कृष्‍ण प्रताप सिंह

‘प्रताप’ का अविचलित प्रतिरोध

कृष्‍ण प्रताप सिंह

कोलकाता में सक्रिय कानपुर के वकील पंडित जुगल किशोर शुक्ला द्वारा 1826 में आज के ही दिन यानी 30 मई को बड़ा बाजार के पास स्थित 37, अमर तल्ला लेन, कोलूटोला (कोलकाता) से ‘हिंदुस्तानियों के हित’ में साप्ताहिक ‘उदंत मार्तंड’ के प्रकाशन से हिंदी पत्रकारिता की जो परंपरा शुरू हुई, सच्चे मायनों में वह अन्यायी सत्ताओं के प्रतिरोध की ही रही है.

Columns

सामाजिक मूल्य और राष्ट्रवाद

मणींद्र नाथ ठाकुर

पिछले कुछ वर्षों में भारत में राष्ट्रवाद पर बहुत बहस हुई है. यहां तक कि बिना ठोस आधार के भी हम किसी ...

Columns

सरकार की कोशिशों पर करें भरोसा

डॉ सय्यद मुबीन जेहरा

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने हाल ही में नयी सरकार के रूप में पुरानी ही मोदी सरकार को चुन लिया है. ...

Columns

चुनाव नतीजे और नीतीश कुमार फैक्टर

केसी त्यागी

लोकसभा चुनावों में बिहार के नतीजों ने सबको आश्चर्यचकित किया है. कई धारणाएं, पूर्वानुमान तथा ...

Columns

संस्कृति के एक सिपाही का जाना

कुमार प्रशांत

मुझे अच्छा लगा कि गिरीश रघुनाथ कर्नाड को संसार से वैसे ही विदा किया गया, जैसे वे चाहते थे- नि:शब्द! ...

Columnists