प्रभात मत

अराजक उड़ान सेवाएं

Prabhat Khabar

बेहद सुविधाजनक और समय की बचत करनेवाली हवाई यात्रा थोड़ी-सी चूक से यातनादायी भी हो सकती है. गुरुवार सुबह मुंबई से जयपुर जा रहे जेट एयरवेज के एक विमान के यात्रियों को ऐसे ही भयावह अनुभव से गुजरना पड़ा. उस विमान के भीतर हवा का समुचित दबाव बनाये रखनेवाले बटन को चालू नहीं करने के कारण यात्रियों के कान और नाक से खून निकलने लगा था.

Columns

5जी से रखें चीनी कंपनी को बाहर

अश्विनी महाजन

डिजिटल सेलुलर नेटवर्क के लिए 5वीं पीढ़ी की वायरलेस तकनीक है 5जी. जिस मोबाइल फोन का हम उपयोग करते ...

Columns

राजनीतिक विमर्श की भाषा सुधरे

अपर्णा

पिछले एक-डेढ़ दशक से राजनीतिक विमर्श की भाषा में जो बदलाव आया है, वह एक चिंतनीय प्रश्न है. चाहे वह ...

Columns

असली चुनौती तेज क्रियान्वयन की

अजीत रानाडे

पिछले साल के स्वतंत्रता दिवस भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र नोदी ने अगले पांच वर्षों के दौरान ...

Columns

नयी रणनीति तलाशे भारत

पुष्पेश पंत

ईरान के लोकप्रिय और रणकुशल सेनानायक कासिम सुलेमानी की अमेरिकी राष्ट्रपति के आदेशानुसार हत्या ने ...

Columnists

अहम कूटनीतिक जीत

चीन ने न्यूयार्क में बंद कमरे में हुई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् की बैठक में एक बार अपने मुवक्किल पाकिस्तान की ओर से कश्मीर मसला उठाने की कोशिश की. लेकिन बात बनी नहीं और चीनी-पाकिस्तानी गठजोड़ को लगातार तीसरी बार नाकामी हाथ लगी. इसके कुछ देर बाद संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि हमें खुशी है कि पाकिस्तान द्वारा फैलाये जा रहे झूठ और निराधार आरोपों को चर्चा के लायक नहीं समझा गया. फ्रांस, अमेरिका, ब्रिटेन और रूस समेत अन्य 10 देशों ने साफ कह दिया कि यह मामला यहां उठाने की जरूरत नहीं है. कश्मीर, भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है.

निगरानी में ड्रोन

मोट से संचालित होनेवाले बेहद हल्के विमानों (ड्रोन) का इस्तेमाल विभिन्न क्षेत्रों में बढ़ता जा रहा है. एक ओर जहां खेती, खनन, फोटोग्राफी, निगरानी, माल ढुलाई जैसे कामों में यह बेहद उपयोगी साबित हो रहा है, वहीं दूसरी ओर सुरक्षा के लिहाज से खतरा भी बनता जा रहा है.

पेशेवर ईमानदारी जरूरी

समाज में डॉक्टरों को ईश्वर का दूसरा रूप माना जाता है. उनसे यह अपेक्षा भी होती है कि वे पेशे के आदर्शों के प्रति ईमानदारी बरतें. अफसोस की बात है कि कई डॉक्टर व अस्पताल कमाई के लिए मरीजों की गैर-जरूरी जांच कराते हैं और उन्हें महंगी या ज्यादा दवाई लेने की सलाह देते हैं. इस गलत काम में दवा कंपनियों की मिलीभगत भी होती है.

रेलवे की बेहतरी

भारतीय रेल आकार के हिसाब से दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. इसकी 67 हजार किलोमीटर से अधिक लंबी पटरियां हमारी अर्थव्यवस्था के प्रमुख आधारों में से एक है.

स्वास्थ्य डेटा का संग्रह

जीवन के हर क्षेत्र में डिजिटल तकनीक का इस्तेमाल लगातार बढ़ता जा रहा है. हमारे देश में, जहां आबादी का बड़ा हिस्सा समुचित स्वास्थ्य सेवा की पहुंच से दूर है, इस तकनीक के माध्यम से इसके विस्तार की व्यापक संभावना है. इस संबंध में सबसे पहले रोगियों के रिकॉर्ड को संग्रहित करना जरूरी है.

मानसिक देखभाल जरूरी

युवाओं के सामने एक अनोखी दुविधा है. सोशल मीडिया पर अाभासी दोस्तों की लंबी फेहरिस्त है, लेकिन उनमें अकेलेपन का एहसास तेजी से घर कर रहा है. वे सोशल मीडिया पर अधिक समय व्यतीत करते हैं. दरअसल, पढ़ाई, करियर और कार्यस्थल से उपजे तनाव से युवाओं का मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है. किसी पेशेवर या परिजन के बजाय मदद की आस में वे सोशल मीडिया पर अपनी भावनाओं को व्यक्त करना शुरू कर देते हैं.

सुरक्षा और न्याय

खौफनाक दरिंदगी की पीड़िता निर्भया को आखिरकार इंसाफ मिला है. इससे समूचे देश ने राहत की सांस ली है. भले ही इसमें सात सालों से ज्यादा का वक्त लग गया, पर उस घटना के बाद बलात्कार व अन्य अपराधों को रोकने तथा अपराधियों को सजा देने के बाबत कई उपाय हुए हैं और कानून बने हैं.

अर्थव्यवस्था पर तैयारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शीर्ष उद्योगपतियों के साथ अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति और इसे बेहतर बनाने के उपायों पर चर्चा की है. कुछ दिनों से वे कई समूहों और कारोबारियों से मुलाकात कर रहे हैं. उन्होंने संबद्ध मंत्रियों व सचिवों के साथ सरकारी पहलों की समीक्षा भी की है. निश्चित रूप से इन चर्चाओं के निष्कर्षों को बजट में शामिल किया जायेगा, लेकिन कवायद यह भी इंगित करती है कि अर्थव्यवस्था से संबंधित पहलें अब प्रधानमंत्री की सीधी निगरानी में है. सरकार ने 2024 तक राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर तक ले जाने का लक्ष्य रखा है. इसके लिए आर्थिकी में तेज गति से विकास जरूरी है.

विज्ञान को प्राथमिकता

वैज्ञानिक शोध के अभाव में विकास और समृद्धि के लक्ष्यों की प्राप्ति संभव नहीं है. लेकिन हमारे देश में इस क्षेत्र में समुचित प्रोत्साहन नहीं मिल रहा है.

प्रधानमंत्री का हस्तक्षेप

कमजोर अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिश में सरकार कई सुधारों की घोषणा कर चुकी है और आगामी दिनों में कुछ और कदम उठाये जाने की उम्मीद है. अगले वित्त वर्ष का बजट भी फरवरी में पेश होगा, जिसमें अनेक ठोस नीतिगत पहलें की जा सकती हैं. इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीधा हस्तक्षेप किया है. इससे इंगित होता है कि आर्थिकी की गति तेज करना सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है.

झुलसती बेचारगी

दिसंबर के शुरू में दिल्ली की एक फैक्टरी में भीषण आग लगने से 43 लोगों की दर्दनाक मौत और 50 से अधिक के घायल होने की घटना के सदमे से लोग अभी उबर भी नहीं पाये हैं कि गुरुवार को ऐसा एक और हादसा हो गया. सुकून की बात यह है कि इसमें लोगों को बचा लिया गया है.

चीन की चुनौती

नवनियुक्त थल सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे ने चीन की सीमा पर समुचित ध्यान देने की आवश्यकता पर बल दिया है. पाकिस्तान से लगी सीमा और नियंत्रण रेखा पर आतंकियों की घुसपैठ तथा युद्धविराम के उल्लंघन की लगातार घटनाओं के कारण स्वाभाविक रूप से सेना चौकस व मुस्तैद रहती है. परंतु चीन की आक्रामता भी बढ़ती जा रही है. जनरल नरवणे ने सही ही उसे क्षेत्रीय धौंस दिखानेवाला देश कहा है.