• अध्यात्म
  • प्रभात साहित्य
  • वीडियो
  • बिहार
  • झारखंड
  • बंगाल
  • उत्तर प्रदेश
  • देश
  • अंतरराष्ट्रीय
  • खेल
  • टेक्नोलॉजी
  • कारोबार
  • IPL2019
  • L&S
  • इंटरटेनमेंट
  • बी पॉजिटिव
  • Opinion
  • Jharkhand election 2019

नयी पौध

मानव की मर्मस्थली में पैठ बनातीं डॉ अनामिका अनु की ये कविताएं..

रांची : अनामिका अनु. एक कवयित्री, जो दक्षिण भारतीय राज्य केरल के तिरुअनंतपुरम में रहती हैं, लेकिन हिंदी के पठन-पाठन के साथ-साथ रचनाधर्मिता में भी प्रगाढ़ आस्था है. एक रचनाकार के रूप में उन्होंने काव्यात्मक तरीके से मानव जीवन के उन विषयों पर लेखनी और शब्दों के माध्यम से ऐसे चित्रण पेश किये हैं, जो हर व्यक्ति के मर्मस्थली को झिंझोड़ देते हैं. आइए हम रूबरू होते हैं अनामिका अनु की ऐसी ही कुछ कविताओं से...

पुस्तक समीक्षा

समय 'हांका' लगा रहा है कवि अनवर शमीम का दूसरा काव्य संग्रह 'अचानक कबीर'

सखुआ के पत्तों से दोना बनाती आदिवासी औरतें, जिनके हिस्से बस दोने भर नींद है. कवि इन मेहनतकश औरतों के दोना बनाने और गीत के लय को उनके आदिम दर्द के साथ गहराई से महसूसता है.

शहरी संस्कृति की प्रेम कहानियों को बयान करती 'बंद दरवाजों का शहर'

खबर

सुधा मूर्ति की नयी किताब में पौराणिक भारत की महिलाओं की अनकही कहानियां

प्रख्यात लेखिका सुधा मूर्ति की नयी पुस्तक ‘‘द डॉटर फ्रॉम ए विशिंग ट्री : अनयूशुअल टेल्स अबाउट वुमन इन माइथोलॉजी'''' में पौराणिक भारत की महिलाओं की अनकही कहानियां बयां की गयी है. यह पुस्तक उनकी ‘पौराणिक कथा'' शृंखला में नयी है. इसका प्रकाशन पफिन ने किया है. पुस्तक में शक्ति और भामति के नाम और पहचान का उल्लेख किया गया है जिनका नाम भारतीय पौराणिक कथाओं के पन्नों से भी लगभग गायब हो गया है.