कुमार प्रशांत

महात्मा गांधी का कश्मीर

कुमार प्रशांत

आजादी दरवाजे पर खड़ी थी, लेकिन दरवाजा अभी बंद था. जवाहरलाल नेहरू अौर सरदार पटेल रियासतों के एकीकरण की योजना बनाने में जुटे थे. रियासतें चालों अौर शर्तों के साथ भारत में विलय की बातें कर रही थीं. एक चाल साम्राज्यवादी ताकतें भी चल रही थीं.

Columns

कॉरपोरेट बांड बाजार का विकास

निशिकांत दुबे

केंद्र सरकार ने 2024 तक पांच लाख करोड़ डॉलर यानी लगभग 350 लाख करोड़ रुपये की नॉमिनल सकल घरेलू उत्पादन ...

Columns

आतंक पर लगाम लगाये पाकिस्तान

आकार पटेल

वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) द्वारा पाकिस्तान को फिर चार माह की मोहलत दी गयी है, ताकि वह धन ...

Columns

उपभोक्ताओं को समर्थ बनाया जाए

प्रभु चावला

सत्ता हमेशा बंदूक की नली से ही प्रवाहित नहीं होती. न ही यह संपदा सृजन की शक्ति से संचालित होती है. ...

Columns

घातक है आरसीइपी समझौता

डॉ अश्विनी महाजन

भारत विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीअो) का सदस्य होने के नाते दूसरे सदस्य देशों से कई प्रकार के कृषि ...

Columnists