धनु ((ये,यो,भ,भे,भी,भू,ध,फ,ढ))

दैनिक राशिफल

विषाक्त भोजन के कारण परेशानी में  पड़ सकते हैं. परहेज करना बेहतर  होगा. बाहरी स्थानों के माध्यम से लाभ मिल सकता है.

साप्ताहिक राशिफल

धनु : रोग भाव के स्वामी तृतीय भाव में हैं. मानसिक व्यग्रता अधिक रहेगी. वाहन चलाते समय या अविवेकपूर्ण काम करते समय घायल हो सकते हैं. खेल-कूद से जुड़े जातकों को चौकन्ना रहना होगा. असावधानी चोट न लग जाये. इसका जरा ध्यान रखना होगा.

वार्षिक राशिफल

धनु

वार्षिक राशिफल - 2015

जनवरी : धन के मामले में यह माह बहुत अच्छा जायेगा. मां का स्वास्थ्य थोड़ा बिगड़ सकता है, जिसके कारण आपको धन खर्च करना पड़ सकता है. गहरे पानी से थोड़ी दूरी बनाये रखें. मोटापा और थायराइड की समस्या से पीड़ित हैं, तो अपने खान-पान पर थोड़ा ध्यान दें. भाग्य साथ रहेगा.

फरवरी : खर्च की अधिकता रहेगी. भाई-बहनों और मित्रों का सहयोग मिलेगा. धन के आगमन में थोड़ी कठिनाई महसूस होगी, फिर भी बुद्धि-बल बढ़ा रहेगा.

मार्च : मान-सम्मान की स्थिति बन रही है. किसी कार्यवश ख्याति मिलेगी. भाग्य साथ रहेगा. पारिवारिक सुख में थोड़ी कमी रहेगी, लेकिन बाहरी संबंधों से बहुत फायदा होगा. बड़े भाई या पिता से वैचारिक मतभेद होने की संभावना है, अत: थोड़ी सावधानी बरतें.

अप्रैल : भाग्य पक्ष बहुत कमजोर है, अत: जोखिम न उठाएं. आय सामान्य रहेगी. अत्यंत आवेश में आकर कोई बड़ा आर्थिक फैसला न लें अन्यथा हानि होगी. यदि विवाह करने की सोच रहें हैं, तो यह समय बहुत अच्छा है.

मई : संतान के कारण बहुत प्रसन्नता होगी. पिता से संबंध अच्छा होगा, उनका सहयोग भी प्राप्त होगा. धार्मिक यात्र हो सकती है और किसी धार्मिक कार्य के कारण धन खर्च हो सकता है. शत्रु परास्त होंगे, परंतु कोई जननेंद्रिय संबंधी रोग हो सकता है, अत: सावधानी बरतें. गहरे पानी से थोड़ी दूरी बनाये रखें.

जून : आर्थिक हानि का योग बन रहा है. खर्च नियंत्रण से बाहर हो सकता है. व्यापार के क्षेत्र में हैं, तो आय बिलकुल कम हो जायेगी. नौकरी वालों के लिए भी नौकरी छूटने या स्थान परिवर्तन का योग बन रहा है. कुल मिला कर विपरीत समय है, ऐसे में धैर्य और मानसिक संतुलन बनाये रखें.

जुलाई : धन के मामलों में थोड़ी राहत होगी. पैसे एक से अधिक स्नेतों से आयेंगे, परंतु जीवनसाथी से संबंध अभी नहीं सुधरेंगे. पारिवारिक सुख में कमी महसूस करेंगे. नये कार्य और नयी योजनाएं अभी न बनाएं. धन के मामले में बिलकुल जोखिम न उठाएं. मां और खुद के स्वास्थ्य का ध्यान रखें.

अगस्त : अगस्त 2015 में स्वास्थ्य में सुधार और आय में वृद्धि होने से मन प्रसन्न रहेगा. कर्जदारों से मुक्ति भी मिलने लगेगी. परिवार में शांति, भाग्य पक्ष मजबूत, समाज में एक बार फिर से मान-सम्मान आदि सारी स्थिति आपको प्रसन्नता देनेवाली होगी. कुल मिला कर आपके लिए सुखद समय रहेगा.

सितंबर : आय में अप्रत्याशित वृद्धि होगी. भाग्य पूरी तरह से आपके साथ है. हर ओर वातावरण आपके अनुकूल बनेगा. सरकारी व राजनीतिक कार्यो में, बाहरी संबंधों से जबरदस्त लाभ होगा. पिता से संबंध अच्छे होंगे और उनका भरपूर साथ मिलेगा. शत्रु परास्त होंगे. यात्रएं सुखद होंगी.

अक्तूबर : भाग्यवश कुछ ऐसा होगा, जिसका परिणाम आनेवाले समय में बहुत अच्छा होगा. हालांकि, खर्च बहुत अधिक होगा, विशेषकर बच्चों के ऊपर. यात्र सुखद और फलदायी रहेगी तथा स्त्री वर्ग से सहयोग भी मिलेगा. निर्णय लाभकारी रहेंगे. यह आपके लिए बेहतर समय है, लाभ उठाएं.

नवंबर : उच्च अधिकारियों और पिता के कारण लाभ मिलेगा. भाग्य सहयोगी रहेगा, जीवनसाथी से सहयोग व साथ से लाभ का योग बन रहा है. विदेश जाने का प्रयास कर रहें हैं, तो सफलता मिलेगी तथा वहां से लाभ होगा. निर्णय लेने की अद्भुत क्षमता रहेगी. संतान से सुख प्राप्त होगा.

दिसंबर : शत्रु और रोग का शमन होगा, परंतु धन के मामले में समय अच्छा नहीं है. सरकारी क्षेत्र से हानि का योग बन रहा है. न्यायालयी विवाद में भी परिणाम आपके पक्ष में नहीं आयेंगे, प्रयास करें कि कोई नया विवाद न हो. कुल मिला कर समय थोड़ा प्रतिकूल है, अत: संयम से काम लें.

उपाय : सूर्य को नियमित अघ्र्य दें और आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें. विष्णु शतनाम या सहस्त्र नाम का पाठ करें. पढ़नेवाले गरीब बच्चों को भोजन और पठन सामग्री दान करें. पीली और मीठी चीजों का सेवन बहुत कम कर दें और गुरुवार को तो बिलकुल ही न करें. महामृत्युंजय मंत्र का जप करें.