18 results found for ''पढ़ने''
छातापुर : कोचिंग संचालक ने शिष्या से किया दुष्कर्म
छातापुर : राजेश्वरी ओपी क्षेत्र के एक गांव में कोचिंग संचालक ने शनिवार को ट्यूशन पढ़ने आयी 13 वर्षीया छात्रा के साथ दुष्कर्म किया. पुलिस ने आरोपित शिक्षक कटही वार्ड संख्या 10 निवासी विशुनदेव दास के पुत्र संजीत कुमार को गिरफ्तार कर लिया है. पीड़िता के भाई के आवेदन पर पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है.
राष्ट्र, धर्म की अवधारणा पर सेमिनार सात को
आसनसोल : संसदीय चुनाव के पहले से शुरू पश्चिम बंगाल में हिंसक घटनाओं की शुरूआत चुनाव के बाद भी जारी रहने, हिंदी भाषियों के जाने-अनजाने केंद्र में आ जाने तथा हिंदी व बांग्ला पढ़ने आदि मुद्दों को लेकर हिंदीभाषियों के बीच चल रही छटपटाहट के मुद्दे पर रविवार को नगर निगम मुख्यालय के आलोचना सभागार में हिंदीप्रेमियों की बैठक हुई.
बीडी कॉलेज में परीक्षा के दौरान जमकर नकल
पटना : बीडी कॉलेज में एमयू की सेकेंड इयर की परीक्षा चल रही है, लेकिन वहां पर जमकर नकल हो रही है. कॉलेज प्रशासन से लेकर विवि प्रशासन ने ढ़िलाई दे रखी है. ऐसे में पढ़ने वाले छात्र काफी परेशान हैं.
छात्रा से दुकान में दुष्कर्म का प्रयास, दो सगे भाई पकड़ाये
ट्यूशन पढ़ने आयी एक छात्रा से एक युवक ने दुष्कर्म का प्रयास किया. छात्रा ने जब इसका विरोध किया तो उसकी जमकर पिटाई की. छात्रा के साथ मौजूद उसकी सहेली जब अपने दोस्त को बचाने आयी तो उसे भी पीटा गया. घटना गुरुवार की शाम सात से आठ के बीच है. घटना बाद छात्रा अपने घर गयी, जहां उसने अपने परिवार को पूरी बात बतायी.
स्किल्ड/ अन-स्किल्ड मैनपावर के 1100 पदों पर होगी बहाली
स्किल्ड मैनपावर के लिए इलेक्ट्रिकल ट्रेड या वायरमैन में एनसीवीटी या एससीवीटी से आईटीआई सर्टिफिकेट या इंजीनियरिंग में हायर टेक्निकल डिग्री या डिप्लोमा एवं इलेक्ट्रिकल सेफ्टी सर्टिफिकेट, हिंदी एवं अंग्रेजी पढ़ने-लिखने का ज्ञान और दो वर्ष का कार्यानुभव आवश्यक है. अन-स्किल्ड मैनपावर के लिए
पाठ्यपुस्तक राशि बच्चों के खाता में दें: डीइओ
लखीसराय : बिहार राज्य राज्य स्टेट टेक्सटबुक कॉरपोरेशन के आलाधिकारियों की ओर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले में प्रथम से अष्टम वर्ग तक के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले सभी स्कूली छात्र-छात्राओं के बीच चालू शैक्षिक सत्र में पाठ्य पुस्तक खरीदने के लिए राज्य सरकार की ओर से आवंटित राशि का ससमय बैंकों के माध्यम से बच्चों के अकाउंट में हस्तांतरण करने के मामलों की समीक्षा की गयी.
महीने में सात दिन विद्यालय के लाखों बच्चों को नहीं मिलता मध्याह्न भोजन
कटिहार : जिले के प्रारंभिक विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य व पोषण को लेकर कई तरह की पहल की जा रही है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए मध्यान भोजन योजना शुरू की गयी. इस जिले में मध्याह्न भोजन योजना का क्रियान्वयन पूरी तरह भगवान भरोसे है. मध्याह्न भोजन योजना निदेशालय द्वारा जारी ताजा रिपोर्ट पर भरोसा करें तो विद्यालय में अध्ययनरत अधिकांश बच्चे मध्याह्न भोजन योजना के लाभ से वंचित है.
स्कूल में पढ़ने आयी तीन छात्राएं हुईं बेहोश
सीवान/भगवानपुर हाट/रघुनाथपुर : गर्मी भरी तपिश के बीच सोमवार को स्कूल खुलने के बाद पढ़ने आयी तीन छात्रा बेहोश हो गयी. इन छात्राओं के बेहोश होने के बाद छात्रों के बीच अफरा-तफरी मच गया. आनन-फानन में शिक्षकों ने छात्राओं का प्राथमिकी इलाज कराने के बाद घर भेजा.
पबजी खेलने पर मां-पिता ने डांटा, तो पुत्र ने फंदे से लटक दे दी जान
पबजी गेम ने गुरुवार देर रात इंटर में पढ़ने वाले 17 वर्षीय छात्र की जान ले ली. पबजी खेल में साथी सैनिकों के मारे जाने और उसके ऊपर से गेम खेलने से मना करने के लिए मां-पिता की डांट ने पीयूष कुमार (17) को आहत कर दिया. इसी आवेश में पीयूष ने गुरुवार देर रात ही फंदे से लटककर जान दे दी.
पबजी खेलने पर मां-पिता ने डांटा, तो छात्र ने दे दी जान
पबजी गेम ने इंटर में पढ़ने वाले छात्र की जान ले ली. पबजी खेल में साथी सैनिकों के मारे जाने और उसके ऊपर से गेम खेलने से मना करने के लिए मां-पिता की डांट ने 17 वर्षीय पीयूष कुमार को आहत कर दिया और उसने गुरुवार देर रात फंदे से लटककर जान दे दी. हबीबपुर थाने के दाऊद वाट निवासी राम विलास यादव जब गुरुवार देर रात 12 बजे बेटे के कमरे में गये, तो उन्होंने उसे घर में पंखे से फंदे के सहारे झूलता पाया. शुक्रवार की सुबह घटना की जानकारी पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने पीयूष के कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है.
चहल का खुलासा, शतरंज खेलने के कारण बल्‍लेबाजों की रणनीति पढ़ने में मिलती है मदद
यजुवेंद्र चहल ने शतरंज खिलाड़ी के रूप में अपने अतीत के दिनों से बल्लेबाजों की रणनीति को भांपना सीखा है और कप्तान विराट कोहली का मानना है कि यह क्षमता इस लेग स्पिनर को अपने साथी गेंदबाजों के बीच फायदे की स्थिति में रखती है.
जिले भर में हर्षोल्लास के साथ मना ईद-उल-फित्र
गढ़वा जिले में बुधवार को ईद-उल-फित्र का त्योहार पूरे अकीदत के साथ मनाया गया. मंगलवार को शाम को ही ईद का चांद देखे जाने के बाद मुसलिमों में उत्साह का माहौल था. सुबह में बच्चे से लेकर बूढ़े तक ईद की नमाज पढ़ने के लिए अपने मसजिद अथवा ईदगाहों में जाते देखे गये.
सजदे में झुके हजारों सिर, भाईचारगी से मनी ईद
गुमला जिले के सभी 12 प्रखंडों में प्रेम व भाईचारगी का पर्व ईद हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. पर्व को लेकर चारों ओर उत्साह देखा गया. विभिन्न मसजिदों में नमाज पढ़ने के बाद गले मिल कर लोगों ने एक-दूसरे को पर्व की बधाई दी. हर जाति व मजहब के लोग एक-दूसरे से गले मिले.
बुलंदशहर के भाजपा सांसद ने कहा- सड़कों पर नमाज पढ़ने वालों के खिलाफ होनी चाहिए कार्रवाई
बुलंदशहर: पश्चिमी यूपी के बुलंदशहर से सांसद भोला सिंह ने विवादास्पद बयान दिया है जिसपर हंगामा मच सकता है. उन्होंने कहा है कि त्योहारों को मनाते समय यह देखा जाना चाहिए कि इससे दूसरों को असुविधा न हो...यदि किसी धर्म के किसी त्योहार के कारण असुविधा होती है,
ईद की तैयारी पूरी, दिया गया दो लाख लीटर दूध का ऑर्डर
ईद-उल-फितर का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जायेगा. ईद के तैयारी को लेकर बाजारों में चहल-पहल देखी जा रही है. इजरा के मौलाना जमाल अब्दुल नासीर कासमी ने बताया कि ईद के दिन जिस रास्ते से नमाज पढ़ने ईदगाह या मस्जिद जाते हैं. पुन: उसी रास्ते से वापस नहीं आते हैं.
इत्तेहाद व इत्तेफाक का एक मकाम है ईदगाह
ईदगाह में ईदैन की नमाज अदा की जाती है. इत्तेहाद व इत्तेफाक का एक मकाम ईदगाह है. ईदगाह में ईद और बकरीद की नमाज पढ़ने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं. ईदगाह में हजारों अकिदतमंद नमाज अदा करने के लिए जुटते हैं. हजरत पैगंबर साहब भी खुले आसमान के नीचे ईदगाह में ईदैन की नमाज पढ़ाया करते थे. शहर में शाहजंगी, बरहपुरा व फतेहपुर में ईदगाह है.
युवाओं को अपनी रुचि का विषय पढ़ने की छूट दें गार्जियन : प्रो. अजय कुमार रे
पूर्वी भारत का सबसे बड़ा करियर फेयर ‘एजुकेशन इंटरफेस 2019’ का उद्घाटन शनिवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में किया गया. इस माैके पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित आइआइइएसटी के पूर्व डायरेक्टर प्रो. अजय कुमार रे ने कहा कि बंगाल में प्रतिभाओं की कमी नहीं है. युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए सही मेंटर की जरूरत है.
बंगाली समिति करेगी आंदोलन लगाया गया उपेक्षा का आरोप
रांची : झारखंड बंगाली समिति की केंद्रीय कमेटी की बैठक बुधवार को समिति के अध्यक्ष विद्रोह कुमार मित्रा की अध्यक्षता में हुई. मौके पर सदस्यों ने कहा कि द्वितीय राजभाषा की स्वीकृति मिलने के बाद भी आज बंगला भाषा झारखंड में उपेक्षित है. बैठक में सर्वसम्मति से आंदोलन का निर्णय लिया है. सदस्यों ने मांग की कि बंगला भाषा की पुस्तकें स्कूलों में पढ़ने वाले बंगाली विद्यार्थियों को नियमित रूप से उपलब्ध करायी जायें.