो हजार मामले सूचीबद्ध थे, जिस पर कोई सुनवाई नहीं हुई़ इससे पहले दिन के 11 बजे जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष शंभु प्रसाद अग्रवाल एवं सचिव कुंदन प्रकाशन के नेतृत्व में अधिवक्ताओं की बैठक हुई, जिसमें दिल्ली में हुई घटना की कड़ी निंदा की गयी. उसके बाद निर्णय लिया गया कि एक दिन के लिए सभी अधिवक्ता न्यायिक कार्य से अलग रहेंगे़
रांची : डॉ विजय को डीआइसी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया
रांची : राज्य मलेरिया नियंत्रण पदाधिकारी के पद पर कार्यरत तथा वरीयता क्रम में सबसे ऊपर रहे डॉ विजय नाथ खन्ना को निदेशक प्रमुख (डीआइसी), स्वास्थ्य सेवाएं का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. हाइकोर्ट के आदेश के आलोक में करीब 40 दिन के बाद इससे संबंधित अधिसूचना जारी कर दी गयी है. कोर्ट के अादेश के पालन की समय सीमा 15 नवंबर थी. गौरतलब है कि डॉ खन्ना 30 नवंबर को ही सेवानिवृत्त हो रहे हैं. दरअसल स्वास्थ्य विभाग में सबसे वरीय डॉ खन्ना को ही निदेशक प्रमुख बनाने संबंधी संचिका पूर्व में भी विभागीय सचिव ने बढ़ायी थी.
रांची : नसरूद्दीन को मिला एलइडी टीवी
रांची : प्रभात खबर माॅनसून धमाका का उपहार वितरण कार्यक्रम सोमवार को अशोक नगर गेट नंबर-4 व डोरंडा स्थित कुसई कॉलोनी में आयोजित किया गया. पाठकों को उपहार स्वरूप एलइडी टीवी, स्नैक्स सेट, इलेक्ट्रिक केतली, प्लास्टिक कंटेनर, साइकिल, कॉफी मग, टब, मचिया व डस्टबीन देकर सम्मानित किया गया. कार्यक्रम का शुभारंभ सुबह 10.00 बजे से आरंभ किया गया. पुरस्कार प्राप्त करने के लिए पाठक समय पर एकत्रित हो गये थे. पुरस्कार वितरण शुरू होते ही पाठकों के बीच पुरस्कार पाने के लिए भीड़ लग गयी थी.
रांची : शिक्षक टैब से नहीं, मोबाइल से दर्ज करायेंगे उपस्थिति
रांची : राज्य के स्कूलों में फिलहाल टैब से कामकाज नहीं होगा. चुनाव आचार संहिता के प्रभावी रहने तक टैब का उपयोग नहीं किया जायेगा. टैब खोलने पर मुख्यमंत्री का संदेश होने के कारण इस पर रोक लगायी जायेगी. इस दौरान शिक्षक टैब के माध्यम से उपस्थिति भी नहीं बनायेंगे.
रांची : अल्पसंख्यक कॉलेजों के साथ हो रहा सौतेला व्यवहार
रांची : रांची विश्वविद्यालय के सीनेट सदस्य डॉ आरपी गोप ने रांची विवि पर अल्पसंख्यक कॉलेजों के साथ सौतेला व्यवहार अपनाने की शिकायत की है.
रांची : सचि कुमारी को समाज सेवा के लिए डॉक्टरेट की डिग्री
रांची : कर्नाटक राज्योत्सव पर संत मदर टेरेसा यूनिवर्सिटी फाॅर डिजिटल एजुकेशनल एक्सीलेंस डिपार्टमेंट, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की अंगीभूत इकाई ने लिंगायत भवन, बेंगलुरु में झारखंड की सामाजिक कार्यकर्ता सचि कुमारी को समाज सेवा के लिए डॉक्टरेट की उपाधि दी है़
रांची : नहीं आ रहा है मैसेज, सीओ ऑफिस दौड़ रहे हैं विद्यार्थी
रांची : अावासीय व जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए विद्यार्थियों की परेशानी नहीं रुक रही है. उन्हें पता ही नहीं चल रहा है कि उनके आवेदन की स्थिति क्या है. आवेदन कहां पर लटका हुआ है.
झाप्रसे : बेसिक ग्रेड वाले 227 अफसर कम
रांची : राज्य में झारखंड प्रशासनिक सेवा के 227 अफसरों की कमी है. स्वीकृत पदों की तुलना में अफसर नहीं होने की वजह से सीओ व बीडीओ के कई पद खाली हैं.
रांची : कोताही नहीं बरतें, सुरक्षा चुस्त रखें
बोकारो पहुंची चुनाव आयोग की टीम ने लिया तैयारियों का जायजा, दिये निर्देश रांची : सोमवार को झारखंड आयी चुनाव आयोग की टीम ने बोकारो पहुंच कर चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया. टीम में वरीय उप निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा, उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन और भारत निर्वाचन आयोग के सचिव सह झारखंड प्रभारी अरविंद आनंद शामिल हैं.
रांची : जहां लगती थी जन अदालत वहां लगे जन चौपाल : रघुवर
रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि 14 साल तक राजनीतिक अस्थिरता के कारण झारखंड में उग्रवाद चरम पर था. कानून व्यवस्था की स्थिति लचर थी. पिछले पांच साल में सरकार ने नक्सलियों को मुख्यधारा में लाने के लिए सरेंडर पॉलिसी बनायी. यही वजह है कि झारखंड में आज उग्रवाद अंतिम सांसें गिन रहा है. जनता के सहयोग से व्यवस्था में परिवर्तन किया जा सकता है. आज इसका प्रमाण भी देखने को मिल रहा है.
रांची : विधायक शिवपूजन मेहता आजसू में, सुदेश ने दिलायी सदस्यता
रांची : हुसैनाबाद से बसपा विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता ने आजसू की सदस्यता ग्रहण की़ सोमवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह मेें अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने विधायक श्री मेहता को सदस्यता दिलायी़ विधायक श्री मेहता अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ आजसू में शामिल होने के लिए आये थे़ आजसू अध्यक्ष श्री महतो ने कहा कि विधायक मेहता के आने से संगठन मजबूत हुआ है़ झारखंडी जनमानस की भावनाओं के अनुरूप राज्य को बनाना है़
रांची : नेताओं ने झाविमो का दामन थामा
रांची : झारखंड विकास मोर्चा के डिबडीह स्थित केंद्रीय कार्यालय में सोमवार को कई दलों के नेताअों ने मोर्चा का दामन थामा. मोर्चा अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी के समक्ष वे लोग उनकी पार्टी में शामिल हुए.
रांची : चुनाव के लिए हेलीकॉप्टर मांगे
रांची : विधानसभा चुनाव के दौरान सुरक्षाबलों को नक्सल और दुरूह क्षेत्रों में जवानों को लाने और ले जाने के लिए झारखंड पुलिस ने चुनाव आयोग से सात से आठ हेलीकॉप्टर देने की मांग की है. बताया जा रहा है कि जल्द की चुनाव आयोग इस पर निर्णय लेगा. पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान पांच हेलीकॉप्टर झारखंड को मिले थे. विधानसभा चुनाव के दौरान शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतदान कराने के लिए झारखंड को केंद्रीय बलों की करीब 180 कंपनियां मिलेगी.
रांची : अधिकतम 28 लाख खर्च कर सकते हैं प्रत्याशी
रांची : राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में निर्वाची और सहायक निर्वाची पदाधिकारियों के लिए दो दिवसीय सर्टिफिकेशन कोर्स शुरू हुआ.
मुश्किल में सफर : सुविधा स्पेशल ट्रेनों में साढ़े तीन गुणा अधिक किराया देकर भी असुविधा, शौचालय में पैर रखने तक जगह नहीं
पटना : छठ पूजा खत्म होने के बाद सोमवार से वापस काम पर लौटने वाले रेल यात्रियों की भीड़ पटना जंक्शन पर दिखने लगी है. जंक्शन से दिल्ली, कोटा, अमृतसर, रांची आदि शहरों की ओर जाने वाली ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ सामान्य दिनों से दो से तीन गुणा अधिक बढ़ गयी है. इसकी वजह से स्लीपर व जनरल डिब्बों का अंतर खत्म हो गया है. जनरल डिब्बे में तो यात्री भेंड़-बकरी की तरह लदे दिखे. इनके शौचालयों में भी यात्रियों के खड़े होने की जगह नहीं थी. स्लीपर डिब्बे के एक बर्थ पर पांच-छह यात्री बैठने के बावजूद सैकड़ों यात्री गेट से लेकर डिब्बे के पाथवे में खड़े होकर सफर करने को मजबूर दिखे.
राजनीति का फ्लैशबैक : 1951 में झापा लड़ी 53 सीटों पर, जीती थी 32 सीटें
रांची : आदिवासियों के लिए अलग राज्य की मांग को लेकर बना राजनीतिक दल झारखंड पार्टी (झापा) ने आजादी के बाद हुए पहले चुनाव में दमदार उपस्थिति दर्ज की थी. उस समय यूनाइटेड झारखंड पार्टी के रूप में जाना जाता है. 1948 में जस्टिन रिचर्ड ने हूल झारखंड पार्टी की स्थापना की थी. बाद में जयपाल सिंह मुंडा इसमें शामिल हुए.
राजनीति का फ्लैशबैक : 1951 में झापा लड़ी 53 सीटों पर, जीती थी 32 सीटें
रांची : आदिवासियों के लिए अलग राज्य की मांग को लेकर बना राजनीतिक दल झारखंड पार्टी (झापा) ने आजादी के बाद हुए पहले चुनाव में दमदार उपस्थिति दर्ज की थी. उस समय यूनाइटेड झारखंड पार्टी के रूप में जाना जाता है. 1948 में जस्टिन रिचर्ड ने हूल झारखंड पार्टी की स्थापना की थी. बाद में जयपाल सिंह मुंडा इसमें शामिल हुए.