2 results found for ''पत्रकारिता''
भारतीय लोकतंत्र के नायक हैं पत्रकार
पत्रकारिता एक ऐसा पेशा है, जिसमें पैसा, इज्जत, रुतबा और जोखिम भी है. लेकिन, फिर भी पत्रकार हमारे लिए दिन-रात सेवा करते रहते हैं और देश-दुनिया की खबरों से हमें रूबरू भी कराते हैं और सबसे बड़ी बात यह है कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है.
पुलवामा के बाद भड़काने वाली पत्रकारिता से किसका भला?
भारत-पाकिस्तान के बीच जिस तरह के रिश्ते हैं उसमें मीडिया कवरेज कभी भी संतुलित और ऑब्जेक्टिव नहीं रहा.