मेष ((चू,चे,ली,लू,अ,चो,ला,ले,लो))

दैनिक राशिफल

अचानक कोई रकम हाथ लगनेवाली है. उसे बचा कर रखें, जरूरी नहीं कि खर्च कर ही डालें. दिल व दिमाग को संतुलित रखें, ताकि उचित निर्णय ले सकें.

साप्ताहिक राशिफल

मेष : स्वास्थ्य के मामले में सर्तकता बरतें. रोग भाव के स्वामी नीच के द्वादश भाव में परिभ्रमण कर रहे हैं. मानसिक चिंता, तनाव, बेचैनी की शिकायत हो सकती है. मंगल व शनि की अष्टम भाव में युति भी पीड़ा का कारण बन सकती है. एसिडिटी व आंखों की समस्या हो सकती है.

वार्षिक राशिफल

मेष

वार्षिक राशिफल - 2015

जनवरी  :  मेष राशि के जातकों के लिए यह माह अत्यंत शुभकारी होगा. अत्यधिक पराक्रम, भाई बहनों से मधुर संबंध, राज्य या पिता से जबरदस्त लाभ, सरकारी क्षेत्रों में दबदबा, भाग्य प्रबल, शत्रुओं पर प्रभाव एवं यात्र अत्यंत ही फलदायी होनेवाली है.

फरवरी : इस महीने आपकी आय बढ़ सकती है. यदि आप व्यापार के क्षेत्र में हैं, तो नये अनुबंध बनाने में सफलता मिलेगी. नौकरीशुदा लोगों को प्रमोशन के अवसर मिलेंगे. यदि आप भी शिक्षा या प्रतियोगिता में हैं, तो थोड़ी परेशानी हो सकती है.

मार्च : परीक्षार्थियों के लिए अच्छा समय होगा. शत्रु परास्त होंगे, परंतु गुप्त शत्रु पैदा हो सकते हैं. मुकदमे में सफलता मिलेगी.  आपकी अनैतिक कार्यो में रुचि बढ़ सकती है. कामेच्छा भी प्रबल रहेगी. भाग्य के भरोसे न रहें. खर्चो पर नियंत्रण रखें.

अप्रैल : आपका पराक्रम बहुत अधिक बढ़ेगा, परंतु खर्च नियंत्रण से बाहर हो सकते हैं. माता के स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सतर्क रहें, विशेषकर यदि वेपहले से बीमार हों. प्यार करनेवालों के लिए अच्छा समय है, क्योंकि प्रेम में प्रगाढ़ता आयेगी.

मई : इस समय आय, पद, प्रतिष्ठा सब कुछ प्राप्त होगा. शत्रु परास्त होंगे, मुकदमे में जीत होगी. नौकरी में तरक्की और व्यापार में जबरदस्त लाभ मिलेगा, नये व्यापार के अवसर मिलेंगे. धन की आवक अच्छी रहेगी. यात्र लाभदायक होगी.

जून : वाणी और क्रोध पर नियंत्रण रखें. स्वास्थ्य खराब हो सकता है. विशेषकर, यदि उच्च रक्तचाप के मरीज हैं, तो विशेष सावधानी बरतें. घर की मरम्मत या किसी घरेलू काम में धन खर्च होगा. हो सके तो व्यापारिक यात्रओं से बचें.

जुलाई : स्वास्थ्य के प्रति विशेष रूप से सतर्क रहें. कोई शत्रु आपको हानि पहुंचा सकता है. अचानक बुलावे पर कहीं न जाएं. वाहन चलाते समय और यात्र के समय अत्यधिक सावधानी बरतें. हो सके तो अकेले यात्र न करें.

अगस्त : प्रेम करनेवालों के लिए माह अच्छा रहेगा. यदि विवाह योग्य हैं और प्रेम संबंध में हैं, तो अपने प्रेमी से विवाह के लिए अत्यंत ही उपयुक्त समय है. धार्मिक कार्यो में रुझान और धार्मिक कार्यो में खर्च हो सकता है. कोई धार्मिक यात्र हो सकती है.

सितंबर : शिक्षा/ प्रतियोगिता के क्षेत्र में जबरदस्त सफलता का योग है. संतान से सुख या संतान के द्वारा अत्यंत सुख का अनुभव करेंगे. आपके ज्ञान और सोचने, समझने तथा निर्णय लेने की क्षमता में अभूतपूर्व वृद्धि मिलेगी.

अक्तूबर : स्वास्थ्य और शत्रुओं से सतर्क रहें. इसके अलावा यह माह अत्यंत अच्छा है. मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी, शिक्षा, प्रतियोगिता के मामलों में सफलता मिलेगी. कोई लंबे समय से रुका हुआ कार्य भी संपन्न हो सकता है.

नवंबर : ससुराल पक्ष से लाभ की प्रबल संभावना है. लेकिन जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद भी संभव रहेगा. युगल प्रेमियों के वैवाहिक जीवन में बंधने के लिए सर्वोत्तम माह है. नये प्रेम संबंध भी पनपेंगे. कुल मिला कर यह एक सुखद माह रहेगा.

दिसंबर : यह सावधानी बरतने वाला महीना है. मां, पत्नी और अपने बच्चे के अलावा कम ही लोग साथ देंगे. अचानक हानि की संभावना बनेगी, शत्रु हावी हो सकते हैं. स्वास्थ्य में बहुत कष्ट का योग बन रहा है. अत: अत्यंत सावधानी बरतें.

उपाय : मेष राशिफल 2015 के अनुसार इस वर्ष र्पयत शनि आपके अष्टम भाव में रहेंगे, साथ ही शनि की ढैया भी रहेगी. अत: आप शनिदेव का शनिवार के दिन तैलाभिषेक करें व कुमकुम से तिलक करें.  काले उड़द, काले तिल, नीले फूल व पैसे चढ़ाएं. गुड़ का भोग लगाएं.