प्रभात मत

अराजक उड़ान सेवाएं

Prabhat Khabar

बेहद सुविधाजनक और समय की बचत करनेवाली हवाई यात्रा थोड़ी-सी चूक से यातनादायी भी हो सकती है. गुरुवार सुबह मुंबई से जयपुर जा रहे जेट एयरवेज के एक विमान के यात्रियों को ऐसे ही भयावह अनुभव से गुजरना पड़ा. उस विमान के भीतर हवा का समुचित दबाव बनाये रखनेवाले बटन को चालू नहीं करने के कारण यात्रियों के कान और नाक से खून निकलने लगा था.

Columns

मोबाइल इस्तेमाल का सच

आलोक जोशी

फोन पर सिर्फ जरूरी बात करें. फोन पर फालतू बात न करें. ध्यान रखें, हो सकता है किसी को कोई बेहद जरूरी ...

Columns

इस्तेमाल और लत का समझें फर्क

निखिल पहवा

सूचना के लिहाज से हम एक ऐसे दौर में हैं, जहां सोशल मीडिया के जरिये हर पल कुछ न कुछ देखते-पढ़ते या ...

Columns

अपरिपक्वों को किनारे करें मोदी

प्रभु चावला

दूरी परिप्रेक्ष्य देती है, फिर विश्लेषण और प्रवृत्ति की प्राप्ति होती है. पिछले सप्ताह महाराष्ट्र ...

Columns

चीन की विस्तारवादी योजना

डॉ अश्विनी महाजन

श्रीलंका के ‘हंबनटोटा’ बंदरगाह पर कब्जे को पुनः याद करवाते हुए, चीन अब केन्या के अत्यंत लाभकारी ...

Columnists

संतुलित हो डेटा शुल्क

प्रमुख टेलीकॉम कंपनियों द्वारा मोबाइल फोन शुल्कों में 45 फीसदी तक की बढ़ोतरी उपभोक्ताओं के लिए एक बड़ा झटका साबित हो सकती है. कंपनियों और कारोबार के जानकारों का यह तर्क अपनी जगह सही हो सकता है कि टेलीकॉम सेक्टर को सुचारू रूप से चलाने के लिए शुल्कों को 50 फीसदी तक बढ़ाने की जरूरत है तथा यह तथ्य भी ठीक है कि भारत अब भी उन देशों में शामिल हैं, जहां डेटा टैरिफ सबसे कम हैं.

बेरोजगारी की चुनौती

उत्पादन और मांग में कमी की वजह से कमजोर होती अर्थव्यवस्था की मार रोजगार के मोर्चे पर भी पड़ी है. केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने संसद को बताया है कि 2013-14 में जो बेरोजगारी दर 3.4 फीसदी थी, वह 2017-18 में छह फीसदी हो गयी. यह आंकड़ा 45 सालों में सबसे अधिक है.

कैसे रुके दुष्कर्म

बलात्कार जैसी जघन्य घटनाओं पर होनेवाली चर्चा अक्सर कुछ बिंदुओं के इर्द-गिर्द घूमती है. कोई अपराधियों को चौराहे पर फांसी देने या पीटकर मार देने की मांग करता है, तो कोई महिलाओं पर कमोबेश पाबंदी की सलाह देता है. कुछ लोग नशे, फोन, कपड़े आदि पर भी दोष मढ़ते हैं.

ज्ञानाधारित हो आर्थिकी

सभ्यता के प्रारंभ से ही मनुष्यता के विकास में शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थान रहा है. आधुनिक युग में दशकों पहले विद्वानों ने इस तथ्य को रेखांकित किया था कि वृद्धि एवं उत्पादन को केवल पूंजी व श्रम के आधार पर विश्लेषित नहीं किया जा सकता है, इस प्रक्रिया में ज्ञान यानी उच्च कोटि की शिक्षा के तत्व की विशिष्ट उपस्थिति है. वर्तमान समय में ज्ञान और तकनीक से संबंधित उद्योग व उद्यम वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था के सिरमौर बने हुए हैं.

प्राणघातक वायु प्रदूषण

दुनिया के एक बड़े हिस्से में निरंतर बढ़ते वायु प्रदूषण के खतरे गंभीर होते जा रहे हैं. इस मुद्दे पर चर्चा के दौरान स्वास्थ्य पर इसके असर का उल्लेख भी होता रहता है, लेकिन एक हालिया अध्ययन की मानें, तो अब तक इस असर की भयावहता का जो आकलन है, उससे कहीं बहुत अधिक नुकसान जहरीली हवा से हो सकता है. ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित शोध में कहा गया है कि शरीर की लगभग हर कोशिका प्रदूषित वायु से प्रभावित हो सकती है. इस अध्ययन का एक मुख्य आधार हवा में प्रदूषण की मात्रा बढ़ने के साथ अस्पतालों में मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी है.

11 भाषाओं में जेईई मेन

आईआईटी और एनआईटी समेत देश के शीर्ष तकनीकी शिक्षण संस्थानों के इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए वर्ष में दो बार संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन आयोजित होती है. इसमें लाखों छात्र शामिल होते हैं.

एनपीए की चिंता

बैंकिंग व्यवस्था पर फंसे हुए कर्जे (एनपीए) का दबाव अर्थव्यवस्था से जुड़ी मौजूदा प्रमुख चिंताओं में एक है. इस वजह से निवेश और उपभोग के लिए नगदी मुहैया कराने में बैंकों को परेशानी हो रही है. सरकार ने पूंजी की उपलब्धता सुनिश्चित कर और रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में लगातार कटौती कर स्थिति को सुधारने की कोशिश की है.

बेहतर हो स्वास्थ्य सेवा

देश के कई राज्यों में स्वास्थ्य सेवा से संबंधित बुनियादी सुविधाओं व चिकित्सकों की बहुत कमी है. इनमें से ज्यादातर राज्य उत्तर भारत और पूर्वी भारत में हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा संसद को दी गयी जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा, कर्नाटक और बिहार प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों में अभाव से सर्वाधिक प्रभावित हैं.

आरओ पानी पर सवाल

न लके से मुहैया होनेवाले पानी या भूजल को पीने लायक बनाने के लिए घरों, कार्यालयों एवं होटलों आदि में रिवर्स ऑस्मॉसिस (आरओ) तकनीक का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है. इस तकनीक से शोधित पानी को बोतलबंद कर बेचा भी जाता है, जो कि खनिजयुक्त पानी से सस्ता होता है.

मजबूत हो साइबर सुरक्षा

संतोषजनक है कि पिछले महीने कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर हुआ साइबर हमला अहम इंफ्रास्ट्रक्चर तंत्र को नुकसान पहुंचाने में नाकाम रहा है. संयंत्र के सामान्य प्रशासनिक कंप्यूटर नेटवर्क और उत्पादन से जुड़े नेटवर्क के बीच संपर्क नहीं रहने के कारण ऐसा संभव हो सका है, परंतु यह घटना ऐसे संयंत्रों की सुरक्षा को मजबूत करने की जरूरत को रेखांकित करती है.

कमजोर होती अर्थव्यवस्था

उत्पादन, मांग और निर्यात में कमी तथा मुद्रास्फीति बढ़ने के साथ रोजगार की लचर होती स्थिति से अर्थव्यवस्था से संबंधित चिंताएं गंभीर होती जा रही हैं. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, नोमुरा होल्डिंग्स और कैपिटल इकोनॉमिक्स से जुड़े अर्थशास्त्रियों का आकलन है कि पिछली तिमाही (जुलाई से सितंबर) में अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 4.2 से 4.7 के बीच रही है.

स्वास्थ्य सेवा में तकनीक

डिजिटल तकनीक हमारे रोजमर्रा के जीवन का अहम हिस्सा होती जा रही है. प्रशासन, बैंकिग, उद्योग, खेती आदि अनेक क्षेत्रों में इससे सहूलियत बढ़ी है. अब आधुनिक तकनीकी माध्यमों के इस्तेमाल से स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने की दिशा में भी कोशिशें हो रही हैं.