मिथुन ((का,की,ड,छ,कु,घ,के,को,हा))

दैनिक राशिफल

मांगलिक कार्यों के पीछे धन व्यय हो  सकता है. विलासिता की वस्तुअों की खरीद हो सकती है. बाहरी स्थानों से लाभ होगा. मौसमी बीमारी हो सकती है.

साप्ताहिक राशिफल

मिथुन : आपके रोग भाव के स्वामी रोग भाव में है. स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा. पाचन तंत्र संबंधी समस्या, चर्म रोग, प्रजनन संबंधी बीमारी, गले या ग्रंथियों से संबंधित समस्या हो सकती है. पीठ में दर्द या हड्डी की समस्या हो, तो भारी काम से दूर रहें.  इलाज में भी लापरवाही नहीं बरतें.

वार्षिक राशिफल

मिथुन

वार्षिक राशिफल - 2015

जनवरी : मिथुन राशि वालों के लिए प्रथम माह खर्च की अधिकता लिये हुए आयेगा. पिता और राज्य संबंधी कार्यो में सहयोग व सफलता मिलेगी. यात्र में सावधानी बरतें.

फरवरी : भाग्य खूब साथ देगा. निर्णय सोच-समझ कर लेंगे और आपके निर्णय सही भी होंगे. परिवार में विवाद हो सकता है, सूझ-बूझ से काम लेने की आवश्यकता पड़ेगी.

मार्च : यह बहुत अच्छा महीना रहेगा. राजनीतिक क्षेत्र के लोगों के लिए तो अत्यंत उत्थानकारक साबित होगा, जो लोग राजनीतिक क्षेत्र में नहीं भी हैं, उनके भी मान-प्रतिष्ठा में अभूतपूर्व वृद्धि होगी. आपके कार्यो की सराहना होगी.

अप्रैल : आपकी सूझ-बूझ, निर्णय लेने की क्षमता और मेहनत के कारण आय में वृद्धि होगी. उच्च अधिकारियों के द्वारा आपको बहुत मान-सम्मान मिलेगा. शिक्षा और संतान से प्रसन्नता मिलेगी, मित्रों से मधुर संबंध बनेंगे.

मई : आय में वृद्धि तो रहेगी, परंतु व्यय भी बढ़ेगा. यदि उच्च रक्तचाप के मरीज हैं, तो थोड़ा सेहत का ध्यान रखें. मां के स्वास्थ्य की भी चिंता हो सकती है. मन थोड़ा चंचल हो सकता है और विपरीत लिंगियों के प्रति आकर्षण बढ़ सकता है. अपने ऊपर थोड़ा नियंत्रण रखने की कोशिश करें अन्यथा आप अपने लक्ष्य से भटक सकते हैं.

जून : यह महीना अत्यधिक सावधानी बरतनेवाला रहेगा. धन के मामलों में थोड़ा कठिन समय रहेगा. धन आने पर भी खर्च नियंत्रण से बाहर हो सकता है. आपके अपने और परिवार के स्वास्थ्य पर धन खर्च हो सकता है. अत: स्वास्थ्य के मामले में अत्यधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता रहेगी.

जुलाई : शत्रु परास्त होंगे और मान-सम्मान बढ़ेगा, परंतु स्वास्थ्य की समस्या हो सकती है, विशेषकर, हृदय और मस्तिष्क का विशेष ध्यान रखने की जरूरत पड़ेगी. अनावश्यक तनाव न लें. पराक्रम और तेज में वृद्धि होगी, अत: थोड़ा संयम रखना होगा. यात्र के दौरान और अग्नि से सावधान रहें.

अगस्त : प्रेम संबंधों और वैवाहिक जीवन में अत्यधिक प्रसन्नता रहेगी. नये प्रेम संबंध भी पनप सकते हैं. आय और व्यय संतुलित रहेगा. व्यापार में नये अवसर व नौकरी में उन्नति के योग बन रहे हैं. मिथुन लग्न की गर्भवती महिलाओं तथा छोटे बच्चों को सेहत का थोड़ा ध्यान रखना आवश्यक होगा.

सितंबर : नये घर या नये वाहन को खरीदने के लिए अच्छा अवसर है. सूझ-बूझ और निर्णय लेने की क्षमता प्रखर होगी. इष्ट-मित्र खूब साथ देंगे. माता पिता की सेहत पर थोड़ा ध्यान दें. उनके साथ समय बिताएं और उनकी आवश्यकताओं का ध्यान रखें अन्यथा उनके मन में असंतोष उत्पन्न हो सकता है.

अक्तूबर : आय की अपेक्षा खर्च अधिक बढ़ेगा. नये कार्य को कुछ समय के लिए टाल देना इस समय अच्छा रहेगा. जीवनसाथी के स्वास्थ्य और उनकी इच्छाओं का खयाल रखें. अपनी बुद्धि के बल पर किसी बड़ी समस्या से निकलने में कामयाब होंगे. अपनी योजनाएं दूसरों से जाहिर न करें.

नवंबर : नौकरीशुदा लोगों को उन्नति का अवसर मिलेगा. आपका पराक्रम बढ़ेगा. किसी मित्र या भाई की मदद से कोई बड़ा काम करने में सफल होंगे. आय भी अच्छी रहेगी और केस-मुकदमों में आपको विजय हासिल होगी. घर-परिवार में कोई अच्छा कार्य हो सकता है.

दिसंबर : इस समय अत्यधिक सावधान और सतर्क रहने की आवश्यकता रहेगी. स्वास्थ्य संबंधी समस्या भी हो सकती है. खर्च पर अत्यधिक नियंत्रण की आवश्यकता पड़ेगी. यात्र टाल ही दें तो अच्छा है. किसी से भी विवाद में न उलङों और अति उत्साह में कोई आर्थिक फैसला न लें अन्यथा हानि होगी.

        उपाय : अगर किसी जातक पर शनि की साढ़ेसाती बहुत भारी है, तो उसे सुंदरकांड या हनुमान चालीसा का नित्य पाठ करना चाहिए. शनिवार को प्रात: काल पीपल के पेड़ पर जलदान करने से भी शनि पीड़ा से शांति मिलती है.