• इस्लाम धर्म का पवित्र कर्तव्य हज

    इस्लाम धर्म के पांच सतून (स्तंभ) हैं, अर्थात तौहीद, नमाज़, रोज़ा, ज़कात और हज. तौहीद का अर्थ एक ईश्वर यानी अल्लाह की इबादत करना है जबकि रोज़ा, नमाज़ सभी बालिगों (वयस्क) मुसलमानों पर फर्ज़ (अनिवार्य) है. लेकिन ज़कात और हज सभी के लिए अनिवार्य नहीं है, बल्कि आर्थिक दृष्टि से संपन्न मुसलमानों को ही ज़कात अदा करना है और हज की यात्रा भी स्वस्थ एवं आर्थिक संपन्नता के बाद ही पूरा करना है. हज इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक प्रत्येक वर्ष जिलहिज्ज महीने की 8 से 12 तारीख तक अदा किया जाता है.

  • मानसरोवर यात्रा : कंप्यूटर से ड्रॉ में पहली बार तीर्थयात्रा करने वालों को मिली प्राथमिकता

    नयी दिल्ली : कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने की इच्छा रखनेवाले तीर्थयात्रियों के चयन के लिए बुधवार को कंप्यूटर के जरिए ड्रॉ निकाला गया. इसमें सॉफ्टवेयर में पहली बार आवेदन करने करने वालों को प्राथमिकी देने या वरिष्ठ नागरिकों की पसंद के मार्ग को शामिल किया गया है.

  • सुबह सात बजे तक दो करोड़ से अधिक लोगों ने गंगा में लगायी डुबकी

    प्रयागराज : मौनी अमावस्या पर सोमवार को दो करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने यहां कुंभ मेले में गंगा और संगम में आस्था की डुबकी लगायी. आईसीसीसी के एक अधिकारी ने बताया कि रविवार शाम छह बजे तक एक करोड़ से अधिक लोगों ने स्नान किया था और रविवार रात्रि 12 बजे से सोमवार सुबह सात तक एक करोड़ से अधिक लोग स्नान कर चुके हैं.

  • कुंभ से 1.2 लाख करोड़ रुपये कमायेगी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार

    लखनऊ : कुंभ मेला से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ढाई महीने में 1.2 लाख करोड़ रुपये की कमाई करेगी. इससे छह लाख लोगों को रोजगार भी मिलेगा. कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआइआइ) ने एक अध्ययन के आधार पर यह अनुमान व्यक्त किया है.

  • शेखावाटी में सूर्यकुंड के पास प्राचीन मंदिर में पत्नी के साथ विराजमान हैं भगवान सूर्य

    अरावली पर्वत शृंखला के शेखावटी अंचल (राजस्थान) के पर्वत मालकेतु के एक ओर की ढलान पर स्थित है लोहार्गल तीर्थ. यह भारत के प्रसिद्ध 14 गुप्त तीर्थों में से एक है (हेमादि संकल्प). इसे शेखावाटी का हरिद्वार भी कहा जाता है. स्कंद पुराण, वाराह पुराण में लोहार्गल जी का संदर्भ आता है. संवत् 1700 के आसपास रचित ‘लोहार्गलमाहत्म्यम’ में इस तीर्थ के महत्व को बताया गया है.

  • दो बार अनिवार्य है शेखावाटी की मनोरम वादियों में स्थित शाकंभरी धाम सकराय की यात्रा करना

    राजस्थान के शेखावाटी अंचल में मालकेतु पर्वत की एक विस्तृत, मनोरम घाटी में विभिन्न पेड़-पौधों, लता-गुल्मों के बीच एक पहाड़ी नदी शंकरा या शक्रधारा के किनारे मां शाकंभरी देवी का भव्य मंदिर है. यह चारों ओर से आम और कनेर के वृक्षों से घिरा है. पहाड़ों से घिरी यह हरी-भरी घाटी और जल के स्रोत (नदी और कुंड) प्राचीनकाल से ही तपस्वियों और साधकों को आकर्षित करते रहे हैं. मालकेतु पर्वत का जिक्र महाभारत के सभा पर्व एवं वन पर्व, पद्म पुराण, वायु पुराण जैसे प्राचीन ग्रंथों में भी है.

  • अपने ननिहाल में बरसों से ताले में बंद हैं भगवान राम, जानें पूरी कहानी

    रायपुर : अयोध्या में जहां रामलला मंदिर निर्माण की बाट जोह रहे हैं वहीं रायपुर से 30 किलोमीटर दूर अपने ननिहाल में भगवान राम पिछले 21 वर्षों से ताले में बंद हैं. दरअसल दो परिवारों के बीच आधिपत्य को लेकर चल रही लड़ाई के कारण यहां भगवान राम के मंदिर में ताला लगा हुआ है. दक्षिण कोसल की राजधानी आरंग के समीप लगभग चार हजार की आबादी वाले गांव चंदखुरी को अयोध्या के राजा दशरथ की सबसे बड़ी रानी कौशल्या का जन्मस्थल माना जाता है.

  • द्वादश ज्योतिर्लिंग में पूजा के लिए मंत्र

    सोमनाथ ज्योतिर्लिंग पृथ्वी का पहला ज्योतिर्लिंग माना जाता है. सोमनाथ गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में है. इसके बनने की अलग कहानी है, शिवपुराण के अनुसार जब चंद्रमा को दक्ष प्रजापति ने क्षय रोग होने का श्राप दिया, तब चंद्रमा ने इस स्थान पर तप कर इस श्राप से मुक्ति पायी थी. ऐसा कहा जाता है कि इस शिवलिंग की स्थापना स्वयं चंद्रदेव ने की थी. आपको बता दें कि विदेशी आक्रमणों के कारण यह 17 बार नष्ट हुआ.

  • वैष्णो देवी गुफा में 12 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

    जम्मू कश्मीर की माता वैष्णो देवी यात्रा आज सामान्य रूप से चल रही है. त्रिकुटा की पहाडियों पर स्थित पवित्र मां वैष्णो देवी गुफा में आज 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की.

  • 12 जून को शुरु हुई कैलाश मानसरोवर यात्रा आज सम्पन्न

    12 जून को शुरु हुई कैलाश मानसरोवर यात्रा आज सम्पन्न हो गयी. बताते चलें कि आज तीर्थयात्रियों का 18वां और अंतिम जत्था उत्तराखंड के काठगोदाम से नयी दिल्ली के लिये रवाना हुए.

  • आज से वैष्‍णो देवी यात्रा शुरू

    आज से माता वैष्‍णो देवी की यात्रा फिर से आरंभ हो रही है. बताते चलें कि चार दिनों से यात्रा पर रोक लगा दिया गया था. प्रशासन ने जम्‍मू-कश्‍मीर में आये बाढ़ के मद्देनजर यात्रा पर रोक लगायी थी. कल से ही जम्‍मू और कश्‍मीर में बाढ़ पर नियंत्रण है और मौसम विभाग की ओर से जारी संदेश में कहा जा रहा है कि अब

  • अब नये रास्‍ते से कैलाश मानसरोवर यात्रा !

    चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग अपनी आगामी भारत यात्रा के दौरान कैलाश मानसरोवर की यात्रा करने वालों के लिए सिक्किम से होकर जाने वाले एक नये सुरक्षित मार्ग (नाथूला सीमा बिंदु) को खोलने की घोषणा कर सकते हैं.