पवन के वर्मा

संकट में पड़ा ‘इस्पाती ढांचा’

पवन के वर्मा

नौकरशाही के एक अखिल भारतीय स्वरूप के संदर्भ में भारत के ‘इस्पाती ढांचे’ (स्टील फ्रेम) के सृजन का श्रेय सरदार पटेल को दिया जाता है. भारतीय प्रशासनिक सेवा एवं भारतीय पुलिस सेवा समेत अन्य अखिल भारतीय सेवाओं के इस चौखटे से ये उम्मीदें बांधी गयी थीं कि वे तरफदारी की सियासत से परे निष्पक्षता के मानक स्थापित करते हुए एक ऐसी आचार संहिता से निर्देशित होंगी, जो तटस्थता तथा प्रशासनिक प्रभावशीलता प्रदर्शित करती हो. सरकारें भले आती-जाती रहें, मगर इस इस्पाती ढांचे को सरकारी कामकाज का उभयपक्षीय सातत्य सुनिश्चित करना था.

Columns

सोलहवीं लोकसभा का कामकाज

अंकिता नंदा

साल 2019 के बजट सत्र के समापन के साथ 16वीं लोकसभा का अवसान हो गया. पिछले पांच वर्षों के दौरान 133 ...

Columns

तेरह प्वॉइंट रोस्टर का मुद्दा

अनुज लुगुन

बातचीत के दौरान 13 प्वॉइंट रोस्टर पर कुछ विद्यार्थी यह चिंता जाहिर कर रहे थे कि यदि नियुक्तियों में ...

Columns

ट्विटर बाबा की बादशाहत

तरुण विजय

हमारी एक खासियत है. कोई भी बाहर का हो, अंग्रेजी बोलता हो और अगर वह सोशल मीडिया के एक हिस्से का ...

Columns

प्यार का उत्कृष्ट संस्करण

श्रीप्रकाश शर्मा

चीन की एक बहुत पुरानी लोक गाथा है. कहते हैं कि किसी समय वहां संयोग से तीन नेत्रहीन दोस्तों की ...

Columnists