14 results found for ''गणित''
छत्तीसगढ़ में यूपी-बिहार जैसा नहीं है जाति का गणित: लोकसभा चुनाव 2019
छत्तीसगढ़ में भी जातिगत राजनीति ज़ोर पकड़ रही है लेकिन ये अलग किस्म की है.
चुनाव में अंदरखाने चल रहा है जोड़-तोड़ का खेल, विभीषणों पर डोरा, वोट बैंक में सेंधमारी का फेरा
रांची : लोकसभा चुनाव में शह-मात का खेल चल रहा है़ एक-एक वोट का गणित दुरुस्त किया जा रहा है़ एनडीए-यूपीए के बीच चुनावी जंग में अंदरखाने खेल चल रहा है़
चुनाव में अंदरखाने चल रहा है जोड़-तोड़ का खेल, विभीषणों पर डोरा, वोट बैंक में सेंधमारी का फेरा
रांची : लोकसभा चुनाव में शह-मात का खेल चल रहा है़ एक-एक वोट का गणित दुरुस्त किया जा रहा है़ एनडीए-यूपीए के बीच चुनावी जंग में अंदरखाने खेल चल रहा है़
प्रत्याशियों की तकदीर इवीएम में हो गयी बंद
किशनगंज : किशनगंज लोकसभा सीटों पर चुनाव संपन्न होने के बाद सभी प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई है. इन्हीं वोटों के आधार पर हार-जीत का फैसला भी होगा. यह तय है कि अब वोटों में कोई बदलाव मुमकिन नहीं है. इसके बावजूद मतदान प्रक्रिया निपटते ही दिमागी गणित लगना शुरू हो गया है.
पटना : मदरसों में विज्ञान-गणित के 3384 शिक्षक होंगे नियुक्त
पटना : बिहार के 1128 मदरसों में 3384 से अधिक विज्ञान शिक्षकों की नियुक्ति की जायेगी. केंद्र सरकार के विशेष स्कीम के तहत यह कवायद की जानी है. जून में शुरू होने वाले नये शैक्षणिक सत्र में यह नियुक्ति होनी
गणित के सवाल में जेंडर का प्रश्न
गणित में सवाल आता है- किसी काम को 5 पुरुष 10 दिनों में तथा 5 महिलाएं 15 दिनों में कर सकती हैं, तो 2 पुरुष और 3 महिलाएं इसे कितने दिनों में पूरा करेंगे? ऐसे सवाल आपने खूब हल किये होंगे. गणित के लिहाज से इस सवाल में कुछ भी अस्वाभाविक नहीं है और अधिकतर लोग इस सवाल को आसानी से हल भी कर लेंगे.
48 घंटे के भीतर गोली चलानेवाले की हो गिरफ्तारी
शहर के कोर्रा बाबूगांव में गणित के शिक्षक एस लाल को गोली मारने की घटना को लेकर कोर्रा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. पुलिस गोली चलानेवाले आरोपियों की तलाश में जुट गयी है.पुलिस के अनुसार शिक्षक पर फायरिंग करनेवाले की पहचान कर ली गयी है.
अररिया में निर्दलीय बिगाड़ सकते हैं खिलाड़ियों का खेल
अररिया : अररिया में नामांकन व स्क्रूटनी के बाद मैदान में अब 13 उम्मीदवार रह गये हैं. लेकिन, तस्वीर अब भी साफ नहीं हुई है कि मतदाता किस तरफ अपना झुकाव रखेंगे. इस बार की टक्कर एनडीए व महागठबंधन के बीच ही माना जा रहा है, लेकिन मैदान में डटे 10 निर्दलीय उम्मीदवार विभिन्न धर्म व जाति से आते हैं. ऐसे में यह संभव है कि निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव के गणित को बिगाड़ सकते हैं. बहरहाल वर्तमान परिस्थिति में महागठबंधन व एनडीए के बीच ही चुनावी घमसान के आसार दिख रहे हैं.
अररिया में निर्दलीय बिगाड़ सकते हैं खिलाड़ियों का खेल
अररिया : अररिया में नामांकन व स्क्रूटनी के बाद मैदान में अब 13 उम्मीदवार रह गये हैं. लेकिन, तस्वीर अब भी साफ नहीं हुई है कि मतदाता किस तरफ अपना झुकाव रखेंगे. इस बार की टक्कर एनडीए व महागठबंधन के बीच ही माना जा रहा है, लेकिन मैदान में डटे 10 निर्दलीय उम्मीदवार विभिन्न धर्म व जाति से आते हैं. ऐसे में यह संभव है कि निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव के गणित को बिगाड़ सकते हैं. बहरहाल वर्तमान परिस्थिति में महागठबंधन व एनडीए के बीच ही चुनावी घमसान के आसार दिख रहे हैं.
पटना : हिंदी और गणित के लिए होगी एक घंटे की अतिरिक्त क्लास
पटना : समग्र शिक्षा अभियान के तहत विशेष रूप से पटना जिले में कक्षा एक और दो के बच्चों में ठीक से हिंदी बोलने, लिखने और समझने की प्रवृत्ति विकसित करने के लिए विशेष रचनात्मक कार्यक्रम चालू सत्र से प्रारंभ किया जायेगा. इसी कार्यक्रम के तहत बच्चों में गणित का बेस मजबूत और समझ विकसित करने के लिए विशेष अभ्यास कराये जायेंगे.
सियासी गणित : आंध्र-महाराष्ट्र से मिलती थी कांग्रेस पार्टी को ‘धार’
आंध्र प्रदेश की 42 सीटों में 13 और महाराष्ट्र की 48 सीटों में 12 ऐसी रही हैं, जिन्हें कांग्रेस का किला कह सकते हैं. इन सीटों पर कांग्रेस 10 से 13 बार तक लोकसभा चुनाव जीती है. कांग्रेस के इतिहास में सबसे बुरा दौर माने जाने वाले आपातकाल के बाद हुए 1977 के चुनावों में भी इन सीटों पर कांग्रेस को जीत मिली थी. हालांकि, 2014 के चुनाव में दोनों राज्यों के इन जिताऊ संसदीय क्षेत्रों ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया. जिन 25 संसदीय क्षेत्रों पर कांग्रेस को गुमान था, वह ताश के पत्तों की तरह ढह गये. महाराष्ट्र की नांदेड़ सीट को छोड़ सभी सीटें कांग्रेस हार गयी.
सियासी गणित : आंध्र-महाराष्ट्र से मिलती थी कांग्रेस पार्टी को ‘धार’
आंध्र प्रदेश की 42 सीटों में 13 और महाराष्ट्र की 48 सीटों में 12 ऐसी रही हैं, जिन्हें कांग्रेस का किला कह सकते हैं. इन सीटों पर कांग्रेस 10 से 13 बार तक लोकसभा चुनाव जीती है. कांग्रेस के इतिहास में सबसे बुरा दौर माने जाने वाले आपातकाल के बाद हुए 1977 के चुनावों में भी इन सीटों पर कांग्रेस को जीत मिली थी. हालांकि, 2014 के चुनाव में दोनों राज्यों के इन जिताऊ संसदीय क्षेत्रों ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया. जिन 25 संसदीय क्षेत्रों पर कांग्रेस को गुमान था, वह ताश के पत्तों की तरह ढह गये. महाराष्ट्र की नांदेड़ सीट को छोड़ सभी सीटें कांग्रेस हार गयी.
रोचक अंदाज में मैथ पढ़ेंगे सीबीएसइ के स्टूडेंट
सेंट्रल बोर्ड फॉर सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसइ) से जुड़े स्कूलों के स्टूडेंट्सों को परीक्षा में सबसे ज्यादा टेंशन गणित की परीक्षा की होती है, क्योंकि ज्यादातर स्टूडेंट्स गणित को कठिन मानते हैं. ऐसे में छात्रों को राहत देने के लिए इस बार पाठ्यक्रम में बदलाव किया जा रहा है. नये सत्र से स्कू
अकर्मण्य बनाना है न्यूनतम आय देना!
लोकसभा चुनाव अब सिर पर हैं और राजनीतिक पार्टियां चुनावी गुणा-गणित में लगी हुई हैं. इसी बीच कांग्रेस ने कहा है कि वह 20 प्रतिशत गरीब परिवारों के लिए 6,000 रुपये प्रतिमाह की न्यूनतम आय सुनिश्चित करेगी. हालांकि, इस बात को लेकर स्पष्टता नहीं है कि क्या इन 20 प्रतिशत परिवारों को चिह्नित कर हर गरीब परिवार के खाते में 6,000 रुपये प्रति माह भेजा जायेगा, या 6,000 रुपये से कम आमदनी को टॉपअप करते हुए भरपाई करके इतने रुपये की आय सुनिश्चित होगी.