27 results found for ''तकनीक''
शिक्षा मंत्री ने माना कि नौकरियों की संख्या सीमित है, उम्मीदवारों की संख्या बढ़ रही है, कहा...
पटना : जेडीयू नेता और बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने कहा है कि ग्रुप डी पदों के लिए पांच लाख आवेदन आये हैं. उन्होंने माना कि बेरोजगारी है. नौकरियों की संख्या सीमित है. जबकि, उम्मीदवारों की संख्या बढ़ रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि इस समस्या को हल करने के लिए कोई तकनीक अपनाने की जरूरत है.
आंगनबाड़ी सेविका करेंगी डिजिटल तकनीक के माध्यम से जागरूक
आंगनबाड़ी सेविकाओं को इंटरनेट की जानकारी देने के उद्देश्य से प्रखंड मुख्यालय परिसर स्थित किसान भवन में प्रशिक्षण आयोजित की गयी. डिजिटल प्रशिक्षण तृतीय सत्र में प्रशिक्षिका सह महिला पर्यवेक्षिका ज्योति कुमारी, रूबी कुमारी व नीलम कुमारी द्वारा आंगनबाड़ी सेविकाओं को विभिन्न प्रकार के पंजी के बोझ से मुक्ति दिलाने से कॉमन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के माध्यम से हर तरह की कागजात को सुरक्षित रखने के लिए भारत सरकार द्वारा संचालित कार्यक्रमों की जानकारी दी गयी. प्रखंड के सभी 143 आंगनबाड़ी सेविकाओं को सरकार द्वारा नि:शुल्क आधुनिक मोबाइल दी गयी है.
स्वास्थ्य सेवा में तकनीक
डिजिटल तकनीक हमारे रोजमर्रा के जीवन का अहम हिस्सा होती जा रही है. प्रशासन, बैंकिग, उद्योग, खेती आदि अनेक क्षेत्रों में इससे सहूलियत बढ़ी है. अब आधुनिक तकनीकी माध्यमों के इस्तेमाल से स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने की दिशा में भी कोशिशें हो रही हैं.
रांची : जैप आइटी को तीन माह में अपग्रेड करें
रांची : मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी ने सूचना तकनीकी विभाग को यह निर्देश दिया है कि वह जैप आइटी व उसकी अनुषंगी इकाईयों को तीन माह के अंदर अपग्रेड कर लें. उन्होंने कहा कि सूचना तकनीक के माध्यम से विभिन्न विभागों से समन्वय बनाकर योजनाओं के क्रियान्वयन को त्रुटिहीन बनायें.
वैज्ञानिकों ने बांस लगाने की बतायी कई विधियां
अररिया : बिहार स्टेट बंबू मिशन के तहत रविवार व सोमवार को अररिया के कुसियारगांव के समीप स्थित करियात वन संसाधन केंद्र में बांस के पौधे तैयार करने का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया. वन विभाग के अधिकारियों व नर्सरी स्टाफ को नर्सरी में बांस के पौधे लगाने और उसे खेतों में विकसित करने के आठ-नौ तरह की तकनीक बतायी गयी.
लता मंगेशकर के "जबरा फैन" ने सहेजे उनके गीतों के 7,600 दुर्लभ ग्रामोफोन रिकॉर्ड
डिजिटल तकनीक की मेहरबानी के चलते आज इंटरनेट पर चंद पलों में मौसिकी का बड़ा खजाना आसानी से खोला जा सकता है. लेकिन एक दौर वह भी था, जब संगीत के संग्रह ग्रामोफोन रिकॉर्ड के जरिये लोगों के कानों तक पहुंचते थे
प्राणघातक रोग से बचे भारत
हाल में कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के निराकरण के लिए एक बहुत ही सुखद समाचार पढ़ने को मिला. विज्ञान एवं तकनीक, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन संबंधी संसद की स्थायी समिति ने कैंंसर की रोकथाम के लिए राज्यसभा के सभापति को अपने कुछ अमूल्य सुझाव दिये हैं, ताकि उस पर अमल करके इस जानलेवा बीमारी से हर साल सोलह लाख मरीजों में से 68 प्रतिशत यानी दस लाख नब्बे हजार के लगभग लोग मौत के मुंंह में चले जाते हैं, उनको बचाया जा सके.
पटना : आइआइटी रुड़की से कमला बलान बांध की सुरक्षा, बाढ़ प्रबंधन और जलमार्ग संबंधी तकनीक लेने की मंजूरी
पटना : आइआइटी रुड़की से कमलाबलान बांध की सुरक्षा, बाढ़ प्रबंधन और जलमार्ग संबंधी तकनीक प्राप्त करने के लिए राज्य कैबिनेट ने जल संसाधन विभाग के प्रस्ताव पर बुधवार को मुहर लगा दी. ऐसी तकनीकी सेवा प्राप्त करने के लिए एक करोड़ तीस हजार रुपये खर्च करने की मंजूरी मिली है. योजना को वर्ष 2019-20 में शुरू कर 31 मार्च, 2020 तक पूरा करने का कार्यक्रम है. जल संसाधन विभाग के सूत्रों का कहना है कि कमला बलान नदी में पिछले सौ वर्ष के अधिकतम बाढ़ स्तर का अध्ययन किया जायेगा.
बिहार के छात्र रवि प्रकाश को ‘ब्रिक्स-यूथ इनोवेटिव अवॉर्ड’
पश्चिम चंपारण के एक छोटे-से गांव हरसरी के युवा रवि प्रकाश ने दुनिया में भारत का सिर ऊंचा किया है. रवि प्रकाश ने 25,000 डॉलर (करीब 18 लाख रुपये) का ‘ब्रिक्स-यूथ इनोवेटिव अवॉर्ड’ जीता है. आइसीएआर-नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट, बेंगलुरु (एनडीआरआइ) के पीएचडी छात्र रवि को यह पुरस्कार कच्चे दूध को अत्यधिक ठंडा करने वाली स्वदेशी तकनीक के आविष्कार के लिए मिला है.
टूटेंगे ओल्ड स्टेशन के 500 क्वार्टर, बनेगी स्मार्ट कॉलोनी
धनबाद रेल मंडल की सबसे पुरानी ओल्ड स्टेशन कॉलोनी जल्द ही स्मार्ट रेल कॉलोनी में तब्दील होगी. कॉलोनी के जर्जर हो चुके 500 क्वार्टरों को ध्वस्त कर अधुनिक सुविधाओं और तकनीक से लैस क्वार्टर तैयार किये जायेंगे. कॉलोनी में मार्केट कॉम्प्लेक्स भी होगा. रेलवे बोर्ड ने निर्माण का जिम्मा रेलवे लैंड डेवलपमेंट अथॉरि
तकनीक को विकसित करने में विद्यार्थियों की भागीदारी अहम
इनोवेटिव आइडिया रोजाना तकनीक को नया आयाम दे रहे हैं. इससे न केवल विज्ञान के क्षेत्र में नये बदलाव संभव हो रहे हैं, समाज को फायदा भी मिल रहा है. तकनीक को विकसित करने में विद्यार्थियों की भागीदारी अहम है. यह बातें मंगलवार को विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र के पूर्व निदेशक व पद्मश्री से सम्मानित एम चंद्रदाथन ने बीआइटी में ''समाज के लिए तकनीक'' विषय में आयोजित सेमिनार में कही.
नक्सलियों की चुप्पी से खतरे का संदेह, IED बनाने में कर रहे नयी तकनीक का इस्तेमाल
रांची : नक्सली संगठन भाकपा माओवादियों के नक्सलियों ने आइइडी बनाने की नयी तकनीक हासिल है. इस कारण नक्सल प्रभावित इलाके में आइइडी सर्च अभियान के दौरान सुरक्षा को लेकर पुलिस की चुनौती बढ़ गयी है. पुलिस मुख्यालय के स्तर से नक्सलियों द्वारा आइइडी बनाने में इस्तेमाल की जानेवाली तकनीक को लेकर सभी जिलों के एसपी को जानकारी भी दी गयी है.
नक्सलियों की चुप्पी से खतरे का संदेह, IED बनाने में कर रहे नयी तकनीक का इस्तेमाल
रांची : नक्सली संगठन भाकपा माओवादियों के नक्सलियों ने आइइडी बनाने की नयी तकनीक हासिल है. इस कारण नक्सल प्रभावित इलाके में आइइडी सर्च अभियान के दौरान सुरक्षा को लेकर पुलिस की चुनौती बढ़ गयी है. पुलिस मुख्यालय के स्तर से नक्सलियों द्वारा आइइडी बनाने में इस्तेमाल की जानेवाली तकनीक को लेकर सभी जिलों के एसपी को जानकारी भी दी गयी है.
रांची : चीनी कंपनी व एचइसी में तकनीक लेने पर चर्चा
रांची : चीन की कंपनी सीआरआरसी के साथ एचइसी प्रबंधन की बैठक मंगलवार को एचइसी मुख्यालय में हुई. बैठक में कई नये क्षेत्रों में काम करने के लिए एचइसी ने सीअारआरसी से तकनीक लेने पर चर्चा की.
छक्के जड़ने के लिए ‘डोले-शोले' की जरूरत नहीं : रोहित शर्मा
भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा ने गगनचुंबी छक्के हिट करने की अपनी तकनीक के बारे में बात करते हुए कहा कि इसके लिए ताकत की नहीं बल्कि सही टाइमिंग की जरूरत होती है. भारत की गुरूवार को बांग्लादेश पर यहां आठ विकेट की जीत के नायक रहे रोहित ने 43 गेंद में 85 रन बनाये. कार्यवाहक कप्तान ने बीसीसीआई की अधिकारिक वेबसाइट पर युजवेंद्र चहल द्वारा इंटरव्यू वाले कार्यक्रम ‘चहल टीवी'' पर यह बात कही.
पर्यावरण संरक्षण को लेकर प्रशासन सख्त
आरा : पर्यावरण की सुरक्षा संरक्षण एवं संवर्धन के लिए जिला प्रशासन सतत प्रयत्नशील एवं कटिबद्ध है. इसके लिए जन जागरूकता कार्यक्रम से लेकर आधुनिक एवं वैज्ञानिक कचरा प्रबंधन की तकनीक को अपनाकर स्वच्छ, स्वस्थ एवं सुंदर वातावरण के निर्माण के लिए प्रयास किया जा रहा है.
भारत में बढ़ रहा है जियोमेटिक्स का दायरा, इन क्षेत्रों में मिलेंगी रोजगार की नवीन संभावनाएं
जीआईएस या जियोमेटिक्स एक नई वैज्ञानिक अवधारणा है इसका इस्तेमाल जियोग्राफिकल इंफॉर्मेशन साइंस या जियोस्पेशल इंफॉर्मेशन स्टडीज में होता है. पाठ्यक्रम के दृष्टिकोण से ये जियोइंफॉर्मेटिक्स विषय की एक शाखा है. इस विषय के सिद्धांतों को आधार बनाकर तैयार की गई तकनीकों को जियोस्पेशल टेक्नोलॉजी कहा जाता है. इस तकनीक की मदद से सभी तरह की भौगोलिक सूचनाओं को इकट्ठा करके उनका संग्रहण, विश्लेषण और प्रबंधन किया जा सकता है. इस कार्य में जियोग्राफिक इंफॉर्मेशन सिस्टम (जीआईएस), ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) और रिमोट सेंसिंग का प्रयोग किया जाता है.
अब कश्मीर की तरह देवघर में भी उपजेंगे सेब
अमरनाथ पोद्दार, देवघर : तकनीक आधारित खेती कैसे िकसानों की आमदनी बढ़ाने में सहायक हो सकती है, इसका उदाहरण है मोहनपुर का गौरांग ऑर्गेनिक फॉर्म. बाबानगरी की धरती पर सेब की खेती की शुरुआत हुई है. शहर से पांच किलोमीटर दूर मोहनपुर प्रखंड के बेलाटिल्हा गांव में पहली बार गौरांग ऑर्गेनिक फॉर्म में सात एकड़ जमीन पर सेब की खेती की जा रही है.
इस तरह बिना बिजली के भी कम होंगे तापमान, वैज्ञानिकों ने विकसित की नयी विधि
नई दिल्‍ली : बिना बिजली के किसी भी उपकरण को ठंडा करने की बात भी सोचना भी कहठन है. लेकिन अब वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक विकसित की है जिससे चमकती धूप में रखा यंत्र किसी भी सामान को ठंडा करने में सक्षम होगा. परीक्षण दौर में यह पद्धति करीब 23 डिग्री फॉरेटहाइट तक तापमान में कमी करने में सफलता पायी है. चिली देश और एमआइटी के विशेषज्ञों ने इस विधि को विकसित किया है.
देवघर की धरती पर हो रही सेब की ऑर्गेनिक खेती
देवघर : तकनीक आधारित खेती कैसे किसानों की आमदनी बढ़ाने में सहायक हो सकती है, इसका उदाहरण है मोहनपुर का गौरांग ऑर्गेनिक फॉर्म. बाबानगरी की धरती पर सेब की खेती की शुरुआत हुई है. शहर से पांच किलोमीटर दूर मोहनपुर प्रखंड के बेलाटिल्हा गांव में पहली बार गौरांग ऑर्गेनिक फॉर्म में सात एकड़ जमीन पर सेब की खेती की जा रही है.