49 results found for ''उम्र''
कम उम्र के बच्चों से चोरी कराने वाला गैंग सक्रिय!
कम उम्र के बच्चों से चोरी कराने वाला गैंग गुमला जिले में सक्रिय हो रहा है. कुछ शातिर अपराधी अब कम उम्र के बच्चों को चोरी करने की ट्रेनिंग देते हैं. इसके बाद इन बच्चों से चोरी करायी जाती है. फिर चोरी किये गये सामान को बाजार में बेचा जा रहा है. इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब घाघरा पुलिस ने दो नाबालिग बच्चों को पकड़ा है.
चास के लापता युवक का शव बोकारो सिटी पार्क के पास मिला
बोकारो : बोकारो में शनिवार की सुबह एक युवक का शव बरामद हुआ. सिटी पार्क के फाउंटेन के पास से मिले शव की पहचान विवेक कुमार के रूप में हुई है. उसकी उम्र 17 साल है. चास के प्रभात कॉलोनी का रहने वाला यह युवक शुक्रवार से लापता था.
बीकानेर के युवाओं को मोदी सरकार में आस्था, लेकिन बेरोजगारी चिंता का विषय
बीकानेर: बीकानेर में एक कोचिंग संस्थान के बाहर बैठे 18 से 25 साल की उम्र के रोजगार पाने के इच्छुक युवाओं के बीच लोकसभा चुनाव को लेकर हो रही चर्चा में बेरोजगारी का मुद्दा एक आम विषय हो गया है और महत्वपूर्ण बात यह है कि चुनावी भाषणों में भी यह मुद्दा प्रमुखता से उठ रहा है. नेशनल कॅरियर सर्विस (एनसीएस) द्वारा उपलब्ध आंकड़े के अनुसार सिर्फ बीकानेर में ही करीब 14,000 पंजीकृत बेरोजगार हैं.
बीकानेर के युवाओं को मोदी सरकार में आस्था, लेकिन बेरोजगारी चिंता का विषय
बीकानेर: बीकानेर में एक कोचिंग संस्थान के बाहर बैठे 18 से 25 साल की उम्र के रोजगार पाने के इच्छुक युवाओं के बीच लोकसभा चुनाव को लेकर हो रही चर्चा में बेरोजगारी का मुद्दा एक आम विषय हो गया है और महत्वपूर्ण बात यह है कि चुनावी भाषणों में भी यह मुद्दा प्रमुखता से उठ रहा है. नेशनल कॅरियर सर्विस (एनसीएस) द्वारा उपलब्ध आंकड़े के अनुसार सिर्फ बीकानेर में ही करीब 14,000 पंजीकृत बेरोजगार हैं.
.....जब पादरियों को छात्रों से अच्छा खाना मिलने पर भिड़ गये थे समाजवादी नेता जॉर्ज
जॉर्ज जब वह 16 साल के थे, घर वालों ने उन्हें ईसाई मिशनरी में पादरी बनने की ट्रेनिंग लेने भेज दिया. विद्रोही स्वभाव के जॉर्ज यह देख कर उबल पड़े कि वहां छात्रों के मुकाबले पादरियों को बेहतर खाना मिलता है. अन्याय के खिलाफ संघर्ष का जो सिलसिला जॉर्ज ने यहां से शुरू किया, वही उनकी पहचान बनी. 19 साल की उम्र में उन्होंने पादरी की पढ़ाई छोड़ दी. मुंबई में जा कर यूनियन नेता बन गये.
.....जब पादरियों को छात्रों से अच्छा खाना मिलने पर भिड़ गये थे समाजवादी नेता जॉर्ज
जॉर्ज जब वह 16 साल के थे, घर वालों ने उन्हें ईसाई मिशनरी में पादरी बनने की ट्रेनिंग लेने भेज दिया. विद्रोही स्वभाव के जॉर्ज यह देख कर उबल पड़े कि वहां छात्रों के मुकाबले पादरियों को बेहतर खाना मिलता है. अन्याय के खिलाफ संघर्ष का जो सिलसिला जॉर्ज ने यहां से शुरू किया, वही उनकी पहचान बनी. 19 साल की उम्र में उन्होंने पादरी की पढ़ाई छोड़ दी. मुंबई में जा कर यूनियन नेता बन गये.
नहाने के दौरान डूबने से एक बच्ची की मौत, दो रेफर
अमौर : थाना क्षेत्र अंतर्गत विष्णुपुर पंचायत के छतरभोग ग्राम से होकर बहने वाली बकरा नदी में नहाने के क्रम में एक तेरह वर्षीय बालिका अतिका की मौत व दो अन्य मिठू उम्र 8 वर्ष व जुलेखा उम्र 7 वर्ष की हालत नाजुक होने की खबर मिली है.
पटना : आइजीआइएमएस में आज बीओजी की बैठक, डॉक्टरों की उम्र सीमा बढ़ाने पर आज हो सकता है फैसला
पटना : आइजीआइएमएस में आज शुक्रवार को बोर्ड ऑफ गवर्निंग की बैठक आयोजित की जायेगी. बैठक में स्थायी मेडिकल सुपरिटेंडेंट की बहाली, डॉक्टरों की उम्र सीमा में बढ़ोतरी, यूरोलॉजी विभाग के अपग्रेडेशन, मेडिकल कॉलेज को सुचारु रूप से चलाने के लिए प्रोफेसर, एसोसिएट, असिस्टेंट व सीनियर रेजीडेंट प्रोफेसर की नियुक्ति पर चर्चा होगी. डॉक्टरों की प्रोन्नति पर सरकार के भेदभावपूर्ण निर्णय पर भी हंगामा होने की आशंका है. सुविधाएं बढ़ाने पर निर्णय लेने की उम्मीद है.
कोर्ट मैरेज कर प्रेमी जोड़े ने किया सरेंडर
भौंरा निवासी प्रेमी जोड़े ने गुरुवार को कोर्ट मैरेज कर महिला थाना में सरेंडर कर सुरक्षा की मांग की. भौंरा की रहनेवाली बंटी कुमारी और धर्मराज पासवान के बीच पांच साल से प्रेम संबंध था. दोनों शादी करना चाहते थे. दोनों एक ही जाति के हैं. बंटी के पिता को यह रिश्ता मंजूर नहीं था. बंटी ने बताया कि उसके पिता ने उससे दुगुने उम्र के दिव्यांग व्यक्ति के साथ उसका रिश्ता तय कर दिया था.
शिक्षिका बनने के लिए बेटे से भी कम उम्र की बन गयी मां, खुलासा
उज्जवलानंद गिरि, बिहारशरीफ : जिले में फर्जी शिक्षकों के नियोजन के मामले लगातार सामने आने से शिक्षक नियोजन में बड़े पैमाने पर की गयी फर्जीवाड़े की संभावना बढ़ते जा रही है. हालांकि जिले में नियोजित शिक्षकों की निगरानी जांच भी लंबे समय से चल रही है, जिसका कोई परिणाम सामने नहीं आया है.
गिरिडीह : 2014 में मोदी के खिलाफ लड़ा चुनाव, जमानत हुई जब्‍त, अब रांची में कर रहे हैं भ्रष्टाचार जिंदाबाद का नारा बुलंद
रांची : वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़नेवाले जयप्रकाश प्रसाद उर्फ प्रकाश मंडल को शायद ही रांची के लोग जानते हैं. उम्र 47 है. पता सरिया गिरिडीह. इनकी पहचान ये है कि जब पूरे देश में मोदी लहर की गूंज चल रही थी, तब वर्ष 2014 में गिरिडीह जिले के सरिया प्रखंड निवासी जयप्रकाश प्रसाद वाराणसी से मोदी के खिलाफ ही चुनाव मैदान में उतर गये. जमानत जब्त हो गयी. पर फिर भी हिम्मत नहीं हारी. इस बार भाजपा और कांग्रेस के खिलाफ रांची से चुनाव लड़ रहे हैं.
गिरिडीह : 2014 में मोदी के खिलाफ लड़ा चुनाव, जमानत हुई जब्‍त, अब रांची में कर रहे हैं भ्रष्टाचार जिंदाबाद का नारा बुलंद
रांची : वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़नेवाले जयप्रकाश प्रसाद उर्फ प्रकाश मंडल को शायद ही रांची के लोग जानते हैं. उम्र 47 है. पता सरिया गिरिडीह. इनकी पहचान ये है कि जब पूरे देश में मोदी लहर की गूंज चल रही थी, तब वर्ष 2014 में गिरिडीह जिले के सरिया प्रखंड निवासी जयप्रकाश प्रसाद वाराणसी से मोदी के खिलाफ ही चुनाव मैदान में उतर गये. जमानत जब्त हो गयी. पर फिर भी हिम्मत नहीं हारी. इस बार भाजपा और कांग्रेस के खिलाफ रांची से चुनाव लड़ रहे हैं.
पटना : तेजस्वी से अच्छा और सच्चा बनने की उम्मीद बेमानी है : संजय सिंह
पटना : जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि तेजस्वी यादव से अच्छा और सच्चा बनने की उम्मीद बेमानी है. 30 साल की उम्र में भ्रष्टाचार वाली सोच ने उनको किस चौराहे पर ला खड़ा किया है, इसका उनको अंदाजा भी नहीं है. उनके जैसा व्यक्ति जनता के साथ केवल विश्वासघात ही कर सकता है.
पटना : तेजस्वी से अच्छा और सच्चा बनने की उम्मीद बेमानी है : संजय सिंह
पटना : जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि तेजस्वी यादव से अच्छा और सच्चा बनने की उम्मीद बेमानी है. 30 साल की उम्र में भ्रष्टाचार वाली सोच ने उनको किस चौराहे पर ला खड़ा किया है, इसका उनको अंदाजा भी नहीं है. उनके जैसा व्यक्ति जनता के साथ केवल विश्वासघात ही कर सकता है.
भगवान महावीर जयंती के अवसर पर आज क्षत्रिय कुंड लछुआड़ में होगा भव्य कार्यक्रम
सिकंदरा : ऋषभदेव से प्रारंभ हुई जैन तीर्थंकर परंपरा के 24वें और अंतिम तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जन्म लगभग 26 सौ साल पहले क्षत्रियकुंड में हुआ था. महावीर को वर्धमान, वीर, अतिवीर और ''सन्मति'' भी कहा गया है. भगवान महावीर स्वामी ने ज्ञान की प्राप्ति के लिये 30 वर्ष की उम्र में गृह त्याग कर दुनिया को पंचशील का पाठ पढ़ाया.
गर्मी से लोग हलकान, भूख के बदले लग रही प्यास, बच्चों को हमेशा पिलाते रहें पानी
मधेपुरा : इन दिनों कोसी के इलाके में मौसम का मिजाज चुनावी मीटर की तरह ही पल पल बदल रहा है. मौसम का रूख देखे बिना ही बच्चों से लेकर बड़े उम्र तक के लोग अनियमित जीवन जीने लगे हैं. धूप में चलकर घर पहुंचते ही पंखा, कूलर व एसी चलाये बिना रहा नहीं जाता है, लेकिन इस मौसम में लापरवाही कई बीमारियों को आमंत्रण दे रही है.
पश्चिम बंगाल : 101 साल के रनिंद्रनाथ सिन्‍हा को आज भी बेसब्री से रहता है आम चुनाव का इंतजार
देश की आजादी में अपनी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाने वाले आजादी के साक्षी बने रनिंद्रनाथ सिन्हा लाइफ लाइन के पिच पर सौ रन पूरे करके पुरजोश डटे हुए हैं. आगामी 28 अप्रैल को वह 101 साल के हो जायेंगे. गौरतलब है कि हावड़ा उत्तर लोकसभा केंद्र के 10 नंबर वार्ड स्थित सीता नाथ बोस लेन के रहनेवाले स्वतंत्रता सेनानी श्री सिन्हा का जन्म अप्रैल 1919 में हुआ था. उन्होंने देश में 1951-52 में हुए प्रथम आम चुनाव में 30 साल की उम्र में पहली बार मतदान किया था.
बर्थडे : ढलती उम्र में हीरोइनों को मात दे रही हैं मंदिरा बेदी, इन 3 बयानों से मचाया था तहलका
मॉडलिंग की दुनिया से एक्टिंग में कदम रखनेवाली अभिनेत्री मंदिरा बेदी यह बेहतर जानती हैं कि सुर्खियों में कैसे रहा जाता है? वे फिल्मी पर्दे से भले ही दूर हैं लेकिन अक्‍सर किसी ने किसी वजह से चर्चा में बनी रहती हैं. टीवी की दुनिया से लेकर क्रिकेट सीरीज होस्ट करने तक मंदिरा ने हर रोल को बड़ी ही खूबसूरती से निभाया. 24 साल के सफर में मंदिरा बेदी ने न केवल अलग पहचान बनाई बल्कि अपनी फिटनेस और बेबाक बयानों से बिंदास अभिनेत्री के तौर पर पहचानी जाने लगी.
पटना : समय से पहले पीरियड बंद होना खतरनाक
मेनोपॉज सोसाइटी व ऑब्स्टेट्रिक एंंड गायनोकोलॉजी सोसाइटी का सेमिनार पटना : ज्यादातर महिलाओं में मेनोपॉज (पीरियड बंद होना) की उम्र 50 से 55 साल होती है. कई बार महिलाओं में 30 से 40 साल में ही मेनोपॉज हो जाता है, जिसके कारण उन्हें कई तरह की परेशानियां होती हैं. इसका इलाज संभव है.
पेंशन कर्मियों का मौलिक अधिकार
रोजगार का सृजन करना लोकतंत्र में किसी भी संवेदनशील सरकार की प्राथमिकता होती है. सरकार रोजगार खैरात में नहीं देती. इसके लिए योग्यता के मानकों पर व्यक्ति को खरा उतरना पड़ता है. तब कहीं जा कर नौकरी मिल पाती है. 25-30 वर्ष की उम्र में नौकरी मिलती है और एक कर्मी 60 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त कर दिया जाता है. यह जीवन का सबसे कठिन दौर होता है.