14 results found for ''चंद्रयान''
इसरो ने की घोषणा : चंद्रयान-2 को अब 22 जुलाई को किया जायेगा प्रक्षेपित
भारत का चांद पर दूसरा महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 अब 22 जुलाई को अपराह्न दो बजकर 43 मिनट पर रवाना होगा. अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने यह जानकारी दी. वैज्ञानिक जीएसएलवी-एमके-थ्री एम1 रॉकेट में हुई तकनीकी खराबी को ठीक कर रहे हैं. तीन दिन पहले इसमें तकनीकी गड़बड़ी आने के बाद चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण रोक दिया गया था.
इतिहास रचने को भारत तैयारः ISRO ने की घोषणा- 22 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान 2
इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन (इसरो) ने चंद्रयान -2 की लांचिंग को लेकर नयी घोषिणा की है. चंद्रयान-2 अब 22 जुलाई को 2 बजकर43 मिनट पर लांच होगा.
चंद्रयान-2 की लॉन्चिंगः अब दो माह करना होगा इंतजार, तकनीकी कारणों से रोकना पड़ा प्रक्षेपण
श्रीहरिकोटाः अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए बेहद महत्वपूर्ण चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण में अब कम से कम दो महीने का वक्त लग सकता है.
Chandrayaan 2 लॉन्च टाले जाने पर पूर्व इसरो प्रमुख ने चंद्रयान-1 के बारे में कही यह बात...
नयी दिल्ली : चंद्रयान-दो का प्रक्षेपण टाले जाने के कुछ घंटे बाद पूर्व इसरो प्रमुख के माधवन नायर ने सोमवार को याद दिलाया कि चांद के लिए भारत के पहले मिशन में भी रॉकेट के प्रक्षेपण के कुछ पहले इसी तरह की गड़बड़ी का सामना करना पड़ा था.
चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग रद्द पर इसरो की हो रही तारीफ
चंद्रयान के प्रक्षेपण में सतर्कता बरतने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की तारीफ करते हुए विभिन्न अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने कहा है कि भारत के दूसरे चंद्रमा मिशन चंद्रयान -2 के प्रक्षेपण को समय रहते रद्द करने के लिए अंतरिक्ष एजेंसी की प्रसंशा करनी चाहिए.
चंद्रयान-2 की तकनीकी कारणों से लॉन्चिंग टाली गई, जल्द होगी नई तारीख़ की घोषणा
आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से चंद्रयान-2 को छोड़ा जाना था लेकिन अभी इसे टाल दिया गया है.
तकनीकी खामी की वजह से रोकी गयी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, चंद मिनट पहले आयी खबर, राष्‍ट्रपति थे मौजूद
श्रीहरिकोटा : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग तकनीकी कारणों से रोक दी गयी है. लॉन्च से ठीक 56.24 सेकंड पहले चंद्रयान-2 का काउंटडाउन रोकने की खबर आयी. अगली तारीख की घोषणा जल्द की जाएगी.
तकनीकी खामी की वजह से टला चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण, 56 मिनट 54 सेकंड पहले उल्टी गिनती रोकी गयी
श्रीहरिकोटा : भारत ने सोमवार तड़के होने वाले चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण को तकनीकी खामी की वजह से टाल दिया है.इसके लिए अब नई तारीख की घोषणा की जाएगी.भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने ट्वीट किया, ‘‘प्रक्षेपण यान में टी-56 मिनट पर तकनीकी खामी दिखी.
चंद्रयान-2: चांद के दक्षिणी धुव्र पर उतरने वाला पहला स्पेसक्राफ्ट
इसरो अध्यक्ष के मुताबिक रोवर के एक पैर पर अशोक चक्र और दूसरे पर इसरो का प्रतीक छपा हुआ है.
रांची : अंतरिक्ष विज्ञान कठिन नहीं, मन का विषय बनायें
रांची : डीपीएस की नौवीं की छात्रा धृति वर्णवाल ने कहा कि अंतरिक्ष विज्ञान को मन का विषय बनायें. विज्ञान कठिन नहीं है. उसने कहा कि इसरो भ्रमण से अर्जित ज्ञान को छात्राओं के बीच बांटने से बेहद खुशी महसूस हो रही है. श्रीहरिकोटा में हमने लाइव रॉकेट लांचिंग को देखा. साथ ही इसी महीने लांच होने वाले चंद्रयान को हमने नजदीक से देखते हुए उसकी कार्यप्रणाली के बारे में जाना. धृति इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय में प्रमंडल स्तरीय दो दिवसीय युवा विज्ञान कार्यशाला के समापन मौके पर बोल रही थी.
चंद्रयान-2 कल होगा लॉन्च, तैयारियां पूरी, दो माह बाद उतरेगा दक्षिणी ध्रुव पर, जानें इस मिशन का उद्देश्य
मिशन चंद्रयान की तैयारी पूरी l चांद की सतह पर उतारने का लक्ष्य, 2008 में चंद्रयान-1 चंद्रमा की कक्षा में गया था मिशन की लागत 978 करोड़ रुपये है, वजन 3877 किलोग्राम है नयी दिल्ली : भारत अपने महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 को सोमवार तड़के 2:51 बजे पर श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से लॉन्च करेगा.
Chandrayaan 2 Launch: ISRO के नये मिशन के बारे में सबकुछ जानें यहां, देखें PICS
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, यानी इसरो 15 जुलाई, 2019 की सुबह 2:51 पर ''चंद्रयान 2'' लॉन्च करने जा रहा है. चंद्रमा के लिए भारत का यह दूसरा मिशन श्रीहरिकोटा से लॉन्च होगा. लॉन्चिंग के कई हफ्तों बाद यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग करेगा. यह वह हिस्सा है, जहां आज तक दुनिया का कोई अंतरिक्ष यान नहीं उतरा है.
Chandrayaan 2 Launch: ISRO के नये मिशन के बारे में सबकुछ जानें यहां, देखें PICS
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, यानी इसरो 15 जुलाई, 2019 की सुबह 2:51 पर ''चंद्रयान 2'' लॉन्च करने जा रहा है. चंद्रमा के लिए भारत का यह दूसरा मिशन श्रीहरिकोटा से लॉन्च होगा. लॉन्चिंग के कई हफ्तों बाद यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग करेगा. यह वह हिस्सा है, जहां आज तक दुनिया का कोई अंतरिक्ष यान नहीं उतरा है.
ISRO के वैज्ञानिकों के वेतन पर चली सरकारी कैंची, मिशन चंद्रयान-2 से पहले भत्तों में की कटौती
एक तरफ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिक मिशन मून के तहत चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग में लगे हैं. वहीं, दूसरी तरफ केंद्र सरकार इसरो के वैज्ञानिकों के वेतन भत्ते में कटौती कर रही है.