12 results found for ''बुलंद''
जमीन के अधिकार की आवाज बुलंद कर रहे चार युवा
नागराकाटा : कौन कहता है कि आसमान में सुराख नहीं हो सकता, जरा तबीयत से पत्थर तो उछालो यारों. कुछ इसी तरह का हौसला लेकर चाय बागान के चार युवा अपने बाप-दादों को चाय बागान की जमीन का पट्टा दिलाने के लिये कमर कस चुके हैं. चाय श्रमिक परिवार के चार युवक युवती चाय बागानों की पदयात्रा पर निकले हैं.
अटारी बॉर्डर पर जोश भर रहा पलामू का अभिषेक
चैनपुर : अटारी बॉर्डर जाने पर हर किसी की निगाह एक शख्स पर टिकी रहती है, वह है बीएसएफ का जवान अभिषेक कुमार दीक्षित. अपनी बुलंद आवाज से लोगों में जोश भरनेवाला अभिषेक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में छाया हुआ है.
अटारी बॉर्डर पर जोश भर रहा पलामू का अभिषेक
अटारी बॉर्डर जाने पर हर किसी की निगाह एक शख्स पर टिकी रहती है, वह है बीएसएफ का जवान अभिषेक कुमार दीक्षित. अपनी बुलंद आवाज से लोगों में जोश भरनेवाला अभिषेक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में छाया हुआ है.
बाघा-अटारी बॉर्डर पर मोटिवेट कर रहे हैं बुलंद आवाज के मालिक पलामू के जवान अभिषेक
अटारी बॉर्डर जाने पर हर किसी की निगाह एक शख्स पर टिकी रहती है, वह है बीएसएफ का जवान अभिषेक कुमार. इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस के दिन से ही अभिषेक चर्चा में हैं. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक अभिषेक के नाम का गुणगान हो रहा है. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को दिये गये इंटरव्यू में बीएसएफ के जवान अभिषेक ने कई जानकारी दी. ''प्रभात खबर'' ने बीएसफ जवान अभिषेक की जानकारी ली.
विश्व आदिवासी दिवस : सांस्कृतिक मार्च निकाल बुलंद की अपने हक की आवाज
रांची : विश्व आदिवासी दिवस पर विभिन्न आदिवासी संगठनों ने सैनिक मार्केट से अलबर्ट एक्का चौक, शहीद चौक, कचहरी चौक व रेडियम रोड होते हुए मोरहाबादी स्थित रांची विवि के दीक्षांत मंडप तक ढोल-नगाड़ों के साथ सांस्कृतिक मार्च निकाला़
निर्मल महतो के सपनों का बनाना है झारखंड
आजसू पार्टी जिला कार्यालय में आठ अगस्त को शहीद निर्मल महतो की पुण्यतिथि का आयोजन किया गया. मुख्य अतिथि आजसू पार्टी जिला सचिव मनोज महतो ने निर्मल महतो के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया. श्री महतो ने कहा कि निर्मल महतो ने झारखंड अलग राज्य निर्माण की आवाज को बुलंद किया था. वह झारखंड आंदोलन के अग्रणी नायक थे.
कमजोर बाजुओं को बुलंद हौसले से मिल रहा बल
क्या आपने किसी महिला को गन्ने का रस निकालते और बेचते देखा है? ज्यादा संभावना है कि आपका जवाब नहीं में होगा. आज महिलाएं लगभगर हर क्षेत्र में पुरुषों की बराबरी कर रही हैं, लेकिन अब भी कुछ पेशे ऐसे हैं जिनमें उनकी भागीदारी न के बराबर है. ऐसा ही एक पेशा है गन्ने का रस बेचना. वजह शायद यह है कि इस काम में बहुत ज्यादा शारीरिक ताकत की जरूरत होती है.
रांची : विश्व आदिवासी दिवस की तैयारी जोरो पर, हक को लेकर आवाज बुलंद करेंगे आदिवासी
जय आदिवासी केंद्रीय परिषद ने की बैठक रांची : विश्व आदिवासी दिवस की तैयारी को लेकर जय आदिवासी केंद्रीय परिषद की बैठक मोती कच्छप की अध्यक्षता में नगड़ा टोली स्थित सरना भवन में हुई़ निर्णय लिया गया कि दिन के दस बजे सरना भवन नगड़ा टोली से बिरसा मुंडा समाधि स्थल कोकर, जयपाल सिंह मुंडा चौक सिरमटोली, सुजाता चौक होते हुए अलबर्ट एक्का चौक, सिदो कान्हू पार्क व नीलांबर पीतांबर पार्क होते हुए सभा स्थल मोरहाबादी स्थित संगम गार्डेन तक मोटरसाइकिल रैली निकाली जायेगी़ इस क्रम में परिषद द्वारा महापुरुषों की प्रतिमाओं पर मल्यार्पण किया जायेगा़
गिरिडीह की चंपा को गवर्नर ने किया सम्मानित
रांची/गिरिडीह : हौसला बुलंद हो तो इंसान बड़ी से बड़ी कामयाबी हासिल कर सकता है और इसमें उम्र कोई बाधा नहीं बनती. कुछ ऐसा ही कर दिखाया है गिरिडीह की 13 वर्षीय चंपा ने.
गिरिडीह की 13 वर्षीया चंपा को राज्यपाल ने किया सम्मानित
हौसला बुलंद हो तो इंसान बड़ी से बड़ी कामयाब़ी हासिल कर सकता है और इसमें उम्र कोई बाधा नहीं बनती. कुछ ऐसा ही कर दिखाया है गिरिडीह की 13 वर्षीय चंपा ने. चंपा को मंगलवार को राज्य की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने राजभवन में सम्मानित किया है. उसे गत एक जुलाई को यूनाटेड किंगडम का प्रतिष्ठित डायना अवार्ड मिला है.
#Article370 : सत्ता के नशे में लिया गया फैसला : जीतन राम मांझी
पटना : हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने अनुच्छेद 370 व 35ए पर मोदी सरकार के फैसले पर प्रहार किया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला सत्ता के नशे में लिया गया है. मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनुरोध किया है कि अपनी अंतरात्मा को जगाते हुए वे इस तानाशाह सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करें. आज देश को आपकी जरूरत है. देश के आंतरिक सुरक्षा व संविधान को तोड़ने की कोशिश की जा रही है.
जम्मू-कश्मीर : धारा 370 व 35ए पर मोदी सरकार के फैसले पर बोले मांझी, सत्ता के नशे में लिया गया निर्णय
पटना : हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 व 35ए पर मोदी सरकार के फैसले पर प्रहार किया है. उन्होंने कहा कि यह फैसला सत्ता के नशे में लिया गया है. मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनुरोध किया है कि अपनी अंतरात्मा को जगाते हुए वे इस तानाशाह सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करें. आज देश को आपकी जरूरत है. देश के आंतरिक सुरक्षा व संविधान को तोड़ने की कोशिश की जा रही है.