27 results found for ''बनेगा''
रांची : दिव्यांगों का कंपोजिट रीजनल सेंटर चलना कहां है, तय नहीं
जनवरी के अंत या फरवरी में शुरू होना था, अब तक भवन की हो रही है खोज रांची : दिव्यांगजनों के कल्याणार्थ राज्य का पहला कंपोजिट रीजनल सेंटर (सीआरसी) कहां बनेगा, यह गत पांच-छह माह में भी साफ नहीं हो सका है. इस सेंटर का संचालन भारत सरकार के सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय की संस्था स्वामी विवेकानंद राष्ट्रीय पुनर्वास प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान, कटक के जरिये होगा. सेंटर की सहमति के बाद इसके संचालन के लिए उपयुक्त जगह खोजी जा रही है.
रांची : कांटाटोली चौक पर बनेगा ट्रैफिक पोस्ट, डीएसपी स्तर के अधिकारी करेंगे निगरानी
रांची : संभावना जतायी जा रही है कि फ्लाइओवर निर्माण कार्य की वजह से 15 मार्च से कांटाटोली चौक पर वाहनों का आवागमन बंद कर दिया जायेगा. इस दौरान कोकर चौक और बहूबाजार की ओर वाहन कांटाटोली चौक तक न आ पायें, यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ट्रैफिक पुलिस के डीएसपी स्तर के पदाधिकारियों को सौंपी जायेगी. इसके लिए कांटाटोली चौक के समीप एक पुलिस पोस्ट भी बनाया जायेगा.
पटना : मुख्यमंत्री व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने किया शिलान्यास, 200 करोड़ से पीएमसीएच बनेगा सुपर स्पेशियलिटी
पटना : पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में 200 करोड़ से सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का निर्माण किया जायेगा. शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने इसका शिलान्यास किया.
प्रदेश के आठ जिलों में बनेगा इंडस्ट्रियल एरिया
पटना : राज्य के आठ जिलों बांका, जमुई, अरवल, कैमूर, सारण, गोपालगंज, शिवहर और शेखपुरा में इंडस्ट्रियल एरिया बनाया जायेगा. बियाडा ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है. दूसरे जिलों में मौजूदा इंडस्ट्रियल एरिया को विकसित कर आधुनिक सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी. अभी राज्य में 53 इंडस्ट्रियल एरिया हैं.
10 करोड़ रुपये से एएन कॉलेज में बनेगा आठमंजिला भवन
पटना : पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के अनुग्रह नारायण कॉलेज में जल्द ही आठ मंजिले भवन का निर्माण शुरू होगा. 10 करोड़ रुपये की लागत से उक्त भवन को बनना है और इसके लिए टेंडर आदि भी हो चुके हैं.
गोद लेने के चार साल बाद गांव पहुंचे अहलुवालिया
गोद लेने के 4 साल बाद सांसद सुरेंद्र सिंह अहलुवालिया हाथीघीसा गांव पहुंचे. 4 साल बाद उन्होंने फिर से हाथीघिसा को राज्य का पहला डिजिटल गांव घोषित किया. लेकिन यह गांव कब डिजिटल बनेगा और ग्रामवासियो को इस योजना का लाभ कब तक मिलेगा यह सुनिश्चित नहीं है.
10-12 घंटे बिजली गुल के बाद रुला रही लो वोल्टेज, परीक्षार्थियों में रोष
जैंतगढ़ में बिजली की समस्या साल भर रहती है. गर्मी शुरू भी नहीं हुई और बिजली की आंख मिचौनी शुरू हो गयी है. सप्ताह भर से लोग बिजली की आंख मिचौनी से परेशान हैं. 10-12 घंटे बिजली गुल के बाद लो वोल्टेज लोगों को सता रही है. मुश्किल से 4-6 घंटे बिजली रहती है. लाइन मैन उदय जारिका ने बताया कि हाटगम्हरिया ग्रिड से जैंतगढ़ तक काफी ब्रांच लाइन है. यहीं से खैरपाल, पादापहाड़, पाताहातु आदि क्षेत्र तक ब्रांच जुड़े हैं. जब तक सब स्टेशन नहीं बनेगा.