Columns

भारत की आत्मा के लिए लड़ाई

मृणाल पांडे

राज्यों के ताजा चुनावी नतीजों से राज्यवार जिस किस्म के आमूलचूल बदलाव की उम्मीद टीवी के पंडितों ने लगा रखी थी, वह नहीं आया. मध्य प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ कांग्रेस को वापिस मिल गये, पूर्वोत्तर में मिजोरम और दक्षिण में तेलंगाना को भी क्षेत्रीय दलों ने कब्जे में ले लिया. उधर बंगाल, तमिलनाडु, ओडिशा, पहले से ही क्षेत्रीय दलों के पास हैं.

Columns

जन-संस्कृति का त्योहार है होली

Prabhat Khabar

हमारी काॅलोनी के बच्चे प्लास्टिक की पिचकारियां हाथ में लेकर एक-दूसरे के पीछे दौड़ते दिख रहे हैं, ...

Columns

घातक है नफरत की संस्कृति

आकार पटेल

शुक्रवार (15 मार्च, 2019) को रेडियो पर समाचार सुनते हुए मुझे न्यूजीलैंड में हुए नरसंहार के बारे में ...

Columns

हर राज्य में हों कैंसर अस्पताल

Prabhat Khabar

बीते रविवार की शाम गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन हो गया. पर्रिकर पैंक्रियाटिक कैंसर से ...

Columns

और अब श्वेत आतंकवाद का उभार

आशुतोष चतुर्वेदी

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों पर अंधाधुंध गोलीबारी कर 50 लोगों की जान लेने की घटना ने ...

Columnists

आसान नहीं मिजोरम सरकार की राहें

एक दशक के राजनीतिक निर्वासन के बाद जोरामथांगा के नेतृत्व में मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) द्वारा ऐतिहासिक जीत के बाद सत्ता की बागडोर संभालना मिजोरम राजनीति में एक नये अध्याय का प्रारंभ है.