सिंह ((मा,मी,मो,टा,टे,मू,मे,टी,टू))

दैनिक राशिफल

आध्यात्मिक उन्नति के अासार नजर आते हैं,  बस सदगुरु का ध्यान लगाये रखें. भाइयों के सहयोग से सफलता मिलेगी, मेलजोल बना कर चलें.

साप्ताहिक राशिफल

सिंह : रोग भाव के स्वामी चतुर्थ भाव में हैं. स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें. पाचन, किडनी, तथा पेट संबंधी रोग हो सकते हैं. मानसिक बेचैनी और अत्यधिक काम के चलते थकान हो सकती है. गर्भवती महिलाओं को भी तंदुरूस्ती का ध्यान रखना होगा. खान-पान का ध्यान रखें.

वार्षिक राशिफल

सिंह

वार्षिक राशिफल - 2015

जनवरी : सिंह राशि के जातक अपनी वाणी के कारण परेशानियों में फंस सकते हैं. खर्च अधिक और आय कम रहेगी. स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा. यात्र करते समय और वाहन चलाते समय बहुत सावधानी बरतें, क्योंकि दुर्घटना का योग बन रहा है.

फरवरी : स्वास्थ्य और धन संबंधी समस्या बनी रह सकती है. फिर भी जीवनसाथी का सहयोग बना रहेगा, नये प्रेम संबंध भी पनप सकते हैं. शत्रु हावी रहेंगे, अंजाना भय बना रहेगा, धर्म और पूजा-पाठ से थोड़ा विरक्ति होगी. कामोत्तेजना बढ़ेगी.

मार्च : स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार होगा. कमर के नीचे चोट लगने की संभावना बन रही है. मन, वाणी और सोच पर नियंत्रण रखें. नये व्यापार में हाथ डालने के लिए समय अच्छा नहीं है. भाग्य के भरोसे न रहें. शेयर मार्केट से लाभ मिलने की संभावना है.

अप्रैल : यह महीना काफी उथल-पुथल भरा रहेगा. कई प्रकार की मानसिक उलझनें रह सकती हैं. विशेषकर चिकित्सा में खर्च नियंत्रण से बाहर हो सकता है. किसी मार्गदर्शक या गुरु की सहायता लें. क्रोध के कारण करीबियों को दुश्मन बना सकते हैं. मई : आप लगभग सभी समस्याओं से निकल जायेंगे. भाग्य बहुत प्रबल होगा, पराक्रम, सोचने-समझने की शक्ति बहुत बढ़ी-चढ़ी रहेगी. आप बुद्धि-बल द्वारा सभी परेशानियों से निकलने में सक्षम होंगे. यदि नौकरी में हैं, तो तरक्की संभव है.

जून : आपका समाज में प्रभाव बढ़ेगा. राजनीति, धर्म या सामाजिक क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए उन्नतिकारक समय होगा. धर्म के कार्यो में धन खर्च होगा. शिक्षा-प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी. उच्च अधिकारियों व पिता का सहयोग मिलेगा.

जुलाई : धन के मामले में जुलाई बहुत अच्छा रहेगा. आय और व्यय का संतुलन बना रहेगा. शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े लोगों को अच्छी सफलता मिलेगी. अहंकार बढ़ सकता है, वाणी बहुत कड़वी हो सकती है. वाणी पर नियंत्रण की आवश्यकता रहेगी.

अगस्त : वैवाहिक जीवन में काफी समस्या आ सकती है. प्रेम संबंध टूट सकते हैं. अत: जीवनसाथी के साथ मिल-जुल कर रहने का प्रयास करें. बहुत सारी विषम परिस्थितियों के बावजूद मन शांत रहेगा. आप समस्याओं को सुलझाते जायेंगे.

सितंबर : बुद्धि के बल पर समस्याओं से निकलने में समर्थ होंगे. समाज में बहुत प्रभाव बढ़ेगा. रुके हुए काम बनेंगे, सरकारी क्षेत्र में कार्य करनेवाले लोगों के लिए अच्छी सफलता का योग है. पानी और वाहन से सतर्क रहें.

अक्तूबर : अपने वैवाहिक जीवन को बहुत संभालें. जीवनसाथी को समय दें. बाहरी लोग आपसे बहुत प्रभावित रहेंगे और आपके पास खिंचे चले आयेंगे. उच्च रक्तचाप और हृदय रोगी बहुत सतर्क रहें. अचानक धन-लाभ होने का योग है.

नवंबर : शत्रु हावी हो सकते हैं. स्वास्थ्य, विशेषकर अपनी आंखों का ध्यान रखें. व्यर्थ की यात्र भी संभावित है, जिसका कोई सार्थक परिणाम नहीं निकलनेवाला. संतान पक्ष से कष्ट हो सकता है. व्यसन, एल्कोहल व अनैतिक कर्मो से बचें.

दिसंबर : हृदय व पेट के रोगी अत्यधिक सावधानी बरतें. बहनों व किसी स्त्री से बहुत सहयोग मिलेगा. धन संबंधित फैसले शांत मन से लें. किसी केस में फंसने की नौबत आ सकती है. क्रोध पर बहुत नियंत्रण रखें अन्यथा बहुत नुकसान हो सकता है.

उपाय : सूर्य का व्रत एक वर्ष या 30 रविवारों तक या फिर 12 रविवारों तक करें. व्रत के दिन लाल रंग का वस्त्र धारण करके ‘ú ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय नम:’ मंत्र का 12,  5 या 3 बार माला जप करें. जप के बाद  सूर्य को अघ्र्य दें.