वृश्चिक ((तो,ना,नी,नू,ने,नो,या,यी,यू))

दैनिक राशिफल

उच्च कल्पनाशीलता का रंग मन मस्तिष्क में छाया रहेगा. जोशो-खरोश से कार्य करने के मूड में रहेंगे. पराक्रम का भाव भी सफलता में सहायक होगी.

साप्ताहिक राशिफल

वृषभ : रोग भाव के स्वामी एवं आपकी राशि के स्वामी दशम भाव में केतु के साथ हैं. स्वास्थ्य में निरंतर उतार-चढ़ाव रहेगा, लेकिन आपका सप्ताह अच्छा व्यतीत होगा. अगर आप खान-पान और शरीर को पर्याप्त आराम नहीं देंगे, तो स्वास्थ्य खराब हो सकता है. सावधानी जरूरी है.

वार्षिक राशिफल

वृश्चिक
वार्षिक राशिफल - 2015

जनवरी : भाग्य पक्ष बहुत मजबूत रहेगा. पराक्रम, कार्य करने की क्षमता और इच्छाशक्ति बहुत तीव्र रहेगी. वाणी ओजस्वी रहेगी. दूसरों को अपनी बातों से प्रभावित करने में सफल होंगे. यात्र का योग है जो लाभकारी होगी.

फरवरी : अचानक धन हानि का योग बन रहा है, आर्थिक मामलों में जोखिम न उठाएं. किसी करीबी मित्र का बहुत ही आवश्यक समय पर सहयोग मिलेगा.   2015 राशिफल के माध्यम से पता चलता है कि यात्र लाभकारी होगी.

मार्च : इस दरम्यान बहुत अधिक खर्च या अचानक अधिक धन हानि का योग बना हुआ है. आर्थिक मामलों में सतर्कता बरतने की आवश्यकता है. कफ संबंधी समस्याएं बढ़ सकती हैं. सावधानी बरतें. बच्चों को वाहन सावधानी से चलाने को कहें.

अप्रैल : अप्रैल में आर्थिक स्थिति अनियंत्रित रहेगी. भाग्य पक्ष कमजोर है, भाग्य भरोसे कोई काम न करें. यात्रएं बहुत फलदायी नहीं होंगी, अत: बहुत अनिवार्य न हो तो यात्र न करें. शेयर बाजार में सावधानी से निवेश करें.

मई : मानसिक रूप से थोड़ा आराम महसूस करेंगे. पारिवारिक सुख में वृद्धि होगी. जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा और यदि कोई विवाद चल रहा हो, तो उसके सुलझने के आसार बनेंगे. शत्रुओं को बहुत ही प्रभावशाली ढंग से दबाने में सक्षम होंगे.

जून : जीवनसाथी के स्वास्थ्य की समस्या उठ सकती है. धन की कमी महसूस होगी. सिरदर्द, पेट और कफ की समस्या से  परेशान हो सकते हैं. भाई-बहनों और मित्रों का सहयोग मिलेगा. विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य आपके साथ बना रहेगा.

जुलाई : शरीर और स्वास्थ्य को लेकर अधिक सतर्कता बरतें. वाहन चलाते समय, आग और बिजली के उपकरणों से सावधानी बरतें, क्योंकि घटना-दुर्घटना का योग बन रहा है. धन की समस्या हावी रहेगी. इस माह धैर्य और साहस से काम लें.

अगस्त : नये कार्य में हाथ डालने पर सफलता मिलेगी. धन का आगमन अच्छा रहेगा. अपने से उच्च वर्ग से संबंध बनेंगे. यात्र सफल होगी. भविष्यफल 2015 के अनुसार हर काम में प्रारंभिक अड़चन आयेगी, परंतु परिणाम आपके पक्ष में होगा.

सितंबर : बुद्धि के बल पर जबरदस्त धनागमन की संभावना बन रही है. पिता और उच्च अधिकारियों का भरपूर सहयोग मिलेगा. अचानक मिली सफलताओं में संयम बनाये रखें और प्रयास करें कि अहंकार न पनपे.

अक्तूबर : संतान पक्ष से परेशानी हो सकती है. गर्भवती महिलाएं अपना बहुत ध्यान रखें और सावधानी बरतें. परिवार के साथ यात्र का योग बन रहा है. पिता और राज्य अधिकारियों का सहयोग मिलेगा.  यात्र सफल होगी.

नवंबर : आर्थिक नुकसान का योग है, अत: धन के मामलों में जोखिम न उठाएं. यदि व्यापार में हैं तो आय बहुत कम होनेवाली है. सामाजिक क्षेत्र में कुछ नया करेंगे, जिससे आपका बहुत दबदबा बनेगा. यात्र के दौरान आंखों का ख्याल रखें.

दिसंबर : आप निर्णय लेने में बहुत तीव्रता दिखायेंगे. गलत तरीके से धन आ सकता है और गलत कार्य करने की प्रवृत्ति भी बनेगी. घटना-दुर्घटना का योग बनेगा. मतभेद के कारण अपनों से दूरियां बन सकती हैं. गर्भवती महिलाएं अपना ख्याल रखें.

उपाय : शनिवार को वट/ पीपल के वृक्ष के नीचे सरसों या तिल के तेल का दिया जलाएं यदि ये उपलब्ध न हों, तो घर में ही शनि यंत्र मंगा कर नियमित दीप जलाएं. शत्रु परेशान कर रहे हों, तो 40 दिनों तक हनुमान जी की आराधना करें.