5 results found for ''आपातकाल''
सीएए और एनआरसी के विरोध में मुर्तुजा कॉम्प्लेक्स में सत्याग्रह जारी
मुर्तुजा काॅम्प्लेक्स में चल रहे सत्याग्रह में शनिवार को महिलाओं व पुरुषों ने राष्ट्रीय गीत का गायन कर सभा की शुरुआत की. इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि मोदी सरकार ने देश में अघोषित आपातकाल लगा रखा है. किसी को बोलने की आजादी नहीं दे रही है.
पटना : सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के पक्षधर थे पंडित रामनारायण शास्त्री
पटना : पंडित रामनारायण शास्त्री प्रखर वक्ता थे. उन्होंने आपातकाल के दौरान आंदोलनकारियों की मदद की थी. वे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के पक्षधर थे. उक्त बातें बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एएन सिन्हा संस्थान सभागार में शुक्रवार को कही.
घुसपैठियों को खदेड़ना और शरण मांगने वालों को आश्रय देना भारत की पुरानी परंपरा
गया : नागरिकता संशोधन एक्ट पर पूरे देश में प्रदर्शन हो रहा है कहीं समर्थन में नारेबाजी हो रही तो कहीं विरोध में. दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरीखे भाजपा के नेता देशभर में इसके समर्थन में रैली कर रहे हैं.उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिहार के गया में रैली की और विपक्ष पर निशाना साधा. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्ष सौ बार झूठ बोलकर देश में माहौल बिगाड़ने का काम कर रहा है. कांग्रेस में संविधान के नाम पर सीएए का विरोध करने का उतावलापन है जबिक उसने आपातकाल लगाकर संविधान का गला घोंट दिया था.
यहां मिलती है आधुनिक व किफायती स्वास्थ्य सेवा
चंपासारी इलाके के देवीडांगा स्थित पेट्रोल पंप के बगल में ग्लोबल नर्सिंग होम पांच वर्षों से शहर व आसपास के लोगों को आधुनिक तथा किफायती चिकित्सा परिसेवा उपलब्ध करा रहा है. 24 घंटे आपातकाल सेवा के साथ नर्सिंग होम प्रबंधन की ओर से समय-समय पर चाय बागान इलाकों में जाकर जरूरतमंद लोगों का नि:शुल्क इलाज करने के साथ ही उन्हें जरूरी सलाह भी दी जाती है.
पटना : आपदाओं से लड़ने को 48 शनिवारों के लिए बना कैलेंडर
पटना : किसी भी तरह की मानव निर्मित व प्राकृतिक अापदा से निबटने के लिए शिक्षा विभाग ने एक वार्षिक कैलेंडर तैयार किया है. इस कैलेंडर में कक्षा एक से आठ तक के स्कूली बच्चों को 17 तरह की आपदाएं बतायी जायेंगी. इससे बच्चे समय आने पर न केवल अपनी जान बचा सकेंगे, बल्कि आपातकाल में दूसरों की मदद भी कर सकेंगे. मुख्यमंत्री विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम यूं तो कुछ माह पहले से चालू है. लेकिन, एक वार्षिक प्लानिंग के तहत इसे पहली बार लागू किया जा रहा है.