पाठक का पत्र

बेखौफ घूमते अपराधी

Prabhat Khabar

हजारीबाग शहर में एक बार फिर मोबाइल छिनतई गिरोह के लोग सक्रिय हो गये हैं. ये एेसे चोर हैं, जिनका काम करने का तरीका ही कुछ अलग है. इनका ध्यान राह चलते व्यक्ति पर रहता है. ये बिना नंबर की बाइक पर तीन की संख्या में सवार होते हैं. पहला व्यक्ति बाइक संभालता है, दूसरा मोबाइल झपटता है और तीसरा माहौल देखता है.

Columns

चीन के निर्यात का गिरता ग्राफ

डॉ अश्विनी महाजन

लगभग दो दशक से सबसे तेज अर्थव्यवस्था के रूप में ही नहीं, बल्कि ‘मैन्युफैक्चरिंग हब’ के रूप में ...

Columns

न हो आचार संहिता का उल्लंघन

नवीन जोशी

आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने के कारण चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ...

Columns

इवीएम पर बार-बार उठते प्रश्न

अवधेश कुमार

विपक्षी दलों ने इवीएम को फिर निशाना बनाया है. इन दलों ने यह तय किया कि वे ईवीएम को खत्म कर मतपत्रों ...

Columns

देश को जीवंत वामपंथ की जरूरत

डॉ संजय बारू

आम चुनावों के रिपोर्ताज एवं विश्लेषणों के रोजाना शोरगुल तथा आपाधापी में भारतीय राजनीति के उस एक अहम ...

Columnists

मनिहारी-अमदाबाद सड़क गड्ढों में तब्दील, हो मरम्मत

20-25 साल पहले मनिहारी-अमदाबाद सड़क-मार्ग की जो दशा थी, अाज फिर से वही स्थिति हो गयी है. वर्ष 2010 से यह सड़क खराब होनी शुरू हो गयी थी, लेकिन आज तक इस तरफ किसी ने ध्यान देना भी मुनासिब नहीं समझा, जिससे इस मार्ग से आने-जानेवाले लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है.

वास्तविक मुद्दों से भटक रहा लोकसभा चुनाव

देश में फिलहाल लोकसभा चुनाव का दौर चल रहा है, जिसमें राजनीतिक दलों के द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान शब्दों के सबसे अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते देखा जा रहा है. ताज्जुब तो तब होती है जब इतना कुछ होने के बावजूद चुनाव आयोग खामोश बैठा है.

सोशल मीडिया पर किये जा रहे भ्रामक पोस्ट से बचें

लोकसभा चुनाव के इस मौसम में सोशल मीडिया पर लोगों की सक्रियता के बीच अफवाह फैलाने का कोशिशें भी होती रहती हैं. बड़ी हस्तियों के नाम पर फेक अकाउंट अक्सर बनाये जाते हैं, जिसे आमतौर पर लोग वास्तविक समझ बैठते हैं. नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, केजरीवाल, योगी आदित्यनाथ जैसे नेताओं के नाम पर बने फर्जी अकाउंट से जारी होने वाले पोस्ट को लोग फेसबुक, व्हाट्स एप, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया साइट से शेयर करते हैं.

मजबूत लोकतंत्र के लिए युवाओं का वोट महत्वपूर्ण

युवा देश की असली ताकत हैं. यदि युवा मतदान के प्रति सजग होंगे तभी देश का लोकतंत्र मजबूत होगा. युवा राष्ट्र के भविष्य हैं, तो इन्हें ही अपने मत का प्रयोग कर देश में एक मजबूत लोकतंत्र की स्थापना करनी होगी.

शिक्षा-रोजगार से आबादी की वृद्धि पर लगेगी लगाम

पिछले सप्ताह एक रिपोर्ट जारी हुआ है, जिसके अनुसार भारत में 10 से 24 साल के 36.5 करोड़ युवाओं की आबादी है. 2020 में भारत युवाओं का देश होगा.

गैरमजरूआ जमीन पर से कब्जा हटाये प्रशासन

गैरमजरूआ जमीन बिहार सरकार की जमीन है. 1955 में बिहार में जमींदारी खत्म होने के बाद इस जमीन पर ग्रामीणों का कब्जा है. एक ऐसा ही मामला औरंगाबाद जिले के नबीनगर प्रखंड की हरिहर उरदाना का है.

बदलते मौसम में लापरवाही कर सकती है बीमार

मौसम में बहुत तेजी से बदलाव दिख रहा है. इससे कई प्रकार की बीमारियां होने की आशंका बढ़ गयी है. खासकर पीलिया लोगों को अपनी चपेट में ले सकता है.

इवीएम पर सवाल उठाना गलत परिपाटी

प्रथम चरण का चुनाव समाप्त होते ही कुछ राजनीतिक दलों ने इवीएम हैकिंग का राग अलापना शुरू कर दिया है. उन्हें यह समझना चाहिए कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है.

विवादित बयान देनेवालों को अयोग्य करार दे आयोग

लोकतंत्र के इस महापर्व में जिस प्रकार नेताओं के जुबान फिसल रहे हैं, वाकई सोचनीय व निंदनीय है. नेताओं को अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना चाहिए.

अंपायरों ने किया निराश

आइपीएल के मौजूदा सत्र में अंपायरों ने अपनी अंपायरिंग से काफी निराश किया है. हम सब जानते हैं कि आइपीएल भारत का पेशेवर टी-20 लीग है.

इवीएम पर हंगामा बेमानी

चुनाव आते ही इवीएम पर अंतहीन तकरार शुरू हो चुकी है, जो इनके नतीजे आने के बाद तो पूरे उबाल पर रहेगी. जो भी पार्टी हारेगी, ठीकरा इवीएम पर फोड़ेगी. यह सब तब है, जब प्रत्याशी और दल इवीएम से चुनाव कराने को सहमति दे चुके हैं.

छात्र राजनीति से दूर क्यों रहें

दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज एक बार फिर चर्चा में है. प्रिंसिपल मनोज खन्ना जी छात्रों को नसीहत दे रहे हैं की वार्षिक पत्रिका ''आनंद पर्वत'' में छात्रों को किस विषय पर लिखना है और किस पर नहीं लिखना है.