48 results found for ''अभियुक्त''
एसिड अटैक मामले में 12 दोषियों
समस्तीपुर जिले का 14 वर्ष पूर्व के बहुचर्चित एसिड अटैक में तीन लोगों की मौत मामले में रोसड़ा एडीजे वेद प्रकाश सिंह के कोर्ट ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया है. मामले में विगत 10 अप्रैल को दोषी ठहराये गये एक दर्जन अभियुक्तों के विरुद्ध कोर्ट ने हत्या से संबंधित धारा 302 के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनायी है. साथ ही 25 हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनायी. अर्थदंड नहीं देने पर एक-एक वर्ष के अतिरिक्त कठोर कारावास की सजा सुनायी.
महिला की हत्या में चार अभियुक्तों को कारावास
अनुमंडल व्यवहार न्यायालय के एडीजे राजकिशोर पांडेय की कोर्ट ने दहेज़ प्रताड़ना को ले महिला की हत्या मामले में सोमवार को आरोपी दो महिलाओं समेत चार अभियुक्तों को सश्रम कारावास की सज़ा सुनायी.
एसिड अटैक में 12 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा
समस्तीपुर जिले का 14 वर्ष पूर्व के बहुचर्चित एसिड अटैक में तीन लोगों की मौत मामले में रोसड़ा एडीजे वेद प्रकाश सिंह के कोर्ट ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया है. मामले में विगत 10 अप्रैल को दोषी ठहराये गये एक दर्जन अभियुक्तों के विरुद्ध कोर्ट ने हत्या से संबंधित धारा 302 के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनायी है.
पटना : एके 47 तस्करी मामले में तीन को मिली जमानत
पटना : एनआइए के जज अजीत कुमार सिन्हा की अदालत द्वारा एके 47 हथियारों की तस्करी मामले में तीन आरोपितों को धारा 167 का लाभ देते हुए शुक्रवार को जमानत प्रदान किया गया. अदालत ने जिन तीन अभियुक्तों को जमानत का लाभ दिया, उनमें सुरेश शर्मा, पवन मंडल व सनोज यादव शामिल हैं.
शराब फैक्टरी चलानेवाले दो लोगों को 10-10 वर्षों की सजा
सीवान : द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह विशेष न्यायाधीश मनोज कुमार तिवारी की अदालत ने देसी शराब बना कर बेचने के आरोप में दो अभियुक्तों को दोषी पाते हुए 10-10 वर्ष की सजा सुनायी. साथ ही दोनों को दो-दो लाख रुपये जुर्माना देने का आदेश दिया गया. नहीं देने पर 14-14 माह की अतिरिक्त सजा काटनी होगी.
नाबालिग से दुष्कर्म, हाथ-पैर बांध मक्के के खेत में छोड़ा
अररिया : बिहार के अररिया में जोकीहाट थाना क्षेत्र के चकई गांव के वार्ड एक की एक तेरह वर्षीय नाबालिग के साथ दो युवकों ने दुष्कर्म किया. दुष्कर्म के बाद उसका हाथ-पैर बांधकर मक्के के खेत में बेहोशी की हालत में छोड़कर दोनों फरार हो गये. घटना बुधवार देर शाम की है. मामले को लेकर महिला थाना में कांड संख्या 31/ 19 दर्ज किया गया है. इसमें गांव के ही दो युवकों को नामजद किया गया है. हालांकि इस मामले में एक अभियुक्त को महिला थाना पुलिस ने जोकीहाट थानाध्यक्ष के सहयोग से गुरुवार को ही गिरफ्तार कर लिया. उसका नाम रंजन कुमार विश्वास है, जबकि दूसरा अभियुक्त मिट्ठू कुमार विश्वास अब भी फरार है.
हत्या के मामले में सभी नौ अभियुक्त पाये गये दोषी
बक्सर : गला दबाकर निर्मम तरीके से किये गये हत्या में नामजद प्राथमिकी सभी 9 अभियुक्तों को न्यायालय ने दोषी पाया है. सजा के बिंदु पर 12 अप्रैल को फैसला सुनाया जायेगा. बुधवार को एफटीसी 2 के न्यायाधीश वीरेंद्र सिंह ने फैसला सुनाते हुए कहा कि न्यायालय ने नामजद सभी अभियुक्तों को भारतीय दंड विधान की धारा 302 के तहत दोषी पाया है.
अवैध हथियार के मामले में दो वर्षों की सजा
बक्सर : प्रथम श्रेणी के न्यायिक दंडाधिकारी रितु कुमारी ने अवैध हथियार के मामले में नामजद दो अभियुक्तों को 2 वर्षों के कारावास एवं दो हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनायी. घटना धनसोई थाना कांड संख्या 18 सन् 2001 से संबंधित है. जहां पुलिस ने छापेमारी कर बंदूक के साथ 16 कारतूस को बरामद किया था.
महिला पंस सदस्य ने दर्ज कराया मामला
छपरा : डेरनी थाना क्षेत्र के महेशिया पंचायत समिति सदस्या ने सीजेएम न्यायालय में एक मामला दर्ज कराया है. इसमें अपने ग्रामीण रामजीवन राम, उनकी पत्नी सीता देवी और दो पुत्रों को अभियुक्त बनाया है. आरोप में पंचायत समिति सदस्य मुतीजन बीबी ने कहा है कि उनकी गाय को अभियुक्त अपने दरवाजे पर बांधकर पीट रहे थे कि वह वहां पहुंची. उसने गाय को पीटने का विरोध किया.
पटना : साक्ष्य के अभाव में रिहाई पर अधिकारी को फटकार
पटना : पटना हाइकोर्ट ने जान मारने की नीयत से हमला करने वाले अभियुक्त की रिहाई को लेकर नाराजगी व्यक्त करते हुए पुलिस अधिकारी को कड़ी फटकार लगायी. कोर्ट ने कहा की अगर यूं ही अभियुक्त छूटते रहेंगे, तो अपराधियों का मनोबल और बढ़ जायेगा. पुलिस और प्रॉसिक्यूशन की लापरवाही से अभियुक्त संदेह का लाभ लेकर छूटता है, तो इसके लिए दोषी कोर्ट होता है. मालूम हो कि धारा 307 में अभियुक्त बनाये गये आरोपितों की रिहाई अदालत से इसलिए कर दी गयी, क्योंकि अभियोजन पक्ष गवाह को अदालत में प्रस्तुत नहीं कर सका.
पाकुड़ : गैंगरेप के आरोपी को मिली 25 साल की जेल
पाकुड़ : गैंगरेप के अभियुक्त गणेश मुर्मू को प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश ओम प्रकाश पांडे के न्यायालय ने मंगलवार को 25 साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई.
फीस मांगने पर मुवक्किल ने अधिवक्ता से की मारपीट
बोकारो व्यवहार न्यायालय के अधिवक्ता मृत्युंजय कुमार के साथ मंगलवार को उनके मुवक्किल ने बकाया फीस मांगने पर गाली-गलौज और मारपीट की. श्री कुमार ने बीएस सिटी थाना में मामला दर्ज कराया है. इसमें सेक्टर 12 थाना क्षेत्र के लकड़ीगोला निवासी कुलदीप कुमार और राजनंदन प्रसाद को अभियुक्त बनाया गया है.
गांजा तस्करी के अभियुक्त को चार वर्षों का सश्रम कारावास
बक्सर : जिला एवं सत्र न्यायाधीश हरेंद्रनाथ ने एनडीपीएस की धारा 20(बी) 2 (बी) के तहत अभियुक्त को चार वर्षों के सश्रम कारावास की सजा सुनायी है. न्यायालय ने अभियुक्त पर 40 हजार का अर्थदंड भी लगाया है. अर्थदंड नहीं देने पर अभियुक्त को छह माह अतिरिक्त जेल में बिताने होंगे. मामला नवानगर थाना कांड संख्या 177/2015 से संबंधित है.
हत्या मामले में तीन लोगों को आजीवन कारावास
हाजीपुर : फास्ट ट्रैक कोर्ट में मंगलवार को 18 साल पहले हुई एक हत्या के मामले में दो महिलाओं सहित तीन अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी गयी. न्यायाधीश विपिन दत्ता पाठक ने अनुसंधानक सहित सात गवाहों व साक्ष्य के आधार पर यह फैसला सुनाया है. मृतक और सभी अभियुक्त पट्टीदार हैं. मामला भगवानपुर थाना क्षेत्र के हरपुर कस्तूरी गांव का है.
देह व्यापार मामले के आरोपित की याचिका पर सुनवाई
छपरा : मुफस्सिल थाना क्षेत्र के साढ़ा मठिया स्थित एक मकान में चल रहे अनैतिक देह व्यापार मामले में अभियुक्त बनाये गये मकान मालिक द्वारा दाखिल अग्रिम जमानत याचिका पर जिला जज ने सुनवाई की.
घर में घुसकर मारपीट व चोरी करने की प्राथमिकी
थाना क्षेत्र के मुरली भरहवा गांव निवासी होसिला राम ने जबरन घर में घुसकर मारपीट करने तथा बक्सा तोड़कर नकद 25 हजार रुपये निकालने की प्राथमिकी थाने में दर्ज करायी है. दर्ज मामले में कुल आठ लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया है.
रांची : 1.47 करोड़ के घोटाले का मामला, को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में प्राथमिकी
रांची : सरकारी आदेश के चार माह बाद 1.47 करोड़ रुपये के को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. प्राथमिकी में जादूगोड़ा ब्रांच के तत्कालीन ब्रांच मैनेजर उमेश प्रसाद सिंह और असिस्टेंट मैनेजर राज श्रीवास्तव को नामजद अभियुक्त बनाया गया है.
पटना : हत्या के प्रयास के मामले में तीन को 22 साल बाद सजा
पटना : पटना के एडीजे 15 दीपक कुमार की अदालत द्वारा हत्या करने के प्रयास मामले में तीन अभियुक्त भाइयों सुनील कहार, ललन कहार व संजय कहार को आजीवन कारावास व जुर्माना की सजा सुनाई है. मामले के अपर लोक अभियोजक मो गयासुद्दीन ने बताया कि उक्त मामला गर्दनीबाग थाना कांड संख्या 99/97 से संबंधित है.
आठवीं कक्षा की छात्रा को किया अगवा, प्राथमिकी
महिला थाने में एक महिला ने अपनी नाबालिग पुत्री को अगवा कर लिए जाने से संबंधित प्राथमिकी दर्ज करायी है, जिसमें झारखंड के धनबाद जिला में पड़ने वाले लोयाबाद थाना क्षेत्र के बांसजोड़ा गांव निवासी शिवा भुइंया को नामजद अभियुक्त बनाया गया है.
दुष्कर्म के बाद पुत्री की हत्या का आरोप लगाया
बालीडीह थाना क्षेत्र के ग्राम करहरिया निवासी एक 18 वर्षीय युवती की दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला प्रकाश में आया है. प्राथमिकी युवती के पिता ने बुधवार को दर्ज करायी है. मामले में गांव के राजू, शक्ति, दिनेश, माजा, अशोक, सागर रंजीत, व नागेश्वर को अभियुक्त बनाया गया है.