7 results found for ''बड़ौदा''
मास्टरमाइंड डब्लू मियां गिरफ्तार
बंजरिया सिंघिया सागर के शिवजी सिंह की हत्या के साथ बैंक ऑफ बड़ौदा व खाद-बीज भंडार केq कार्यालय से आठ लाख की चोरी मामले का खुलासा कर लिया गया है. दोनों घटनाओं का मास्टरमाइंड डब्लू मियां उर्फ शाहिद आलम को गिरफ्तार कर लिया गया है. वही उसके तीन और साथी भी पकड़े गये हैं.
दो कार्यालयों से आठ लाख की चोरी
बंजरिया पोखर के सामने स्थित बैंक ऑफ बडौदा एवं तरुण खाद बीज भंडार के कार्यालय में चोरों ने शनिवार रात भीषण चोरी की घटना को अंजाम दिया है. तीन मंजिले इमारत में उक्त दोनों कार्यालय चलता है.
सृजन घोटाले के दो मामलों में आरोपपत्र हुआ दाखिल
पटना : अरबों रुपये के सृजन घोटाला में सीबीआइ ने अपना अनुसंधान जारी रखते हुए दो मामलों में आरोप पत्र दाखिल किया. दोनों आरोप पत्र में सृजन की प्रबंधक सरिता झा, भागलपुर बैंक ऑफ बड़ौदा के प्रबंधक नवीन कुमार साहा व सृजन की संयोजक स्व. मनोरमा देवी को अभियुक्त बनाते हुए भादवि व पीसी एक्ट की विभिन्न धाराओं में आरोप पत्र दाखिल किया है.
एनवी राजू की संपत्ति नीलाम करने के लिए चिपकाया नोटिस
कलिंगा सेल्स के मालिक एनवी राजू की संपत्ति नीलाम करने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा के पदाधिकारी ने गुरुवार को उनकी जमीन व दुकानों पर इ-ऑक्शन का नोटिस चिपकाया. संपत्तियों की नीलामी 28 जनवरी को होगी. ईश्वरी कांप्लेक्स में दुकान, चंडीप्रसाद लेन में दो कट्ठा जमीन व कचहरी चौक के पास दुकान पर नोटिस चिपकाया गया है.
एनवी राजू की संपत्ति जब्त करने की शुरू हुई प्रक्रिया
कलिंगा सेल्स के मालिक एनवी राजू की शहर में तीन जगहों पर संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. इसके लिए सदर अनुमंडल पदाधिकारी ने बैंक ऑफ बड़ौदा की भागलपुर शाखा के प्रबंधक को पत्र भेज कर दंडाधिकारी शुल्क अनुमंडल नजारत में जमा करने का निर्देश दिया है. दंडाधिकारी की नियुक्ति होने के बाद संपत्ति जब्त कर ली जायेगी.
बैंक अधिकारी की सूझ-बूझ से साइबर ठगी का शिकार होने से बची ग्राहक
बैंक ऑफ बड़ौदा आसनसोल के चीफ मैनेजर संजय कुमार सिंह की तत्परता से राम किशुन डंगाल निवासी बैंक की ग्राहक खुशबु वर्मा साइबर ठगों के झांसे में आने से बची और अपने मेहनत की कमाई से बैंक खाते में जमा राशि लूटने से बचा पायी.
बीओबी के दो मैनेजर और वकील को पांच-पांच साल की मिली सजा
रांची : सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश एके मिश्रा की अदालत में फर्जी तरीके से लोन देने के मामले में शुक्रवार को बैंक ऑफ बड़ौदा मुख्य शाखा के तत्कालीन बैंक मैनेजर कैलाश नाथ, क्रेडिट मैनेजर सुधीर लकड़ा और अधिवक्ता राजीव रंजन उर्फ अरविंद को पांच-पांच साल की सजा सुनायी. वहीं, मैनेजर कैलाश नाथ व क्रेडिट मैनेजर सुधीर लकड़ा को 20-20 लाख और अधिवक्ता राजीव रंजन पर 15 लाख रुपये जुर्माना भी लगाया गया है.