36 results found for ''बीमारी''
गठिया ने लालू प्रसाद को किया परेशान, टहलना हो गया कम
रांची : रिम्स में भर्ती चारा घोटाला के सजायाफ्ता लालू यादव अपनी पुरानी बीमारी गठिया से परेशान हैं. गठिया के दर्द से वह इतना परेशान हो गये हैं कि चलना-फिरना भी कम हो गया है.
थाईलैंड में लोगों का दिल जीतने वाली बेबी डुगोंग ‘मरियम’ की मौत
बैंकॉक : थाईलैंड में प्लास्टिक खाने से बीमार पड़ी बेबी डुगोंग की मौत हो गयी है. उसकी बीमारी से उबरने में जुझारू जज्बे ने लोगों के दिल जीत लिये थे और समुद्र संरक्षण पर प्रकाश डाला था. ‘मरियम’ नाम की डुगोंग कुछ महीने पहले दक्षिणी-पश्चिमी थाईलैंड के तट पर बहकर आयी थी और उसकी बचावकर्ताओं से लिपट जाने वाली तस्वीरें वायरल हो गयी थीं.
विद्या सिन्‍हा के निधन से दुखी अमिताभ बच्‍चन, ट्वीट कर कही ये बात
मशहूर अभिनेत्री विद्या सिन्हा का लंबी बीमारी के बाद बृहस्पतिवार को निधन हो गया. वह 71 वर्ष की थीं. अभिनेत्री को कथित सांस संबंधी समस्याओं के चलते जुहू स्थित क्रिटीकेयर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वे वेंटिलेटर पर थी. गुरुवार को इसी अस्‍पताल में उन्‍होंने अंतिम सांस ली. विद्या के निधन से पूरा बॉलीवुड सदमे में है. सोशल मीडिया पर कई स्‍टार्स ने उनके निधन पर शोक प्रकट कर रहे हैं. अमिताभ बच्‍चन ने भी शुक्रवार को ट्वीट कर शोक प्रकट किया. उन्‍होंने लिखा कि वे एक शानदार कलाकार थीं.
अब छोटी बीमारियों का इलाज मोहल्ला क्लिनिक में करा सकेंगे लोग : सरयू
छोटी-छोटी बीमारियों के लिए लोगों को बड़े अस्पतालों में जाना पड़ता है. गरीबों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा मोहल्ला क्लिनिक योजना लागू की गयी है.
मॉनसून में होने वाले वायरल से कैसे बचें
बारिश का मौसम आते ही आपके शरीर पर कई तरह की बीमारियों का हमला होता है.
बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री विद्या सिन्हा का निधन
मुंबई : बॉलीवुड की गुजरे जमाने की मशहूर ऐक्ट्रेस विद्या सिन्हा नहीं रहीं. 72 साल की उम्र में 15 अगस्त (गुरुवार) को मुंबई के जुहू स्थित एक अस्पताल में उनका निधन हो गया. कुछ दिनों पहले ही उन्हें गंभीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. विद्या पिछले कुछ समय से टीवी सीरियलों में काम कर रहीं थीं. काफी दिनों से वह फेफड़े की किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थीं. विद्या सिन्हा को वेंटिलेटर पर रखा गया था और आज उन्होंने अंतिम सांस ली. विद्या सिन्हा को फेफड़ों के साथ-साथ दिल (हार्ट) की भी समस्या थी.
कन्याश्री की छात्राएं जुड़ेंगी इस अभियान से
विभिन्न जिलों में डेंगू बीमारी को नियंत्रित करने तथा इसके प्रति जागरूकता फैलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कन्याश्री योजना से जुड़ी स्कूली छात्राओं को मैदान में उतारने का निर्णय लिया है. कोलकाता नगर निगम सहित राज्य के 23 जिलों के लिए बड़ी राशि मंजूर की गई है. हर प्रखंड के लिए एक-एक लाख और नगरपालिकाओं के लिए 50-50 हजार रुपये की राशि आवंटित की गई है.
गूगलाइटिस से डॉक्टर भी परेशान: गूगल पर सर्च कर खुद से बीमारियों का इलाज कर रहे हैं, तो हो जायें सतर्क
सर्च इंजन गूगल ने लोगों के जीवन को आसान बना दिया है. खास कर युवा जीवन की हर समस्या का निदान गूगल पर ढूंढ़ते नजर आते हैं. कुल मिला कर कहें, तो युवा इस पर पूरी तरह आश्रित होते जा रहे हैं. कु
पति ने छोड़ा साथ, महिला ने लिया दोनों बच्चों को बेचने का फैसला और फिर...?
नालंदा : जिले से दिल दहला देने वाली खबर है. गरीबी और बीमारी से जूझ रही एक मां ने अपने ही जिगर के टुकड़े को बेचने का फैसला कर लिया. इतना ही नहीं, बीमारी के कारण उसका पति भी उसे छोड़ चुका है. हालांकि, बच्चे को बेचने की सूचना मिलने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसका इलाज शुरू किया गया.
भयावह होता कैंसर
दुनियाभर में कैंसर की बीमारी बहुत तेजी से बढ़ रही है. बड़ी संख्या में बच्चे भी इसकी चपेट में आ रहे हैं. वैश्विक स्तर पर कैंसर के शिकार बच्चों की 82 फीसदी संख्या निम्न और मध्यम आय के देशों में है. लांसेट ऑन्कोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, इन देशों में रोग की शुरुआती पहचान न हो पाने और मामूली उपचार के कारण स्वस्थ जीवन के 70 लाख साल बर्बाद हो जाते हैं. अधिक आबादी के जिन 50 देशों पर नजर डालें, तो भारत, चीन, नाइजीरिया, पाकिस्तान और इंडोनेशिया में यह समस्या बेहद गंभीर है.
बीमारी व कर्ज से तंग युवक ने पत्नी, बेटियों को मार दे दी जान
धुरकी (गढ़वा) : बीमारी, गरीबी और कर्ज से तंग आकर शिव कुमार बैठा (35) ने पहले पत्नी और दो बेटियों की हत्या कर दी, फिर फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. गढ़वा जिले के धुरकी थाना क्षेत्र के रक्सी गांव के हरठवा टोला में रविवार रात को यह हृदयविदारक घटना हुई. लोगों को साेमवार की सुबह इसकी जानकारी मिली. दरअसल, सुबह में शिव कुमार के घर के कुएं के पास बड़ी बेटी तन्या कुमारी (10) का शव दिखा.
जहानाबाद के निजी नर्सिंग होम-अस्पतालों में एक भी टीबी मरीज नहीं, मधुबनी में महज दो
सुमित कुमार, पटना : केंद्र सरकार ने टीबी (ट्यूबरोक्लोसिस) रोग को वर्ष 2025 तक देश से पूरी तरह खत्म करने का लक्ष्य रखा है. लेकिन, बिहार में निजी क्षेत्र की लापरवाही इस बीमारी के मरीजों की पहचान में भारी पड़ रही है. राज्य सरकार के एक अनुमान के मुताबिक सूबे में प्रति एक लाख पर 217 टीबी पीड़ित मरीज होने चाहिए, लेकिन वर्तमान में प्रति लाख पर मात्र 87 मरीज की पहचान ही संभव हो सकी है. सरकार इसकी मुख्य वजह निजी हॉस्पीटल, नर्सिंग होम या डॉक्टर के पास पहुंचने वाले मरीजों की जानकारी नहीं दिया जाना मानती है.
पटना : एम्स में सफेद दाग व जन्मजात टेढ़ी उंगलियों का होगा इलाज
पटना : सफेद दाग, बच्चों की उंगलियां का टेढ़ा होना या फिर चेहरे पर झुर्रियां-झाइयों के इलाज को लेकर अब मरीजों को प्राइवेट अस्पताल में जाने की जरूरत नहीं होगी. क्योंकि शहर के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में इन सभी बीमारियों की सर्जरी शुरू कर दी गयी है. एम्स के प्लास्टिक सर्जरी विभाग में संबंधित बीमारियों के उपचार के लिए सर्जरी की जा रहा है.
बाघुड़िया : सबर की मौत, पांच बच्चे बेसहारा
घाटशिला प्रखंड की बाघुड़िया पंचायत के केशरपुर सबर बस्ती में शुक्रवार की दोपहर माधव सबर (35) की बीमारी से मौत हो गयी. वह कई माह से बीमार था. वह अपना इलाज नहीं करा पा रहा था. उसका शरीर काफी कमजोर हो गया था. उसकी मौत से पत्नी गुरुवारी सबर और पांच छोटे-छोटे बच्चे बेसहारा हो गये. उसकी चार बेटियां और एक बेटा है.
बीमारी में कोयला कर्मी लेंगे पीएफ से 15 फीसदी एडवांस
कोयला कामगार अब बीमारी के नाम पर सीएमपीएफ में जमा कुल रकम की 15 प्रतिशत राशि एडवांस के रूप में ले सकेंगे. सूत्रों ने बताया की कोयला कामगारों को एडवांस उसी स्थिति में मिलेगा, जब कंपनी के ई-पैनल अस्पतालों में इलाज की सुविधा नहीं होगी. एडवांस राशि प्राप्त करने के लिए सीएमपीएफ मेंबर को आवश्यक दस्तावेज जमा करना होगा.
पटना : बासी ताड़ी पीने से लिवर में हो रहा मवाद
आइजीआइएमएस के एक रिसर्च में सामने आया मामला पटना : बासी व पुरानी ताड़ी पीने वाले लोगों के लिवर में इन्फेक्शन व गड़बड़ी की शिकायत मिल रही है. उनके लिवर में मवाद (अमिबिक लिवर एबसेस) बीमारी पायी जा रही है, जो शराब पीने वालों की तुलना में 70% अधिक है. इनमें दो प्रतिशत की मौत भी हो चुकी है. यह जानकारी इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ आशीष झा के नेतृत्व में किये गये एक रिसर्च में सामने आयी है.
रितिक रोशन के नाना और मशहूर डायरेक्‍टर जे ओम प्रकाश का निधन
बॉलीवुड फिल्‍ममेकर और रितिक रोशन के नाना जे ओम प्रकाश का बुधवार सुबह निधन हो गया. वे 93 वर्ष के थे. वे बढ़ती उम्र से संबंधित बीमारियों से परेशान थे. ''आप की कसम'' और ''आखिर क्‍यों'' जैसे फिल्‍में बना चुके निर्देशक के निधन से बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में शोक की लहर है. अमिताभ बच्‍चन ने जे ओम प्रकाश के निधन पर दुख प्रकट किया है. उन्‍होंने ट्वीट किया,'' जे ओम प्रकाश, श्रेष्‍ठ प्रोड्यूसर-डायरेक्टर का आज सुबह निधन हो गया... एक दयालु सौम्य मिलनसार... मेरे पड़ोसी, रितिक के दादा... उदासीन !! उनकी आत्मा के लिए प्रार्थना.''
परिणीति चोपड़ा का खुलासा- मेरी जिंदगी का सबसे बुरा दौर था, मैंने खाना छोड़ दिया था और...
बॉलीवुड अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा इनदिनों अपनी आनेवाली फिल्‍म ''जबरिया जोड़ी'' के प्रमोशन में बिजी हैं. फिल्‍म में सिद्धार्थ मल्‍होत्रा भी उनके साथ नजर आयेंगे. इस फिल्‍म के प्रमोशन के दौरान एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने अपनी निजी जिंदगी को लेकर कई खुलासे किये. अभिनेत्री ने बताया कि एक समय वह पैसों की तंगी के अलावा बीमारी और बहुत बुरे हालातों से गुजरी थीं. वह पूरा समय घर में ही रहती थीं. परिणी‍ति ने यह भी कहा कि उन दिनों करीब 6 महीने तक उन्‍होंने मीडिया का सामना नहीं किया था.
एडवांस राशि के लंबित भुगतान ने नालों की सफाई पर लगाया ब्रेक
गया : शहर के सभी 53 वार्डों में नालियों की सफाई का काम पूरी तरह ठप पड़ा है. इसके कारण नालियों में गंदगी बजबजा रही है वहीं मौसमी बीमारियों के फैलने का खतरा भी बढ़ गया है. लेकिन इसे लेकर नगर निगम प्रशासन गंभीर नहीं है. यह स्थिति तब है जब पितृपक्ष मेले का समय नजदीक आ रहा है.
पानी नहीं, बीमारी की सप्लाई हो रही राज्यरानी एक्सप्रेस में
सहरसा : अगर आप सहरसा से पटना जाने वाली राज्यरानी एक्सप्रेस में सफर कर रहे हैं तो जरा सावधान. पीने के लिए नहीं बल्कि हाथ व मुंह पोछने के लिए भी पानी का बोतल साथ रखकर चलें. इन दिनों सहरसा-पटना राज्यरानी एक्सप्रेस में पानी की नहीं बल्कि बीमारी की सप्लाई हो रही है. आलम यह है कि एसी चेयर कार से लेकर सभी सामान्य कोच में गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है.