6 results found for ''इसरो''
ISRO Research: उत्तर कोरिया का परमाणु परीक्षण हिरोशिमा पर गिराये गए बम से 17 गुना शक्तिशाली
नयी दिल्ली : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तर कोरिया द्वारा 2017 में किये गए परमाणु परीक्षण से जमीन कुछ मीटर खिसक गयी थी और यह 1945 में जापानी शहर हिरोशिमा पर गिराये गए बम से 17 गुना अधिक शक्तिशाली था.
मिशन 'गगनयान' के लिए हुआ 12 संभावित अंतरिक्ष यात्रियों का चयन, रूस में दिया जा रहा है प्रशिक्षण
भारतीय अतंरिक्ष एजेंसी इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन मिशन चंद्रयान-2 के बाद अपनी महात्वाकांक्षी मिशन गगनयान की तैयारियों में युद्धस्तर पर जुट गयी है. इसरो का ये पहला मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान होगा जिसे दिसंबर 2021 तक लॉंच किया जाना प्रस्तावित है. विमान के निर्माण से लेकर कैप्सूल की डिजाइनिंग और अंतरिक्ष यात्रियों के चयन की प्रक्रिया जोर-शोर से चल रही है. जानकारी के मुताबिक मिशन गगनयान के लिए 12 अंतरिक्ष यात्रियों को चयन किया जा चुका है.
एचइसी का स्थापना दिवस आज, पहली बार निकलेगी झांकी
रांची : एचइसी का 61वां स्थापना दिवस शुक्रवार को मनाया जायेगा. इस मौके पर कई कार्यक्रम होंगे. एचइसी ने देश हित में कई उपकरण बना कर अपनी उपयोगिता साबित की है. एचइसी ने स्टील, कोयला, डिफेंस, ऊर्जा, इसरो के लिए कई महत्वपूर्ण उपकरण का निर्माण किया है. यही करण है कि आज भी एचइसी द्वारा बनाये गये उपकरण की डिमांड बाजार में अधिक है. एचइसी के कंपनी सचिव अभय कंठ ने बताया कि स्थापना दिवस कार्यक्रम का शीर्षक मार्च टूवर्डस नेशन बिल्डिंग दिया गया है. सुबह 8.30 बजे एचइसी के कर्मी चेकपोस्ट के पास एकत्रित होंगे व सीएमडी डॉ नलीन सिंघल मार्च को झंडी दिखा कर रवाना करेंगे.
चंद्रयान-3 : चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग के लिए फिर से तैयार ISRO, अगले साल नंबवर में प्रयास
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने गुरुवार को कहा कि भारत अगले साल संभवत: नवंबर में एक बार फिर चंद्रमा पर ‘सॉफ्ट लैंडिंग'' का प्रयास कर सकता है.
नक्सलियों के गढ़ से निकल कर सोनू ने राष्ट्रीय स्तर पर हासिल की पहचान, जानिए इनकी कहानी
गया : 80 के दशक से नक्सलियों के लाल जोन के रूप में चिह्नित इमामगंज, डुमरिया, बांके बाजार व गुरुआ प्रखंड के इलाके हमेशा गोली-बंदूक व बम के धमाकों से दहलता रहता था. पुलिस और नक्सली मुठभेड़ जहां आम हो गयी थी. आज भी बिहार के गया का यह क्षेत्र संवेदनशील बना हुआ है. ऐसे क्षेत्र से निकल कर एक छात्र ने राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान हासिल की है. इमामगंज प्रखंड के पकरी (गुरिया) गांव के रहने वाले एक निजी शिक्षक के पुत्र सोनू गुप्ता ने बीटेक करने के बाद आइआइटी दिल्ली में आयोजित दीक्षांत समारोह में इसरो प्रमुख के. सिवन द्वारा सोनू को सम्मानित होने का गौरव प्राप्त किया है.
गया : मगध के तीन सपूत इसरो प्रमुख से सम्मानित
गया : इसरो प्रमुख के सिवन ने मगध के तीन सपूतों को शनिवार को आइआइटी, दिल्ली में आयोजित दीक्षांत समारोह में डिग्री प्रदान की. सोनू गुप्ता ने बीटेक इलेक्ट्रिक से की है. वह गया के इमामगंज थाने के पकरीगुरिया गांव के गोपाल प्रसाद व सरिता देवी का पुत्र है.