109 results found for ''किसान''
किसानों का करायें रजिस्ट्रेशन
प्रखंड सभागार में बीडीओ साकेत कुमार सिन्हा ने शनिवार को प्रखंड कर्मियों के साथ बैठक पीएम आवास, मनरेगा योजनाओं की समीक्षा की. जिसमें बीडीओ ने छह सौ लंबित आवास को अति शीध्र पूरा करने का निर्देश दिया. वहीं, मनरेगा योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि 2015-16, 16-17,17-18
नक्सलबाड़ी कृषक विद्रोह के अवसर पर निकाली रैली
वर्ष 1967 में 25 मई को नक्सलबाड़ी में कृषक विद्रोह के दौरान पुलिस की गोली से 11 किसानों की मौत हो गयी थी. किसानों के बलिदान तथा सीपीआइएमएल के संस्थापक चारू मजूमदार की जयंती को ध्यान में रखते हुए शनिवार को कॉमरेड चारू मजूमदार जन्मशतवर्ष उद्यापन कमेटी की ओर से रैली निकाली गयी.
नक्सलबाड़ी कृषक विद्रोह के अवसर पर निकाली रैली
वर्ष 1967 में 25 मई को नक्सलबाड़ी में कृषक विद्रोह के दौरान पुलिस की गोली से 11 किसानों की मौत हो गयी थी. किसानों के बलिदान तथा सीपीआइएमएल के संस्थापक चारू मजूमदार की जयंती को ध्यान में रखते हुए शनिवार को कॉमरेड चारू मजूमदार जन्मशतवर्ष उद्यापन कमेटी की ओर से रैली निकाली गयी.
धान खरीद के नाम पर खूब हुई है लूट
राज्य में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीद की योजना में सर्वाधिक गड़बड़ी वित्तीय वर्ष 2011-12 तथा 2012-13 में हुई है. इस दौरान गिरिडीह, चतरा, हजारीबाग, धनबाद, देवघर, पलामू, पाकुड़ व धनबाद जिले में कई अनियमितताएं हुई थी. ''प्रभात खबर'' वर्ष 2009 से ही धान खरीद योजना में गड़बड़ी की खबर प्रकाशित करता रहा है.
तीन दिनों के अंदर जमा करें आशीर्वाद योजना का प्रतिवेदन
प्रखंड तकनीकी प्रबंधक रमेश कुमार ने शनिवार को सदर प्रखंड मुख्यालय में किसान मित्रों के साथ बैठक की. बैठक में मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी. साथ ही प्री प्रिंटेड नोटिस भी किसान मित्रों को दिया गया. इसके साथ ही इस योजना का प्रपत्र का भी वितरण किया गया.
कृषि आशीर्वाद योजना को ले मिला प्रशिक्षण
मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना को ले शनिवार को समाहरणालय के सभाकक्ष में प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया. अंचलों में पदस्थापित अंचल निरीक्षक व कंप्यूटर ऑपरेटर को प्रशिक्षण दिया गया. उन्हें किसानों के आवेदन पत्र को कंप्यूटर में अपलोड करने की जानकारी दी गयी. अगुआई जिला कृषि पदाधिकारी धीरेंद्र कुमार पांडेय ने की.
कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या की
जयपुर : राजस्थान के टोंक जिले के दूनी थाना क्षेत्र में 45 वर्षीय एक किसान ने फांसी लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली. थानाधिकारी नरेश कंवर ने बताया कि निवारिया गांव के किसान बालू मीणा (45) ने घर के पास एक खेत पर बने कमरे में छत पर प्लास्टिक की रस्सी से फांसी लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली .
नये एम्स, मेट्रो और इएसआइसी मेडिकल कॉलेज के बढ़ेंगे काम
पटना : राज्य में लोकसभा चुनाव में मिली अपार सफलता ने केंद्र व राज्य सरकार पर नयी सेवाओं को चालू करने की जिम्मेदारी बढ़ा दी है. राज्य की कई ऐसी परियोजनाएं हैं, जो दोनों के कंधे पर हैं. इसमें 2015 के केंद्रीय बजट में घोषित राज्य में दूसरे एम्स का निर्माण करना, इएसआइसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, बिहटा को चालू कराना, आयुष्मान योजना को प्रभावी बनाना और वैसे सभी हर लाभुक किसानों को चिह्नित कर किसान सम्मान योजना का लाभ दिलाना, जो इसके पात्र हैं.
अमूल के बाद अब मदर डेयरी ने भी दो रुपये प्रति लीटर बढ़ायी दूध की कीमत
नयी दिल्ली : मदर डेयरी ने शुक्रवार को दूध की कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है. कंपनी ने कहा है कि पशुचारे की महंगाई की वजह से उसे किसानों को दूध की खरीद के लिए अधिक भुगतान करना पड़ रहा है. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दूध की बिक्री करने वाली प्रमुख कंपनी ने दो साल से अधिक समय के बाद दूध के दाम बढ़ाये हैं. इससे कुछ दिन पहले अमूल ने दूध के दाम दो रुपये लीटर बढ़ाये थे. मदर डेयरी ने यह भी साफ कर दिया है कि उसने केवल पॉली पैक दूध की कीमतों में ही वृद्धि की है. टोकन के जरिये बेचे जाने वाले दूध के दाम नहीं बढ़ाये गये हैं.
भाजपा का घोषणा पत्र बना रामबाण
जयंत सिन्हा ने चुनाव के दौरान हजारीबाग लोस क्षेत्र के विकास के लिए घोषणा-पत्र जारी किया था. उन्होंने मतदाताओं को बताया कि आगामी पांच साल में वह क्या करनेवाले हैं. उन्होंने किसानों के खेतों तक पानी पहुंचाने का भरोसा दिलाया, ताकि उनकी आय दोगुनी हो. किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद पेंशन देने की बात कही.
13 जिलों में एक छटांक भी गेहूं की खरीद नहीं
पटना : सूबे में गेहूं खरीद की रफ्तार काफी धीमी है. अब तक मात्र 1429 टन गेहूं की ही खरीद हुई है. किसान व्यापारियों के हाथ औने-पौने दाम में गेहूं बेचने को विवश हैं. सरकार ने 1840 रुपये प्रति क्विंटल दाम निर्धारित किया है. 13 जिलों में तो एक छटांक भी गेहूं की खरीद नहीं हो पायी है.
हाथियों ने दो एकड़ में लगी फसल रौंदी, किसान आहत
पिस्कानगड़ी : नगड़ी प्रखंड अंतर्गत साहेर पंचायत के हरही गांव के युवा किसान कार्तिक महतो व भोला महतो की लगभग दो एकड़ में लगी करैला, कद्दू व मिर्च की फसल को मंगलवार की रात हाथियों के झुंड ने रौंद डाला.
विवाहेतर संबंध के चलते पत्नी ने की पति की हत्या
विवाहेतर संबंध के कारण पति की तेज हथियार के गोदकर हत्या करने का आरोप पत्नी पर लगा. मृत पति का नाम दशरथ मार्डी (45) है. वह पेशे से किसान था. दशरथ मार्डी का घर बालुरघाट थाना के अमृतखंड ग्राम पंचायत के दामनगर इलाके में है. लेकिन लगभग 20 साल से वह अमृतखंड ग्राम पंचायत के चौरापाड़ा इलाके में घर जमाई रहता था.
नहीं मिल रहा है पानी, औने पौने दाम में बेच दिये मवेशी
राजनगर (मधुबनी) : मधुबनी जिले में जल संकट गहरा गया है. शहर से लेकर गांवों तक के लोग पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं. लोग पीने के लिए का इंतजाम तो कर ले रहे हैं, लेकिन मवेशियों को नहाने व पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा. इसी कारण राजनगर थाना क्षेत्र के रामपट्टी गांव के तीन किसानों ने अपने मवेशी औने-पौने दाम पर बेच दिये.
पानी नहीं जुटा सके, तो औने-पौने दाम में बेच दिया मवेशी
मधुबनी जिले में जल संकट की समस्या गंभीर होती जा रही है. शहर से लेकर गांवों तक के लोग पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं. लोग पीने के लिए कहीं से पानी का इंतजाम कर भी ले रहे, तो मवेशियों को नहाने व पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा. यही कारण है कि राजनगर थाना क्षेत्र के रामपट्टी गांव के तीन किसान अपने मवेशी औने-पौने दाम पर बेचने को मजबूर हुए हैं.
पानी संकट को लेकर जेएनडी का महाधरना 28 को
झारखंड नवनिर्माण दल जिला समिति गुमला की ओर से 28 मई को डीसी कार्यालय के समक्ष महाधरना कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. इसमें पेयजल संकट व किसानों द्वारा लैंपस में बेचे गये धान का पैसा दिलाने के मामले को जोरदार तरीके से उठाया जायेगा.
पीएससी 807 प्लस धान बीज उन्नत किस्म का है
जिला कृषि विभाग, केवीके गुमला व यूपीएल ग्रुप ऑफ एडवांटा इंडिया लिमिटेड के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार को गुमला के पर्यटन भवन में किसानों के बीच कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला में जिले भर से 75 कि
रोहिणी नक्षत्र शुरू होने के पांच दिन शेष, सिंचाई संकट
डुमरांव : रोहिणी नक्षत्र शुरू होने में शेष पांच दिन बचे हैं. रोहिणी नक्षत्र के आगमन के पूर्व किसान अपने खेतों की तैयारी में जुटे हैं, लेकिन अभी तक किसानों को नहर से पानी नहीं मिलने की आसार है.जिस कारण उनकी चिंता बढ़ गयी है. किसानों को विश्वास था कि रोहिणी नक्षत्र के आगमन के पूर्व नहर में पानी आ जायेगा, लेकिन अब किसान इस बात से चिंतित हैं कि नक्षत्र शुरू होने में मात्र पांच दिन ही शेष रह गया है.
जहां विस्मय तरबूज की तरह
जेठ की तपती दोपहर में जब हम लू की लहर से बचने के लिए तरबूज की ओर शीतलता की उम्मीद से देखते हैं, तब इसी धूप में नदी की रेत के खेत में तपते तरबूज किसानों का जलता हुआ खून-पसीना हमसे नजरअंदाज हो जाता है. जिस तरबूज को खरीदने में हमारी आंख निकलती है, उसके लिए किसानों को पैकारों से बहुत ही न्यूनतम मूल्य मिलता है.
थर्माकोल की थाली का बढ़ा प्रचलन
बीते कुछ साल पहले तक गांव घरों में शादी-विवाह या अन्य अवसरों पर होने वाले भोज, बराती के खाना में केला पत्ता का उपयोग हुआ करता था. गांव घर में किसानों के बगीचे, घर के पीछे से ही लोगों को यह आसानी से मिल जाया करता था.