17 results found for ''गुजर-बसर''
सुपरहिट फिल्‍म ‘थोर' के अभिनेता ने की आत्महत्या, मौत से पहले लिखा ये पोस्‍ट
लॉस एंजिलिस : ‘थोर'' फिल्म में अपने अभिनय के लिए पहचाने जाने वाले अभिनेता इसाक कैपी ने एक पुल से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली. अभिनेता ने एरिजोना में एक राजमार्ग पर एक पुल से कथित तौर पर छलांग लगा दी. 42 वर्षीय कैपी को दो किशोरों ने रोकने की भी कोशिश की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ क्योंकि वहां से गुजर रहे एक वाहन से अभिनेता की टक्कर हुई.
गला काट कर दी गयी हत्या, रात में रेलवे लाइन पर फेंका मिला शव
: हजारीबाग के पदमा ओपी क्षेत्र मिस्त्री मुहल्ला निवासी सुरेंद्र सिंह के 12 वर्षीय नाती प्रिंस कुमार उर्फ लक्की की धारदार हथियार से गला काट कर हत्या कर दी गयी और शव को रेल लाइन पर फेंक दिया गया. रात्रि में रेलवे लाइन से गुजर रही मालगाड़ी से शव का दोनों पैर कट कर अलग हो गया. घटना के बाद पूरे इलाके के लोग सकते में हैं. इधर, घटना के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट चुकी है.
आत्महत्या करने जा रही महिला सड़क किनारे हुई बेहोश, पुलिस ने कराया भर्ती
पारिवारिक कलह से तंग आकर एक महिला अपने दो मासूम बच्चों के साथ मंगलवार की सुबह नदी में डूबकर आत्महत्या करने जा रही थी. लेकिन वह रास्ते में ही बेहोश होकर गिर गयी. जिसके कारण उसकी जान बच गयी़ रास्ते से गुजर रही पुलिस की गश्ती टीम ने महिला को सड़क किनारे बेहोश और बच्चों को रोता देखा तो पास पहुंची.
दुर्गावती : मवेशियों से भरा कंटेनर जब्त, तस्कर गिरफ्तार
दुर्गावती : दुर्गावती थाना क्षेत्र के कुल्हड़ियां रेलवे फाटक के समीप से गुजर रहे 35 पशुओं से भरे एक कंटेनर को पुलिस ने रविवार की रात पकड़ लिया.
तार की चपेट में आने से हुई एक की मौत
थाना क्षेत्र के डाडी गांव में सोमवार की सुबह की 11 हजार वोल्ट विद्युत तार की चपेट में आने से दशरथ महतो (40) की मौत हो गयी था. वह खेती बाड़ी कर परिवार का भरण पोषण करता था. जानकारी के अनुसार डाडी गांव से एक वाहन गुजर रहा था. इसी दौरान वाहन से टकराकर एलटी तार टूट कर दशरथ के घर गिर पर गया,
ठगी की शिकार हुईं निंगनी की कुछ महिलाएं
सदर प्रखंड के निंगनी गांव में महिलाओं से अज्ञात महिलाओं ने आभूषण की ठगी कर ली. महिलाएं लालच में आकर खानाबदोश की जिंदगी बसर करनेवाली महिलाओं के झांसा में पड़ गयीं. बताया जाता है कि खानाबदोश जिंदगी बसर करनेवाली महिलाओं का एक दल निंगनी गांव पहुंचा. इस दल की म
35 मवेशियों से भरा कंटेनर जब्त, पशु तस्कर गिरफ्तार
दुर्गावती : थाना क्षेत्र के कुल्हड़ियां रेलवे फाटक के समीप से गुजर रहीे35 पशुओं से भरे एक कंटेनर को पुलिस ने रविवार की रात पकड़ लिया. वहीं, कंटेनर को जब्त करने के बाद पशुओं को सुरक्षा की दृष्टि से क्षेत्र के एक पशु मेला को सौंप दिया. जानकारी के अनुसार पशु तस्कर नुआंव से एक कंटेनर में मवेशियों को भर कर पूर्णिया के दालकोला ले जा रहे थे.
25 हजार वोल्ट तार के नीचे से गुजर रहीं बसें, अनदेखी से कभी भी हो सकता है खतरा
नवादा नगर : आपके जान की कीमत क्या है? यह कभी अपनों से पूछ कर देंखे. आये दिन लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर यात्रा कर रहे हैं. शादी व लगन के कारण ओवरलोडेड गाड़ियों को सड़कों पर दौड़ाया जा रहा है.
रांची : हाइस्कूल शिक्षक चयन को लेकर मेरिट में समानता नहीं
रांची : राज्य के हाइस्कूलों में 17,572 शिक्षकों की नियुक्ति के लिए संयुक्त स्नातक प्रशिक्षित शिक्षक प्रतियोगिता परीक्षा-2016 की प्रक्रिया वर्तमान में भी जारी है. वर्ष 2019 के मई माह गुजर रहा है, लेकिन प्रक्रिया पूरी नहीं हो पायी है. 24 जिलों का आयोग रिजल्ट जारी कर चुका है, लेकिन सात जिलों में ही नियुक्ति हो पायी है. उक्त प्रतियोगिता परीक्षा नवंबर 2017 में झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ली गयी थी.
खूंटी: शहरी जलापूर्ति योजना का कार्य अधर में लटका है
खूंटी नगर पंचायत के हर घर में पाइप लाइन से जलापूर्ति किये जाने की योजना का शिलान्यास इस वर्ष जनवरी माह में हुआ. शिलान्यास के चार माह गुजर गये पर कार्य शुरू नहीं हुआ है. वर्तमान में खूंटी नगर पंचायत क्षेत्र के सभी वार्ड में पेयजलापूर्ति की सुविधा नहीं है. गर्मी के मौसम में संबंधित वार्ड में पेयजल की किल्लत से आमलोग परेशान हैं.
कैंसर से जंग में मनीषा कोइराला मददगार रहीं : सोनाली बेंद्रे
बेंगलुरु : कैंसर पर जीत पाने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे ने कहा कि अभिनेत्री मनीषा कोइराला इस बीमारी से जंग लड़ने में उनके लिए काफी मददगार साबित हुईं. फिक्की के एफएलओ (बेंगलुरु चैप्टर) की ओर से बुधवार शाम यहां आयोजित बातचीत के एक सत्र में सोनाली ने कहा, “मनीषा (कोइराला) बड़ी मददगार रहीं. वह इससे गुजर चुकी हैं और इससे उबर चुकी हैं. उन्होंने इस बारे में एक खूबसूरत किताब भी लिखी है.”
आसमान से बरस रही आग, तप रहा झारखंड, राजधानी @40 डिग्री, डकरा का पारा 45.1 पर पहुंचा
रांची : चक्रवाती तूफान ‘फनी’ के असर से झारखंड के लोगों को दो-तीन दिनों तक गर्मी से राहत मिली थी. लेकिन, उसके गुजर जाने के बाद एक बार फिर से गर्मी अपने तेवर दिखाने लगी है. आसमान से मानो आग बरस रही है, जिससे झारखंड के लगभग सभी जिले तप रहे हैं. इस बीच कोडरमा में लू लगने से एक बिरहोर परिवार के बच्चे की मौत की सूचना है.
एक और शिक्षिका ने तबादले की लगायी गुहार
प्रखंड क्षेत्र के माधोपुर गांव स्थित करीब 96 वर्ष पुराना स्कूल अब तक के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है. पिछले करीब तीन सालों में स्कूल के प्रधानाध्यापक समेत चार शिक्षकों ने विद्यालय शिक्षा समिति अध्यक्ष पर हिंसात्मक व्यवहार का आरोप लगाते हुए दूसरे स्कूलों में तबादला या प्रतिनियुक्ति करा चुके हैं.
रेलवे की नोटिस से सहमे महादलित, हो जायेंगे बेघर
सहरसा : रेलवे द्वारा वार्ड 19 स्थित बस स्टैंड के पीछे बसे महादलित परिवारों को रेलवे की जमीन खाली करने को लेकर दिये गये नोटिस पर महादलित परिवारों ने कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद प्रभात रंजन को आवेदन देकर अन्यत्र बसाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि रेलवे की खाली भूखंड पर पिछले 20 से 25 वर्षों से रह कर सभी महादलित परिवार नगर परिषद क्षेत्र की साफ सफाई कर अपने परिवार का गुजर बसर कर रहे हैं.
जिला बने बीत गये 18 साल अब तक नहीं बना जेल भवन
अरवल : अरवल को जिला बने हुए 18 वर्ष गुजर गये, लेकिन अभी तक जिले में जेल का निर्माण नहीं हो पाया है. जेल नहीं होने के कारण जहानाबाद जेल में जिले के कैदियों को रखा जाता है. हर दिन करीब 45 किलोमीटर की दूरी तय कर जहानाबाद काको से कैदी को कोर्ट में पेश किया जाता है.
बेटी व बेटे की शादी के लिए रखे रुपये व अनाज चढ़े आग की भेंट
सूर्यगढ़ा : कजरा थानाक्षेत्र के गौसपुर गांव में सोमवार तड़के आग लग जाने से व्यापक नुकशान होने की सूचना है. जानकारी के मुताबिक गौसपुर निवासी गरीबी रेखा के नीचे बसर करने वाले विनोद साव, कंपनी साव अर्जुन साव, लक्ष्मण साव, नागेश्वर साव एवं सुरेश साव सहित कुल छह ग्रामीणों के घर में आग लग जाने से हजारों की संपत्ति जलकर स्वाहा हो गयी.
सिलीगुड़ी से चुपचाप निकल गया चक्रवाती तूफान फोनी
दक्षिण भारत के कुछ शहरों और राज्य के कोलकाता तथा आसपास के इलाकों में कहर बरपाने के बाद चक्रवाती तूफान फोनी की ताकत खत्म हो गयी. सिलीगुड़ी शहर में इस तूफान ने कब दस्तक दी और कब गुजर गया,किसी को पता ही नहीं चला. जबकि फोनी को लेकर ना केवल सिलीगुड़ी शहर के आमलोगों बल्कि नगर निगम और प्रशासन की भी नींद उड़ी हुई थी.