• पढ़ें, पूजा शकुंतला शुक्ला की दो कविताएं

    (कवयित्री, झारखंड केंद्रीय विश्वविद्यालय में सहायक प्राध्यापिका हैं. कविताएं लिखने का शौक रखती हैं, तो पढ़ें आज उनकी दो कविताएं, जो आपके हृदय तक जायेंगी.)

  • अभिषेक कुमार की कविता ‘विश्वास’

    अपना वजूद ख़ुद ही बनायेगा तू ! अपनी मंजिल भी खुद ही पाएगा तू ! बस खुद पर विश्वास कर ! अजनबी राहों में अपनों से ज्यादा पराये साथ देते हैं . बस उन पर विश्वास कर !