18 results found for ''जगदीप''
सीयू के दीक्षांत समारोह के आमंत्रण कार्ड में चांसलर का नाम नहीं
28 जनवरी को होने वाले कलकत्ता यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह के आमंत्रण पत्र को लेकर राजनीति गरमा गयी है. इस आमंत्रण पत्र में विश्वविद्यालय के चांसलर व राज्यपाल जगदीप धनखड़ का नाम नहीं है. इस विषय में कलकत्ता यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर सोनाली बनर्जी से सम्पर्क किया गया लेकिन वह फोन पर उपलब्ध नहीं हुईं.
जसराज को संस्कृति सौरभ सम्मान
पद्मविभूषण पंडित जसराज का राजभवन में एक अभूतपूर्व सांस्कृतिक कार्यक्रम राज्यपाल जगदीप धनखड़ कराना चाहते हैं. श्री धनखड़ ने कहा कि उनकी इच्छा ऐसा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कराने की है, जैसा आजादी के बाद राजभवन में कभी न हुआ. पंडित जसराज की सुविधानुसार और उनकी पंसदीदा तिथि को यह कराया जा सकता है.
मॉब लिंचिंग व एससी एसटी कमीशन विधेयक पर राज्यपाल ने की बैठक
राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने लंबित विधेयकों पर चर्चा के लिए विधानसभा के सभी विधायक दल के नेताओं को बैठक के लिए आमंत्रित किया था. राज्यपाल द्वारा बुलायी गयी बैठक में सिर्फ माकपा, कांग्रेस व भाकपा के विधायक ने हिस्सा लिया.
सीएम को बयान वापस लेना चाहिए : राज्यपाल
राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अपने उस बयान को वापस लेना चाहिए, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बंगाल की धरती पर उतरने की अनुमति नहीं देंगी. राज्यपाल ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि राज्य सरकार को केंद्र सरकार के साथ अपनी दूरियाें को समाप्त करना होगा. केंद्र व राज्य के बीच खाई को पाटा जाना चाहिए.
राम मंदिर पर फैसला स्वर्णाक्षरों में लिखा जायेगा : राज्यपाल
कोलकाता : मिथिला महोत्सव-2020 में बतौर अतिथि पहुंचे राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने जहां मिथिला की भूमि को इतिहास का एक हिस्सा बताया, वहीं उन्होंने कहा कि 2019 को भारत के इतिहास में स्वर्णाक्षरों से लिखा जायेगा. राज्यपाल ने कहा कि जिस राम मंदिर को लेकर लंबे समय से मुकदमा चल रहा था, उस मंदिर को अब भगवान राम के मंदिर को भारत के संविधान के तहत बनाया जायेगा.
राज्यपाल व मंत्रियों के बीच फिर जुबानी जंग
राज्यपाल जगदीप धनखड़ व राज्य के मंत्रियों के बीच जुबानी जंग तेज हो गयी है. सपत्नीक सरकारी कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के कटाक्ष से नाराज राज्यपाल ने कहा कि इससे उनकी संकुचित मानसिकता झलकती है. मुख्यमंत्री भी एक महिला हैं, ऐसे में उन्हें हस्तक्षेप करना चाहिए और शिक्षा मंत्री को अनुचित बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए.
टिकट बंटवारे के बाद AAP में नाराजगी, शास्‍त्री के बाद विधायक जगदीप ने भी दिया इस्‍तीफा
आम आदमी पार्टी के हरिनगर से विधायक जगदीप सिंह ने शनिवार को कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं दिए जाने पर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.
टिकट बंटवारे के बाद AAP में नाराजगी, शास्‍त्री के बाद विधायक जगदीप ने भी दिया इस्‍तीफा
आम आदमी पार्टी के हरिनगर से विधायक जगदीप सिंह ने शनिवार को कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं दिए जाने पर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.
राज्यपाल की सर्वदलीय बैठक में शामिल नहीं हुईं मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्यपाल जगदीप धनखड़ की ओर से दो विधेयकों पर चर्चा के लिए शुक्रवार को बुलायी गयी सर्वदलीय बैठक में ‘व्यस्तताओं’ के कारण शामिल नहीं हुईं. राजभवन ने एक बयान में कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय ने राज्यपाल के सचिवालय को सूचित किया कि शुक्रवार को पहले से तय कार्यक्रमों के कारण मुख्यमंत्री के लिए बै
दिल्‍ली विधानसभा चुनाव : जानें, हरि नगर के विधायक जगदीप सिंह के बारे में...
जगदीप सिंह हरि नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. 2015 में इन्‍होंने आम आदमी पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ा और अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के अपतार सिंह हित को 26496 मतों के अंतर से हराया. इनके पिता का नाम सरदार जगदीश सिंह है. इनकी पढ़ाई 12वीं तक हुई है और इनका पेशा स्‍वरोजगार है.
हिंसा मामले में बंगाल की छवि सुधारने की जरूरत
हिंसा के मामले में पश्चिम बंगाल की पूरे देश में एक अलग छवि बन चुकी है. इसे सुधारने की आवश्यकता है. सभी को प्रयास करना चाहिए कि 2020 में बंगाल एक शांतिपूर्ण राज्य के रूप में उभरे, जहां कानून और मर्यादा के खिलाफ कोई नहीं जाता है. ये बातें राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने गुरुवार को इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम ‘सक्षम 2020’ में कहीं.
राज्यपाल ने बुलायी बैठक मुख्यमंत्री ने ठुकरायी
राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा पश्चिम बंगाल (लिंचिंग रोकथाम) विधेयक, 2019 और पश्चिम बंगाल राज्य अनुसूचित जाति व जनजाति आयोग विधेयक, 2019 से संबंधित दो लंबित मामलों पर चर्चा के लिए बुलायी गयी बैठक में मुख्यमंत्री ने व्यस्तता बताते शामिल होने से इंकार कर दिया है.
राज्यपाल फिर बोले- अर्जुन के बाणों में थी परमाणु शक्ति
महाभारत के महाकाव्य में वर्णित अर्जुन के बाणों में परमाणु शक्ति होने के अपने दावे की आलोचना के बावजूद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बुधवार को अपने रुख से हटने से इनकार कर दिया और अपने आलोचकों से भारतीय इतिहास एवं संस्कृति का अध्ययन करने को कहा. राज्यपाल ने कहा कि वह बड़ी गंभीरता से यह मानते हैं कि भारत 4,000 साल पहले विश्व नेता था.
पार्थ ने फिर की राज्यपाल की आलोचना
कोलकाता : राज्य के शिक्षा मंत्री व तृणमूल नेता पार्थ चटर्जी ने एक बार फिर राज्यपाल जगदीप धनखड़ की आलोचना की है. रविवार को बेहला में आयोजित एक कार्यक्रम में संवाददाताओं से मुखाबित हुए श्री चटर्जी ने कहा कि राज्यपाल हर एक मुद्दे पर बयान देने से नहीं चूकते हैं. यदि वे ऐसा नहीं करें तो उन्हें लोगों से और ज्यादा सम्मान मिलेगा.
राज्यपाल का कॉफी के बहाने सीएम को बातचीत का न्यौता
राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कॉफी पीने का न्यौता दिया है और कॉफी के बहाने ही वह उनके साथ बैठक भी करेंगे. राज्यपाल ने शुक्रवार को ट्वीटर के माध्यम से कहा कि वह इसके लिए स्थान खुद चुन लें, इतना तय है कि कॉफी इंडियन कॉफी हाउस से ही आयेगी. धनखड़ ने कहा, हमें हमेशा राज्य के कल्याण को प्राथमिकता देनी चाहिए.
"शिक्षण संस्थानों में हिंसा बर्दाश्त नहीं" : राज्यपाल
जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) व जादवपुर विश्वविद्यालय में हुई हिंसक घटनाओं व लाठीचार्ज के बाद राज्यपाल सह कुलाधिपति जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को कहा कि शैक्षणिक संस्थानों में हिंसा और अराजकता को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए. राज्यपाल धनखड़ ने ट्वीट कर कहा : शैक्षणिक संस्थानों में हिंसा और अराजकता चिंताजनक है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए.
बंगाल के राज्यपाल ने की पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट की जांच की मांग
कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राज्य में एक पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट की जांच की मांग की है. शुक्रवार को हुए इस विस्फोट में 5 लोगों की मौत हो गयी थी. शनिवार को राज्यपाल ने कहा कि इसके लिए प्रशासन को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए, क्योंकि ऐसे आरोप हैं कि कारखाने में देसी बम बनाये जा रहे थे.
हिंदी यूनिवर्सिटी की स्थापना का रास्ता हुआ साफ
पश्चिम बंगाल में पहला हिंदी विश्वविद्यालय की स्थापना का रास्ता अब साफ हो गया है. राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ''द हिंदी यूनिवर्सिटी, पश्चिम बंगाल बिल 2019'' को मंजूरी दे दी है. शुक्रवार को राजभवन की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि राज्यपाल ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 200 के तहत हिंदी विश्वविद्यालय बिल पर अपनी मंजूरी दे दी.